लखनऊ में कार चालक की पिटाई में युवती पर FIR:दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष ने ट्वीट कर उठाए थे सवाल, CCTV से सामने आई रंगबाज युवती की असलियत; पुलिस ने दिया था गलत बयान

लखनऊएक वर्ष पहले

लखनऊ में आलमबाग अवध चौराहे पर सरेराह ओला कार चालक को युवती द्वारा पीटने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। सोमवार को मामले का CCTV व एक अन्य वीडियो सामने आया। जिसमें कार चालक सआदत अली बेगुनाह दिख रहा है। सारी गलती युवती की दिख रही है। वहीं, पुलिस भी अपने बयानों से पलट गई।

आननफानन कृष्णानगर थाने की पुलिस ने आरोपी रंगबाज युवती पर FIR दर्ज कर ली है। बता दें, 30 जुलाई के इस मामले में पहले पुलिस ने ओला कार चालक को गलत ठहरा कर युवती को छोड़ दिया था। चालक समेत 3 के खिलाफ शांति भंग करने की कार्रवाई भी की थी।

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष ने ट्वीट कर की थी युवती पर कार्रवाई की मांग
स्वाति मालीवाल ने ट्वीट कर लिखा- 'वीडियो से ऐसा लग रहा है कि ये लड़की इस गरीब टैक्सी चालक को इतनी बुरी तरह से पीट रही है, क्योंकि उसने गाड़ी नहीं रोकी! ये बेहद शर्मनाक है। किसने अधिकार दिया इस लड़की को मारपीट करने का? इस मामले में @Uppolice जांच करे और कानून को हाथ में लेने के अपराध में लड़की पर कड़ी कार्रवाई हो।'

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने किया ट्वीट, हरकत में आई पुलिस।
दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने किया ट्वीट, हरकत में आई पुलिस।

बीच सड़क घंटों चला हाईवोल्टेज ड्रामा, तमाशबीन बनी पब्लिक
मामला कृष्णानगर थानाक्षेत्र का है। 30 जुलाई को आलमबाग अवध चौराहे पर करीब रात 9 बजे OLA कार चालक सआदत अली जा रहा था। तभी उसकी कार के आगे एक युवती आ गई। इसी बीच कार चालक और युवती में बहस होने लगी। तैश में आई युवती चालक का कालर पकड़कर बीच सड़क कार से बाहर खींच लाई। इसके बाद युवती ने चालक को 15 मिनट तक जमकर थप्पड़ जड़े। उसका मोबाइल तक पटक कर तोड़ दिया। झगड़ा होते देख राहगीर इनायत अली और दाउद अली बीच-बचाव करने पहुंचे। इतने में युवती ने उनसे भी अभद्रता की।

15 मिनट तक बीच सड़क बेकसूर चालक को मारती रही युवती।
15 मिनट तक बीच सड़क बेकसूर चालक को मारती रही युवती।

ओला चालक समेत 3 के खिलाफ शांतिभंग करने की थी कार्रवाई उधर, ड्यूटी पर तैनात ट्रैफिक सिपाही मौके पर पहुंचा। कृष्णानगर इंस्पेक्टर महेश दुबे को फोन कर वारदात की जानकारी दी। इतने में राहगीर इनायत अली और दाउद अली भाग निकले। वहीं, ओला चालक शहादत अली को कृष्णानगर पुलिस ने पकड़ लिया। देर रात इनायत और दाउद को भी पुलिस थाने ले आई। इंस्पेक्टर के मुताबिक, युवती ने तहरीर देने से मना कर दिया था। जिसके चलते ओला कार चालक सआदत, राहगीर इनायत और दाउद के खिलाफ शांतिभंग करने की धारा में कार्रवाई की गई है।

युवती की गिरफ्तारी के लिए ट्वीट में ट्रोल हुआ - #ArrestLucknowGirl
युवती की गिरफ्तारी के लिए ट्वीट में ट्रोल हुआ - #ArrestLucknowGirl

बेगुनाह निकला टैक्सी चालक, सामने आया पुलिस का खेल
मामले में पुलिस की कार्य शैली पर सवाल उठ रहे हैं। पहले पुलिस की तरफ से बताया गया था कि एटा के एसडीएम अबुल कलाम की एक्सयूवी से जा रहे युवकों ने युवती को टक्कर मारी थी। इससे नाराज युवती ने आरोपी ड्राइवर को गाड़ी से खींचकर पीटा था। बचाव करने में ड्राइवर के साथी को भी युवती ने पीट दिया। वहीं, सोमवार को जब CCTV व एक अन्य वीडियो सामने आया तो पुलिस अपने बयान से ही पलट गई। बताया गया कि चालक सआदत अली एक्सयूवी से नहीं वैगनआर कार से था। वीडियो से साफ हो गया कि कार चालक बेगुनाह है। पूरी गलती युवती की थी। एडीसीपी ईस्ट चिरंजीवी सिन्हा के मुताबिक, वीडियो में युवती की गलती साफ दिख रही है। पीड़ित युवक की तहरीर पर युवती के खिलाफ IPC की धारा 394, 427 के तहत FIR दर्ज की गई है।

CCTV सामने आते ही पुलिस का बदला बयान।
CCTV सामने आते ही पुलिस का बदला बयान।
खबरें और भी हैं...