लोकेश कुमार प्रजापति भी छोड़ेंगे भाजपा:राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के उपाध्यक्ष हैं, भाजपा पर लगाया आरोप- पिछड़े समाज की उपेक्षा की

लखनऊ10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लोकेश कुमार प्रजापति- फाइल - Dainik Bhaskar
लोकेश कुमार प्रजापति- फाइल

उत्तर प्रदेश के पूर्व एमएलसी व पश्चिम उत्तर प्रदेश की राजनीति में सक्रिय लोकेश कुमार प्रजापति के भी भाजपा छोड़ने की शुक्रवार सुबह से चर्चा चल रही है। बताया जा रहा है कि उन्होंने भी भाजपा पर पिछड़ा समाज की उपेक्षा का आरोप लगाया है। वह राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के उपाध्यक्ष (दर्जा प्राप्त केंद्रीय राज्य मंत्री ) हैं। हालांकि, इस बारे जब लोकेश प्रजापति से बात की गई तो उन्होंने इससे फिलहाल, इनकार किया है।

अब भाजपा पर आरोप- हो रही पिछड़ा समाज की उपेक्षा
सूत्र के मुताबिक, लोकेश प्रजापति ने फिर से पिछड़ा समाज की उपेक्षा होने की बात कही है। इससे पहले भी बसपा छोड़ते समय वह ये बात कह चुके हैं। फिलहाल, राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के उपाध्यक्ष होते हुए उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाया है कि भाजपा ने भी पिछड़ा समाज की उपेक्षा की है, और वह इसे बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं।

इसलिए छोड़ी थी बसपा
बीते साल अक्टूबर में मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में लोकेश कुमार प्रजापति ने कहा था कि आप किसी भी समाज को, किसी भी वर्ग को बहुत ज्यादा दिन तक बेवकूफ नहीं बना सकते। लोकेश प्रजापति ने बोला था कि मान्यवर डॉ. भीमराव अम्बेडकर ने कहा था कि वोट बेचना पाप है। कांशीराम जी ने भी इसका अनुकरण किया। लेकिन आज बाबा साहब व कांशीराम जी की आत्मा कहीं ना कहीं रोती होगी। यह देखकर कि जिस वर्ग व जिस समाज का वोट हम बेचने से रोकने की बात करते थे। आज उनकी नेता उनको थोक में बेचने का काम कर रही हैं। पहले फुटकर में बिकते थे। अब थोक में बिक रहे हैं।