अब भाजपा तेज करेगी चुनावी अभियान:सदस्यता अभियान के जरिए हर घर तक दस्तक दे रही BJP, सरकार विकास योजनाओं के जरिए पूरा कर रही घोषणा-पत्र

लखनऊ23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पार्टी, 'सदस्यता अभियान' के बहाने प्रदेश में बूथ से लेकर घर तक समर्थन जुटाने की तैयारी में है। - Dainik Bhaskar
पार्टी, 'सदस्यता अभियान' के बहाने प्रदेश में बूथ से लेकर घर तक समर्थन जुटाने की तैयारी में है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के यूपी दौरों के बाद अब केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भी यूपी के चुनाव मैदान में उतर गए हैं। भारतीय जनता पार्टी त्योहार बीतने के बाद अब चुनावी अभियान को और तेज करेगी। अमित शाह के प्रदेश में कई कार्यक्रमों की योजना तैयार हो चुकी है।

पार्टी, 'सदस्यता अभियान' के बहाने प्रदेश में बूथ से लेकर घर तक समर्थन जुटाने की तैयारी में है। सरकार व संगठन मिलकर तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। योगी सरकार अब अपना घोषणापत्र पूरा करने में जुटी है, इसका ऐलान केंद्रीय गृह मंत्री ने लखनऊ से किया था।

पूर्वांचल एक्सप्रेस समेत कई योजनाओं का होगा उद्घाटन
पार्टी के सूत्रों का कहना है कि यूपी में साढ़े 4 साल से ज्यादा से भाजपा की सरकार है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई में राज्य सरकार ने प्रदेश में विकास के नए मॉडल को तैयार करने की कोशिश की है। अब कार्यकर्ताओं के जरिए पार्टी सरकार की उपलब्धियों को आम जनता के बीच ले जा रही है।

इस महीने के अंत तक पार्टी 'सदस्यता अभियान' के साथ ही विकास की योजनाओं को और तेजी से बढ़ाएगी। इसके तहत पूर्वांचल एक्सप्रेस के उद्घाटन के साथ ही बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे को भी गति मिल सकती है। वहीं, गंगा एक्सप्रेस-वे के शिलान्यास को भी सरकार इसी महीने के अंत या फिर अगले महीने में मुहर लगा सकती है। पार्टी के एक नेता ने बताया कि कोरोना काल में जिस तरह से योगी सरकार ने आगे बढ़कर लोगों की मदद दी है, उसको जनता के बीच सराहा गया है।

2017 की रणनीति पर जोर
अब विपक्षी दलों के दुष्प्रचार से लोगों को अवगत कराने के लिए भी काम किया जाएगा। वैसे भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सांसदों व विधायकों से जनता के बीच रहने की अपील की है। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष के साथ मिलकर 2017 में जिन विधानसभा क्षेत्रों में भाजपा जीत से दूर रह गई थी, उनपर भी इस बार फतह करने के लिए बनी पार्टी की रणनीति पर तेजी से काम शुरू हो रहा है। पिछले दिनों गाजीपुर जिले के विधायक को इसी योजना के तहत पार्टी में शामिल कराया गया है। सूत्रों का कहना है कि आगे दिनों में कुछ और बड़े नेता भाजपा से जुड़ सकते हैं।