मरीजों को मिल रही महामारी से राहत:कोरोना से मुक्त हो रहे लखनऊ के अस्पताल,अब तीसरी लहर से निपटने की तैयारियों में जुटा प्रशासन

लखनऊ4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पीजीआई समेत कई बड़े अस्पताल अब लगभग कोरोना से मुक्त हो चुके हैं। - Dainik Bhaskar
उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पीजीआई समेत कई बड़े अस्पताल अब लगभग कोरोना से मुक्त हो चुके हैं।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पीजीआई समेत कई बड़े अस्पताल अब लगभग कोरोना से मुक्त हो चुके हैं। इन अस्पतालों में कोविड-19 संक्रमित कोई भी मरीज भर्ती नहीं है। जिन अस्पतालों में अभी संक्रमित मरीज भर्ती हैं। उनमें भी यह संख्या बहुत कम हो चुकी है। हालांकि ज्यादातर बड़े अस्पतालों में पोस्ट कोविड वार्ड व आईसीयू संचालित है पर खाली हो चुके अस्पतालों को अब कोरोना के अगली लहर के लिए तैयार किया जा रहा है। खासतौर पर सरकारी अस्पतालों को बच्चों के इलाज के लिए तैयार करने के निर्देश जारी किए है।

तीसरी लहर की तैयारी

कोरोना की तीसरी लहर की तैयारी के लिए बनाई गई कमेटी के अध्यक्ष एसजीपीजीआई के निदेशक डॉक्टर आरके धीमन के अनुसार एसजीपीजीआई सहित कई अस्पताल अब कोरोना से मुक्त हो चुके हैं।उन्हें अगली लहर की तैयारी करने को कहा गया है। इसके लिए नर्सेज और स्टॉफ को बच्चों के इलाज के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है और आवश्यक दवाएं भी मंगाई जा रही हैं।

इन अस्पतालों में मरीजों को मिलेगी राहत

राजधानी के जिन अस्पतालों में बेड के लिए महीने भर पहले मारा मारी थी। वहां अब कोविड-19 के कोई भी मरीज भर्ती नहीं हैं।इनमें चरक हॉस्पिटल, लोकबंधु राजनारायण अस्पताल, सीएनएस अस्पताल, जीसीआरजी मेमोरियल अस्पताल, डॉक्टटर ओपी चौधरी हॉस्पिटल, आरएसडी समर्पण अस्पताल, सरस्वती अस्पताल, सिप्स हॉस्पिटल, मां चंद्रिका देवी हॉस्पिटल, कोवा हॉस्पिटल, अथर्व हॉस्पिटल, आरआर सिंहा मेमोरियल हॉस्पिटल, ग्रीन सिटी हॉस्पिटल, श्री साईं लाइफ हॉस्पिटल, लखनऊ हॉस्पिटल, सुषमा हॉस्पिटल, बाबा हॉस्पिटल, सन अस्पताल, मेडिकल केयर सेंटर, राकलैंड हॉस्पिटल, जेपी हॉस्पिटल, विनायक ट्रामा सेंटर, लखनऊ मेट्रो हॉस्पिटल, मेयो हॉस्पिटल, विद्या हॉस्पिटल, वत्सला हॉस्पिटल संजीवनी हॉस्पिटल, किंग मेडिकल सेंटर, एपेक्स हॉस्पिटल, प्रसाद इंस्टीट्यूट, औतार हॉस्पिटल, राधाकृष्ण हॉस्पिटल और श्री सांई हास्पिटल शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...