VIDEO में दावा:लखीमपुर में किसानों को कुचलकर भागने वाले शख्स को लोगों ने अजय मिश्र का बेटा बताया; मंत्री उसकी मौजूदगी से इनकार कर चुके हैं

लखनऊ3 महीने पहले

लखीमपुर हिंसा से जुड़े VIDEO सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। पहले काले झंडे दिखा रहे किसानों को थार जीप के कुचलने का वीडियो सामने आया था। मंगलवार को दूसरा वीडियो आया, जिसमें एक शख्स जीप उतरकर भाग रहा है। कई लोग इसे गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र का बेटा आशीष 'मोनू' बता रहे हैं। वहीं, कुछ लोगों ने इसका नाम सिद्धार्थ जायसवाल बताया है। हालांकि, भास्कर इस वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।

लाल घेर में भाग रहे शख्स की अभी पहचान नहीं हो सकी है।
लाल घेर में भाग रहे शख्स की अभी पहचान नहीं हो सकी है।

अजय मिश्र ने किए थे ये दावे-

  • हिंसा वाले दिन मंत्री अजय मिश्र ने दावा किया था कि उनका बेटा वहां नहीं था। घर पर दंगल का आयोजन कर रहा था। वे खुद डिप्टी CM केशव मौर्य को रिसीव करने जा रहे थे। यदि कोई साबित कर दे तो वे अपने पद से इस्तीफा दे देंगे।
  • आशीष की गाड़ी से तीन किसानों की कुचलकर मौत हुई थी। इसके बाद आंदोलित किसानों ने आशीष की जीप को आग के हवाले कर दिया था, जबकि ड्राइवर और तीन भाजपा कार्यकर्ताओं की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी।

केंद्रीय मंत्री के बेटे समेत 14 के खिलाफ हत्या का केस दर्ज
केंद्रीय मंत्री के बेटे समेत 14 लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र समेत 14 लोगों पर हत्या और आपराधिक साजिश का केस दर्ज किया गया है। यह केस बहराइच के नानपारा के रहने वाले जगजीत सिंह की शिकायत पर तिकुनिया थाने में दर्ज हुआ है।

दूसरी तरफ मंत्री अजय मिश्र के ड्राइवर की शिकायत पर तिकुनिया थाने में ही अज्ञात किसानों पर हत्या, जानलेवा हमला और मारपीट की धाराओं में केस दर्ज किया गया है।

सरकार ने मृतकों के परिवार को 45 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया है। वहीं सभी मृतकों के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी भी दी जाएगी। साथ ही घटना की न्यायिक जांच और 8 दिन में आरोपियों को गिरफ्तार करने का वादा भी किया गया है।

खबरें और भी हैं...