व्यापारी हत्याकांड में मुख्तार अंसारी के करीबी से पूछताछ:लखनऊ की आलमबाग पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर जुगनू वालिया के भतीजे और करीबी को उठाया

लखनऊ7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लखनऊ के आलमबाग में हुए रेस्टोरेंट संचालक हत्याकांड में नया मोड़ आ रहा है। मंगलवार को पुलिस ने पंजाब की जेल में बंद पूर्वांचल के माफिया मुख्तार अंसारी के करीबी हिस्ट्रीशीटर के भतीजे और उसके दोस्त को उठा लिया। दोनों से घंटों पूछताछ चली।

आलमबाग में चिक-चिक रेस्टोरेंट के मालिक जसविंदर सिंह उर्फ रोमी को 25 अक्टूबर की रात गोली मारी गई थी। इलाज के दौरान रोमी की मौत हो गई थी। पुलिस ने हत्यारोपी जसप्रीत और नीशू को गिरफ्तार किया था।

हालांकि पुलिस ने बताया था कि घटना में कुछ और लोगों के शामिल होने का साक्ष्य मिल रहे हैं। आलमबाग इंस्पेक्टर का कहना है कि हिस्ट्रीशीटर जुगनू वालिया के भतीजे और उसके एक दोस्त को पूछताछ के लिए लाया गया है। जुगनू मुख्तार अंसारी का करीबी है और हत्या के प्रयास के कई मामलों में जेल जा चुका है।

रेस्टोरेंट के बाहर मारी गई थी दो गोलियां

चंदरनगर इलाके में रहने वाले जसविंदर सिंह का चिक-चिक नाम से रेस्टोरेंट है। बीते गुरुवार देर रात रोमी रेस्टोरेंट पर थे। इस बीच उनके पूर्व परिचित जसप्रीत और नीशू सहित तीन लोग कार से खाना खाने पहुंचे थे। जसविंदर ने पुलिस को बयान दिया था कि उन लोगों ने उससे शराब पीने के लिए कहा। उसने शराब पीने से मना कर दिया। इसके बाद उन लोगों के बीच कुछ मजाक हुआ। फिर नीशू ने पिस्टल निकाल कर उनको दो गोली मार दी। एक गोली रोमी के सीने और दूसरी पेट पर लगी थी। उनको इलाज के लिए ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया था। रविवार को इलाज के दौरान रोमी की मौत हो गई।

फुटेज में दिखे थे कार सवार हमलावर

डीसीपी सेंट्रल ख्याति गर्ग ने बताया कि भागते समय हमलावरों की तस्वीर सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी। फुटेज में कार और बाइक सवार कुछ संदिग्ध नजर आए थे। बाद में छानबीन में पता चला था कि रोमी पर हमला कार सवार लोगों ने किया था। आरोपियों की तलाश में तीन टीमें गठित की गई थी। रविवार को आलमबाग पुलिस ने इस मामले में नामजद आरोपी जसप्रीत और नीशू को गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस ने उनके पास से घटना में प्रयोग की गई कार भी बरामद कर ली गई थी। लेकिन आरोपितों के पास से घटना में प्रयोग किया गया असलहा रिकवर नहीं हो सका है।