• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Mayawati's Support To The Farmers' Movement: By Tweeting, PM Should Rein In His Provocative Leaders, By Making Statements, He Is Spoiling The Atmosphere

मायावती का समर्थन किसान आंदोलन को:ट्वीट करके बोलीं- PM अपने भड़काऊ नेताओं पर लगाम लगाएं, बयान देकर माहौल कर रहे खराब

लखनऊ6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बसपा सुप्रीमो मायावती ने किसान आंदोलन के समर्थन में ट्वीट किया है। उन्होंने कई ट्वीट के जरिए किसान आंदोलन के बारे में अपनी राय रखी है। मायावती अपने ट्विटर हैंडल से लिखती हैं- कृषि कानूनों की वापसी का किसानों में विश्वास पैदा करने के लिए पीएम अपने भड़काऊ नेताओं पर रोक लगाएं। पीएम मोदी की घोषणा के बावजूद भाजपा नेता भड़काऊ बयानों से लोगों में संदेह पैदा कर रहे हैं जो माहौल खराब कर रहा है।

उन्होंने कहा कि कि सालभर से किसान कृषि कानूनों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। पीएम मोदी ने तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को स्वीकार कर लिया, लेकिन अब उनकी अन्य मांगों को भी मानकर समाधान की जरूरत है। जिससे आंदोलन कर रहे किसान अपने घर जा सकें। बता दें कि आज यानी 22 नवंबर को लखनऊ में किसानों की महापंचायत है। देशभर से हजारों किसान इसमें जुटे हैं।

लखनऊ में किसानों की महापंचायत

लखनऊ के ईको पार्क में सोमवार को किसानों ने महापंचायत का आयोजन किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से तीनों नए कृषि कानूनों को वापस लिए जाने के ऐलान के बाद यह पहली महापंचायत है। मोर्चा से जुड़े नेताओं की दलील है कि आंदोलन को खत्म करने पर संसद के शीतकालीन सत्र में बिल रद्द होने का इंतजार करेंगे। हालांकि इस दौरान MSP लागू करने, गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के इस्तीफे और गिरफ्तारी मांग कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...