पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आइए स्वागत है, मगर मास्क जरुर पहनिए:लखनऊ में 50 दिन बाद दुकानों के उठे शटर; कारोबारियों ने ग्राहकों को फूल देकर मनाया जश्न

लखनऊ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लखनऊ के भूतनाथ बाजार में आने वाले ग्राहकों को व्यापारियों ने फूल देकर उनका स्वागत किया। - Dainik Bhaskar
लखनऊ के भूतनाथ बाजार में आने वाले ग्राहकों को व्यापारियों ने फूल देकर उनका स्वागत किया।

उत्तर प्रदेश की राजधानी समेत सभी 75 जनपद आज अनलॉक हो गए। इससे व्यापारियों को बड़ी राहत मिली है। बुधवार को लखनऊ के भूतनाथ बाजार में व्यापारियों ने ढोल की धुन पर ग्राहकों का स्वागत किया। करीब 50 दिन राजधानी के बाजार खुले तो दुकान की शटर के साथ जिंदगी भी पटरी पर लौट आई है। राजधानी में अमीनाबाद, भूतनाथ, आलमबाग, महानगर, हजरतगंज, जनपद, आलमबाग समेत कई बाजारों में दुकानें खुलनी शुरू हो गंई। हालांकि पहला दिन होने की वजह से बाजार में ग्राहक दिनों की तुलना में कम रहे। ग्राहक थोड़ा इंतजार करते नजर आए।

भूतनाथ व्यापार मंडल के अध्यक्ष देवेन्द्र गुप्ता और अरविंद पाठक ने बताया कि 50 दिन बाजार बंद होने की वजह से बहुत नुकसान हुआ है। इस दौरान ढोल नगाड़े बजाकर बाजार के खुलने का जश्न मनाया गया। हालांकि कारोबारियों ने इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा। लखनऊ में एक लाख से ज्यादा छोटे बड़े कारोबारियों ने अपनी दुकानें खोली। हालांकि पहले दिन 30 फीसदी से ज्यादा कारोबार होने की उम्मीद नहीं है। कारोबारियों ने कहा कि पहले की तरह बाजार पूरी तरह पटरी पवर आने पर करीब एक महीने से ज्यादा का समय लग जाएगा।

हम तो भूल गए थ कि हम कारोबारी हैं
अमीनाबाद के जितेन्द्र सिंह चौहान ने बताया कि हम तो भूल ही गए थे कारोबारी है। स्टेशनरी से जुड़े है, जहां पिछले दो साल में अकेले लखनऊ में 300 करोड़ रुपए से ज्यादा टर्न ओवर प्रभावित हुआ है। लखनऊ में हर महीने करीब 60 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा का कारोबार होता है।

ढोज बजवाकर व्यापारियों ने मनाया जश्न।
ढोज बजवाकर व्यापारियों ने मनाया जश्न।

कुछ जगहों पर दिखी लापरवाही
बाजारों में कुछ जगहों पर लापरवाही भी दिखी। छोटे दुकानदार मास्क उतारे हुए सामान बेचते नजर आए। उनको रोकने के लिए पुलिस और प्रशासन की तरफ से कोई मौजूद नहीं था। ऐसे में यह लापरवाही काफी भारी पड़ सकती है।

मृत कारोबारियों को दी श्रद्धांजलि
शहर के ज्यादातर बाजारों में दुकान खोलने से पहले कोरोना संक्रमण से मरे कारोबारियों की याद में शोक सभा की गई। इस दौरान राजाजीपुरम में रिषभ, भूतनाथ में उत्तम कपूर और अमिताभ श्रीवास्ताव, अमीनाबाद में राकेश छाबड़ा पम्मी, नाका में पवन मनोचा समेत अलग-अलग लोगों के नेतृत्व में शोक सभा की गई।

खबरें और भी हैं...