LU के स्टूडेंट्स पढ़ सकेंगे कैंब्रिज का स्टडी मटेरियल:60 दिन के लिए मिली फ्री सुविधा,बेस्ट रिसर्च पेपर के लिए 4 को मिला उद्दीपन अवार्ड

लखनऊ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लखनऊ विश्वविद्यालय के इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स और फैकल्टी के लिए कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी के स्टडी मटेरियल की सुविधा मुहैया कराई जा रही हैं। - Dainik Bhaskar
लखनऊ विश्वविद्यालय के इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स और फैकल्टी के लिए कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी के स्टडी मटेरियल की सुविधा मुहैया कराई जा रही हैं।

LU के इंजीनियरिंग और टेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट के स्टूडेंट्स और फैकल्टी के लिए कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के स्टडी मैटेरियल मुहैया होंगे। यह सभी कैंब्रिज यूनिवर्सिटी की ई-पाठ्य पुस्तकें पढ़ सकेंगे। यह सुविधा उन्हें शुक्रवार से 60 दिनों के लिए निशुल्क उपलब्ध कराई जा रही है। छात्र और शिक्षक इस लिंक https://www.cambridge.org/highereducation/ पर जाकर ई-पाठ्य पुस्तकों को निशुल्क पढ़ सकते हैं। इन पुस्तकों को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों से पढ़ा जा सकता हैं। पुस्तकों को ऑफलाइन माध्यम से पढ़ने के लिए दिए गए लिंक पर जाकर https://www.cambridge.org/highereducation/services/students/cambridge-spiral कैंब्रिज स्पाइरल को डाउनलोड करना होगा।

बेस्ट रिसर्च पेपर के लिए तीन प्रोफेसर, शोधार्थी को उद्दीपन अवार्ड

विश्वविद्यालय की उद्दीपन अवार्ड योजना के तहत तीन शिक्षकों व तीन शोधार्थियों का चयन हुआ है। कुलपति प्रोफेसर आलोक कुमार राय ने इस संबंध में अनुमोदन दे दिया है। कुलसचिव संजय मेधावी ने बताया कि तीन शिक्षकों में भौतिक विज्ञान के प्रोफेसर नीरज मिश्रा व डॉ. ज्योत्सना सिंह और जूलॉजी की प्रो. शैली मलिक का चयन हुआ है। वहीं, भौतिक विज्ञान की वर्निका वर्मा व सीमा शुक्ला और मैथमेटिक्स एंड एस्ट्रोनॉमी के वरुण का इस अवार्ड के लिए चयन हुआ है। उन्होंने बताया कि यह अवार्ड बेस्ट रिसर्च पेपर के लिए शिक्षकों व विद्यार्थियों को दिया जाता है।

छात्राओं ने तनाव, क्रोध प्रबंधन के सीखें गुर

LU के द्वितीय परिसर के डॉ. बीआर अंबेडकर हॉल में परामर्श एवं मार्गदर्शन प्रकोष्ठ द्वारा छात्रों के समग्र विकास पर एक दिवसीय कार्यशाला हुई। निदेशक काउंसलिंग एंड गाइडेंस सेल प्रोफेसर मधुरिमा प्रधान, डिप्टी डायरेक्टर डॉ वैशाली सक्सेना और करियर स्ट्रेटेजिस्ट एंड मेंटर सत्येंद्र कुमार सिंह ने छात्र छात्राओं का मार्गदर्शन किया। करियर स्ट्रेटजिस्ट एंड मेंटर सत्येंद्र कुमार सिंह ने अपने व्यक्तित्व की ताकत पहचानने की तकनीक समझाई। प्रोफेसर मधुरिमा प्रधान ने क्रोध व तनाव प्रबंधन, एकाग्रता की कमी, चिंता व अवसाद पर छात्र छात्राओं के सवालों के जवाब दिए।

नी स्ट्राइक प्रतियोगिता में बालिका वर्ग में निकिता जायसवाल और बालक वर्ग में भुवेनश प्रताप सिंह प्रथम रहे। विश्वविद्यालय कनेक्ट प्रोग्राम की समन्वयक प्रोफेसर पूनम टंडन व कार्यक्रम अधिकारी डॉ अल्का मिश्रा ने विजेताओं को मेडल और प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। वहीं, 10 तक स्वच्छता सर्वेक्षण के तहत नगर निगम की फूड एंड सेनेटरी इंस्पेक्टर संचिता मिश्रा ने छात्र छात्राओं को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया। उन्होंने छात्र छात्राओं को वातावरण स्वच्छ रखने और सूखा व गीला कूड़ा अलग अलग रखने की शपथ दिलाई।

भारत माहौल के मुताबिक बनाए आर्थिक नीतियां

LU अर्थशास्त्र विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. एमके अग्रवाल ने कहा कि भारत का तीव्र और समावेशी विकास करने के लिए यह आवश्यक है कि भारत अपनी सामाजिक पूंजी, समाज व आर्थिक पूंजी का समन्वित लाभ उठाए। इसके लिए यह आवश्यक है कि वह अपने परिवेश के अनुरूप आर्थिक नीतियां एवं रणनीतियां बनाए। वह भारतीय रिजर्व बैंक के उत्तर प्रदेश क्षेत्रीय कार्यालय में शुक्रवार को मौद्रिक नीति, असमानता और समावेशी विकास विषय पर आयोजित व्याख्यान में मुख्य अतिथि रहे।