यूपी में बारिश-आंधी की चेतावनी:आगरा में पेड़ गिरने से पति-पत्नी और बच्चे की मौत, लखनऊ में बारिश शुरू; 10 जिलों के लिए रेड अलर्ट, यहां तेज हवाओं के साथ भारी बारिश होगी, 12 जिलों में येलो अलर्ट

लखनऊएक वर्ष पहले

उत्तर प्रदेश में मौसम तेजी से करवट ले रहा है। मौसम विभाग ने भी 12 जिलों के लिए यलो और 10 जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। इनमें से कई जिलों में तेज हवाओं के साथ बारिश शुरू भी हो गई है। अचानक मौसम के इस बदलाव से लोगों को गर्मी से बड़ी राहत दिलाई है। वहीं, लखनऊ में बारिश भी रिमझिम बारिश भी शुरू हो गई है। आगरा में आंधी-बारिश से पीपल का पेड़ गिर गया। उसके नीचे दबकर दंपती और उनके एक बच्चे की मौत हो गई। जबकि दूसरा बेटा घायल है। राहत-बचाव का काम चल रहा है।

यूपी के कई जिलों में कहीं बारिश तो कहीं गर्मी का असर दिखाई दे रहा है। लखनऊ में जहां दोपहर बाद से ही बारिश हो रही है वहीं दूसरी ओर मेरठ में बारिश का असर नहीं दिखाई दे रही है। यहां मौसम गर्म बना हुआ है।

पूर्वांचल के वाराणसी में दिन में आधे घंटे के लिए बारिश हुई लेकिन फिलहाल बारिश बंद है। वाराणसी का तापमान 30 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। हालांकि आसमान में बादल छाए हुए हैं। वहीं मुरादाबाद में उमस भरी गर्मी है। तेज धूप निकल रही है। सुबह कुछ सयम के लिए मामूली बूंदाबांदी हुई थी। फिलहाल आसमान एकदम साफ है।

झांसी में भी तेज धूप और उमस भरी गर्मी से लोगों का हाल बेहाल है। गुरुवार को झांसी का तापमान लगभग 40 डिग्री से सेल्सियस दर्ज किया गया। बरेली में भी बारिश नहीं हो रही है यहां कभी धूप तो कभी बदली का असर दिखायी दे रहा है।

इन जिलों के लिए यलो अलर्ट
अयोध्या, अंबेडकर नगर, सुल्तानपुर, मैनपुरी, फर्रुखाबाद, एटा, कन्नौज, औरैया जौनपुर, प्रतापगढ़, आजमगढ़ और मऊ में अगले तीन से चार घंटे में 61 किलोमीटर की रफ्तार से हवा चलने की संभावना हैं। येलो अलर्ट में हल्की से मध्यम बारिश की चेतावनी होती है। मौसम विभाग के अनुसार, इस अलर्ट या चेतावनी का मतलब होता है कि हम हमारे इलाके या रूटीन को लेकर सचेत रहें और सावधानी बरतें। इस अलर्ट के मुताबिक तुरंत कोई खतरा नहीं होता, लेकिन मौसम के हाल को देखते हुए अपनी जगह और गतिविधि को लेकर सावधान रहना चाहिए।

लखनऊ में बारिश के दौरान जाम की स्थिति भी रही।
लखनऊ में बारिश के दौरान जाम की स्थिति भी रही।

इन जिलों के लिए रेड अलर्ट जारी
कानपुर नगर, कानपुर देहात, उन्नाव, फतेहपुर, हरदोई, सीतापुर, बाराबंकी रायबरेली, गोंडा और बस्ती में 87 किलोमीटर की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना है। इसके साथ ही बिजली और भारी बरसात होने की मौसम विभाग ने आशंका जताई है। रेड अलर्ट में भारी से अति भारी बारिश की चेतावनी जारी की जाती है। मौसम विभाग गंभीर स्थितियों में रेड अलर्ट जारी करता है। इस तरह का अलर्ट कम ही होता है।

लखनऊ में बारिश के बीच छतरी तानकर जाता रिक्शा चालक।
लखनऊ में बारिश के बीच छतरी तानकर जाता रिक्शा चालक।

शुष्क हवाओं के आने से बारिश पर लगी रोक
मौसम वैज्ञानिक ड़ॉ. एसएन पांडेय सुनील ने बताया कि स्थानीय स्तर पर अधिकांश दिन अभी फुहार जैसी गिरते रहने की संभावना हैं। क्योंकि, बादल हटते ही सूर्य चमकेगा, जिससे उमस होती रहेगी। उन्होंने बताया कि शुष्क हवाओं के आने से बारिश पर रोक जैसी लगी है। वहीं, उमस लोगों की परेशानी का कारण बनी रहेगी। झमाझम बारिश होने से ही एक दो दिनों के लिए उमस शांत हो सकती है। फिलहाल उमस का सिलसिला सितंबर माह तक चलेगा।

राजधानी लखनऊ में बारिश से मौसम सुहाना हो गया है।
राजधानी लखनऊ में बारिश से मौसम सुहाना हो गया है।

आगरा में पेड़ के नीचे दबकर दंपती और उनके बच्चे की मौत
आगरा में तेज बारिश और आंधी के बीच पीपल के पेड़ गिर गया। इसके नीचे दबकर तीन लोगों की मौत हो गई। मामला थाना फतेहपुर सीकरी क्षेत्र के गांव खेड़ा कोरई का है। यहां गुरुवार की दोपहर आंधी और बारिश शुरू होने पर एक विशालकाय पीपल का पेड़ जड़ से उखड़कर जमीन पर गिर गया। इस दौरान दंपती और उनके एक बच्चे की मौके पर मौत हो गई। जबकि दूसरे बच्चे की हालत नाजुक है। एसडीएम किरावली विनोद जोशी, क्षेत्राधिकारी अछनेरा महेश कुमार मौके पर पहुंचे हैं। रेस्क्यू कर तीनों मृतकों के शव बाहर निकाले गए हैं। घटना से पूरे गांव में मातम पसर गया है।

खबरें और भी हैं...