यात्रियों को बिना जांच कराए यूपी में नहीं मिलेगी एंट्री:एयरपोर्ट, बस और रेलवे स्टेशन पर RT-PCR जांच करानी होगी, CM योगी ने दिया आदेश

लखनऊ10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बाहर से आने वाले यात्रियों को बिना जांच कराए यूपी में एंट्री नहीं मिलेगी। हर व्यक्ति को बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट पर आरटीपीसीआर जांच कराना जरूरी होगा। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही उन्हें आगे जाने दिया जाएगा। सीएम योगी ने बुधवार को टीम-9 के अधिकारियों के साथ बैठक की। इसमें अधिकारियों को बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट पर अतिरिक्‍त सर्तकता बरतने के निर्देश दिए।

उन्होंने अफसरों से कहा कि दूसरे देशों और प्रदेशों से उत्तर प्रदेश आ रहे हर व्यक्ति की आरटीपीसीआर जांच की जाए। बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट पर बिना जांच किए किसी यात्री को बाहर न आने दिया जाए। हालांकि ये आदेश कब से प्रभावी होगा। इसका लिखित आदेश अभी जारी नहीं हुआ है।

सीएम ने केंद्र सरकार की तरफ से जारी गाइडलाइंस को प्रभावी रूप से लागू किए जाने के आदेश दिए। साथ ही मास्‍क को अनिवार्य करने और कोविड प्रोटोकाल का कड़ाई से पालन कराने को भी कहा है।

जीनोम सीक्वेंसिंग की बढ़ाए रफ्तार
सीएम ने कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर लखनऊ के केजीएमयू, पीजीआई में जीनोम सीक्वेंसिंग की रफ्तार को बढ़ाने का निर्देश दिया है। इसके आलावा सीएम ने गोरखपुर, झांसी, मेरठ में तेज़ी से जीनोम सीक्वेंसिंग की व्यवस्था करने को कहा है।

सर्वाधिक टीके की डबल डोज देने वाला यूपी पहला राज्‍य
कोविड टीके की दोनों खुराक पाने वालों की संख्या सबसे अधिक उत्तर प्रदेश में है। यूपी में 5 करोड़ 6 लाख अधिक लोगों को टीके की दोनों डोज देकर कोविड का सुरक्षा कवर प्रदान कर दिया गया है। 11 करोड़ 25 लाख लोगों ने टीके की पहली डोज प्राप्त कर ली है। यह संख्या टीकाकरण के लिए पात्र प्रदेश की कुल आबादी की लगभग 76.20 फीसदी से अधिक है। इस प्रकार प्रदेश में अब तक 16 करोड़ 31 लाख से अधिक कोविड वैक्सीन डोज लगाए जा चुके हैं। कोविड टेस्टिंग और टीकाकरण में उत्तर प्रदेश देश में शीर्ष स्थान पर है।

प्रदेश में बीते 24 घंटों में 1 लाख 53 हजार 569 टेस्‍ट किए गए। इसमें 7 नए संक्रमण के मामलों की पुष्टि हुई। अब तक यूपी में 8 करोड़ से अधिक टेस्‍ट किए जा चुके हैं। प्रदेश में कुल एक्टिव कोविड केस की संख्या 100 से कम होकर 92 पहुंच गई है। इसके साथ ही प्रदेश का रिकवरी रेट अब 98.7 प्रतिशत पहुंच गया है।

खबरें और भी हैं...