श्रीकृष्ण न्यास प्रमुख के रिहाई की मांग:भड़काऊ पोस्ट मामले में मथुरा से गिरफ़्तार राजेश त्रिपाठी की रिहाई को लेकर लखनऊ में हिंदू महासभा के लोगों ने किया प्रदर्शन

8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मथुरा में सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट लिखने के मामले में 29 नवम्बर को गिरफ़्तार श्रीकृष्ण जन्मभूमि न्यास (मुक्ति दल) के राष्ट्रीय प्रमुख राजेश त्रिपाठी की रिहाई की माँग को लेकर लखनऊ में गुरुवार को विरोध प्रदर्शन हुआ। प्रदर्शनकारियों ने राजेश त्रिपाठी समेत अन्य हिंदू नेताओं की तत्काल रिहाई की माँग की। पुलिस ने बल प्रयोग करके प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा।

मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि पर एक कार्यक्रम आयोजित करने के संबंध में राजेश ने सोशल मीडिया पर कुछ पोस्ट किया था। उनके पोस्ट को भड़काऊ और समाज में वैमन्यस्ता फैलाने वाला करार दिया गया। इसके बाद मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने उनकी गिरफ्तारी कर ली। आरोप है कि राजेश त्रिपाठी ने सोशल मीडिया पर भड़काऊ और दो समाजों में विघटन डालने वाली पोस्ट डाली थी। उनके समर्थकों ने मथुरा में भी गिरफ्तारी का विरोध किया था। उनकी रिहाई की मांग को लेकर हाथ में पोस्टर बैनर और भगवा झंडे में समर्थकों ने लखनऊ में विरोध प्रदर्शन किया। उनका कहना था कि राजेश मणि त्रिपाठी समेत अन्य हिंदू नेताओं को रिहा किया जाना चाहिए।

कारसेवकों पर पुष्प वर्षा का दावा करने वाले सीएम पहुँचा रहे जेल

यह प्रदर्शन व धरना श्रीकृष्ण जन्मभूमि न्यास मुक्ति दल एवं भारतीय जन जन पार्टी के राष्ट्रीय सचिव मोहित मिश्रा के नेतृत्व में हुआ। इस दल के राष्ट्रीय सह प्रमुख गौरव शर्मा ने कहा कि जिस तरह से मथुरा मुक्ति आंदोलन के संबंध में हिंदुओं की गिरफ्तारी हो रही है, वह सरासर धर्म और आस्था पर ठेस पहुंचाना है। राजेश मणि त्रिपाठी के साथ नारायणी सेना हिंदू महासभा के पदाधिकारियों को भी गिरफ्तार किया गया है। भारतीय जन जन पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक मनीष महाजन ने कहा कि जिस तरह से सीएम योगी ने विगत दिनों वरदान दिया था कि अब कारसेवकों पर हम फूल की वर्षा करेंगे तो क्या हिंदू नेताओं को गिरफ्तार कर जेल भेजना पुष्प वर्षा है।

खबरें और भी हैं...