यूपी में अभी चल रहा है जंगलराज:लखनऊ में मायावती बोलीं- इस बार चुनाव को धार्मिक रंग दिया जा रहा, इलेक्शन कमीशन करे सख्ती

लखनऊ9 महीने पहले

यूपी में विधानसभा चुनाव के ऐलान के दूसरे दिन रविवार को बसपा प्रमुख मायावती ने लखनऊ में प्रेस कान्फ्रेंस की। मायावती ने कहा, ' यूपी में अभी जंगलराज चला है। यहां की जनता BJP से बहुत परेशान हो चुकी है। बसपा की सरकार बनने पर ऐसा नहीं होगा। अपराधी खुलेआम घूम रहे हैं। हमारी पार्टी किसी भी अपराधी को नहीं छोड़ती है।'

मायावती ने कहा कि बसपा एक अनुशासित पार्टी है। चुनाव आयोग ने यूपी में मतदान की तारीखों का ऐलान कर दिया है। चुनाव पूरी तरह से अपराधमुक्त होना चाहिए। मायावती ने कहा कि आचार संहिता को सख्ती से लागू करने के लिए ठोस कार्रवाई हो। पिछले कुछ सालों में चुनाव के दौरान धांधली व हत्या की घटनाएं से चुनाव प्रभावित होता रहा है। इसको लेकर ठीक से काम होना चाहिए। चुनाव को लेकर कुछ दिनों से निम्न स्तर की राजनीति हो रही है। इस लेकर चुनाव आयोग को विशेष कदम उठाने की जरूरत है। कहा कि मुख्य चुनाव आयोग ने जो भी आचार संहिता लागू की है। उसका हमारी पार्टी पूरी ईमानदारी से पालन करेगी।

उम्मीदवार की सूची फाइनल करने को बुलाई बैठक

लखनऊ में मायावती ने योगी सरकार पर किया हमला।
लखनऊ में मायावती ने योगी सरकार पर किया हमला।

आचार संहिता लागू होने के बाद मायावती ने फाइनल उम्मीदवारों की सूची तैयार करने के लिए बैठक बुलाई है। इसमें प्रदेश संगठन और राष्ट्रीय संगठन के पदाधिकारियों शामिल होंगे। मायावती ने कहा कि आचार संहिता को पूरी सख्ती से लागू करने के लिए ठोस कार्रवाई हो।

10 मार्च को दावों की उड़ेगी हवा
बीएसपी सरकार में कानून का राज चलता है, जबकि दूसरी पार्टी अपराधियों को बचाती है और सिर्फ दूसरों के खिलाफ पक्षपात की कार्रवाई करती है। योगी सरकार में हर जाति हर वर्ग के लोग दुखी हैं। खासकर, अपर कास्ट के लोग।

मायावती ने कहा कि BJP ने सरकारी मशीनरी का जमकर दुरुपयोग किया। वोटिंग मशीनों में गड़बड़ी की। सपा पर तंज कसते हुए कहा कि जो लोग अन्य पार्टी के नेताओं को शामिल कर यूपी में सरकार बनाने का सपना देख रहे हैं। उनके सारे दावे 10 मार्च को हवा हवाई हो जाएंगे। ऐसा ही BJP के साथ भी होने वाला है।

यह भी पढ़ें-

अबकी बार वर्चुअल के दम पर सरकार:कैंपेन कर्फ्यू में रैली-रोड शो का होगा डिजिटल महा-मुकाबला, BJP सबसे मजबूत तो सपा भी पीछे नहीं, कांग्रेस पिछड़ी
चुनावी चाय की कहानी:पार्टी ऑफिसों के बाहर लाखों की चाय पी गए नेताजी; बिल चुकाने में चुनावी वादों सी देरी
कल, आज और कल (दैनिक भास्कर की विशेष सीरीज):सबसे युवा सांसद रहे पहले भगवाधारी मुख्यमंत्री, जानिए 20 साल बाद कहां और कैसे होंगे
कोरोना के पीक के बीच वोट डालेगा वेस्ट UP:पहले दो चरणों में होंगे पश्चिमी यूपी में चुनाव, 10 लाख मतदाताओं पर संक्रमण का खतरा

खबरें और भी हैं...