• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Mohammad Umar Gautam Turns Out To Be The Vice President Of Al Hasan Education Welfare Foundation Operating From Lucknow, ATS Will Investigate Documents

धर्मांतरण मामले में हो रहे नए खुलासे:मोहम्मद उमर गौतम लखनऊ से संचालित हो रहे अल हसन एजुकेशन वेलफेयर फाउंडेशन का वाइस प्रेसिडेंट निकला, ATS करेगी दस्तावेजों की जांच

लखनऊ4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उमर गौतम से पहले दिन की पूछताछ में लखनऊ का कनेक्शन सामने आया है। लखनऊ से संचालित हो रहे अल हसन एजुकेशन एंड वेलफेयर फाउंडेशन का मोहम्मद उमर वाइस प्रेसिडेंट है। - Dainik Bhaskar
उमर गौतम से पहले दिन की पूछताछ में लखनऊ का कनेक्शन सामने आया है। लखनऊ से संचालित हो रहे अल हसन एजुकेशन एंड वेलफेयर फाउंडेशन का मोहम्मद उमर वाइस प्रेसिडेंट है।

आतंकवाद निरोधी दस्ते (ATS) के द्वारा पकड़े गए उमर गौतम से पहले दिन की पूछताछ में लखनऊ का कनेक्शन सामने आया है। लखनऊ से संचालित हो रहे अल हसन एजुकेशन एंड वेलफेयर फाउंडेशन का मोहम्मद उमर वाइस प्रेसिडेंट है। उमर से पूछताछ के बाद ATS की एक टीम फाउंडेशन की जानकारी करने में लग गई है। बीते 2014 यह फाउंडेशन संचालित किया जा रहा है। फाउंडेशन के द्वारा चलाए जा रहे स्कूल में 500 बच्चे करीब पढ़ाई कर रहे हैं।

2014 में रजिस्टर्ड कराई गई यह संस्था
विधान सभा मार्ग स्थित उत्तर प्रदेश सोसाइटी एंड चिट फण्ड के ऑफिस में रजिस्ट्रेशन में 24 फरवरी 2014 को रजिस्टर्ड कराई गई संस्था अल हसन एजुकेशन एंड वेलफेयर फाउंडेशन का धर्मांतरण के मामले में पकड़े गए मोहम्मद कुमार गौतम से सीधा रिश्ता सामने आया है। मोहम्मद उमर गौतम इस संस्था का उपाध्यक्ष है। रजिस्ट्रेशन नंबर 2531-2013-2014 पर रजिस्टर्ड इस संस्था को 7 सदस्य कमेटी चलाती है।

सात सदस्यों की कमेटी देखती है फाउंडेशन का काम

इस 7 सदस्य कमेटी में इकबाल अहमद नदवी अध्यक्ष, मोहम्मद उमर गौतम उपाध्यक्ष, नजीबुल हसन सचिव, अब्दुल हाई मुहीब-ए-आलम, आमना रिजवान और मुशीर अहमद सदस्य हैं। संस्था की अपनी रजिस्टर्ड unique id VO / NGO UP/ 2018/ 0187502 भी है। इसके अलावा पाकिस्तान व खाड़ी देशों से इस्लामिक दावा सेंटर को मिलने वाली धन राशि पर यूपी एटीएस अब इनकम टैक्स और एनफोर्समेंट डायरेक्टरेट, की भी मदद लेगी और जल्द दोनों ही संस्थाओं को इस संबंध में अधिकारिक तौर पर पत्र भेजा जाएगा।

हरदोई और मलिहाबाद स्थित गांव में 9000 स्क्वायर फीट जमीन खरीदी गई
मोहम्मद उमर के द्वारा फाउंडेशन के जरिए हरदोई के रसूलपुर इलाके के अंत गांव में गरीब लड़कियों का स्कूल चला रही है वहीं दूसरी तरफ संस्था ने 3 साल पहले मलिहाबाद के रहमान खेड़ा हबीबपुर गांव में 9000 स्क्वायर मीटर जमीन खरीदी जिसमें गरीब 500 बच्चों को सीबीएसई बोर्ड से दसवीं तक की शिक्षा के लिए हॉस्टल सुविधा के साथ खोला गया। अल हसन एजुकेशन एंड वेलफेयर फाउंडेशन का मोहम्मद उमर गौतम से कनेक्शन सामने आने के बाद यूपी एटीएस भी सक्रिय हो गई है।

जांच में दो जो भी दोषी मिलेगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी
जांच कर रही है सीएस की टीम के चीफ से जब इस बारे में पूछा गया तो उनका कहना था कि जांच में जो भी आरोपी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई जरूर होगी। लेकिन उन्होंने कहा कि, किसी भी संस्था विशेष के बारे में टिप्पणी करना ठीक नहीं, लेकिन वह सभी संस्था व्यक्ति जांच के दायरे में है। अगर कहीं भी गैरकानूनी क्रियाकलाप या मनी ट्रांजैक्शन का सुबूत मिलेगा तो किसी को बख्शा नहीं जाएगा, सभी जांच के दायरे में हैं।

खबरें और भी हैं...