• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Nirahua's Allegation On Akhilesh Yadav, Said Krishna Must Have Cried Tears Of Blood When He Took The Lives Of Ram Devotees For The Politics Of Appeasement

निरहुआ बोले- अखिलेश को भगवा से नफरत:कृष्ण भी खून के आंसू रोए होंगे, जब तुष्टिकरण की राजनीति के लिए रामभक्तों की जान ले ली

लखनऊएक वर्ष पहले

भोजपुरी फिल्म स्टार और भाजपा नेता दिनेश लाल यादव 'निरहुआ' ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर तीखा हमला बोला है। निरहुआ ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर वीडियो पोस्ट कर कहा कि अखिलेश को भगवा रंग से नफरत है। आगे उन्होंने कहा कि कृष्ण भगवान भी उस दिन खून के आंसू रोंए होंगे जिस दिन तुष्टिकरण की राजनीति करने के लिए आप लोगों ने रामभक्तों की जान ले ली।

दरअसल, एक दिन पहले अखिलेश यादव ने गाजीपुर से अपना विजय रथ निकाला था। इसके बाद सुल्तानपुर में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर उसी जगह सभा की जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते मंगलवार को जनसभा की थी। तब अखिलेश ने कहा था कि उनके साथ लाल, पीला, हरा और नीला रंग है। हर तरफ इंद्रधनुष दिख रहा है। एकरंगी सोच वाले (भाजपा) लोग समाज का कल्याण नहीं कर सकते।

निरहुआ बोले- यादवों का स्वाभिमान ले लिया

निरहुआ ने अपने अंदाज में कहा है कि मान ले लिया, सम्मान ले लिया और आप लोगों ने तो यादवों का स्वाभिमान ले लिया। आप ऐसे ही अपनी विचारधारा समय-समय पर बताते रहिए। ताकि जो लोग अभी भी आपको लेकर भ्रम में हैं। सबको पता चलना चाहिए कि आप जिन्ना की विचारधारा वाले हैं। अगर आपको मौका मिलेगा तो इस देश और प्रदेश का क्या करेंगे? यह सबको पता होना चाहिए।

भगवा और संतों का अपमान करने का कारण ही सपा की यह दुर्दशा
इससे पहले भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस ने हमेशा भगवा रंग के साथ साधु संतों और ऋषि मुनियों का अपमान किया है। उन्होंने कहा कि इसी कारण सपा सहित अन्य विपक्षी दलों की यह दुर्दशा हुई है।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव की ओर से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर दिए गए बयान पर पलटवार करते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि सपा और कांग्रेस ने तो हमेशा हिन्दू धर्म का अपमान किया है और भगवान राम के अस्तित्व को भी नकारा है। राजनीतिक क्षेत्र में संस्कार का होना आवश्यक है।