देशद्रोह के आरोप में नदवा का पूर्व शिक्षक गिरफ्तार:PFI का फंड रेजर अहमद बेग नदवी बहराइच से लड़ चुका है विधानसभा का चुनाव

लखनऊ4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) के खिलाफ NIA और ED की रेड के बाद से ही एक्शन जारी है। ED की छापेमारी के बाद PFI मेंबर मोहम्मद अहमद बेग को लखनऊ से यूपी STF ने गिरफ्तार किया है। अहमद बेग नदवी को लखनऊ के मदेगंज इलाके से गिरफ्तार किया है।

देशद्रोह का आरोपी अहमद बेग नदवी सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया का सदस्य रहा है। जांच एजेंसियों का आरोप है कि PFI के विदेश में रहने वाले कुछ सदस्यों ने भारत में कट्टरपंथी इस्लामी संगठन को आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई है। इनका मकसद विदेशी फंडिंग से संबंधित कानून से बचना था।

लखनऊ में नदवा कॉलेज का पूर्व शिक्षक है अहमद बेग
अहमद बेग नदवी 2018 तक लखनऊ के नदवा कॉलेज में भी पढ़ाता था। यूपी STF को नदवी के मोबाइल और लैपटॉप से कई आपत्तिजनक वीडियो मिले हैं। जानकारी के अनुसार वह ओमान समेत कई खाड़ी देशों में जाकर PFI के लिए फंड इकट्ठा करने का काम कर रहा था। आरोप है कि ये PFI के लिए मोटिवेशनल स्पीकर के तौर पर यूट्यूब पर लोगों को बरगला रहा था।

2047 तक भारत को मुस्लिम राष्ट्र बनाने की मुहिम चला रहा था
श्रावस्ती का रहने वाला अहमद बेग नदवी 2047 तक भारत को मुस्लिम राष्ट्र बनाने की मुहिम चला रहा था। ये ओमान समेत कई खाड़ी देशों में जाकर PFI के लिए फंड इकट्ठा करने का काम कर रहा था। अहमद बेग लखनऊ के खदरा इलाके में कई सालों से किराए के मकान में रहता था। SDPI की कोर कमेटी का सदस्य अहमद बेग लखनऊ यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन है। इसने अरबी भाषा में मास्टर की डिग्री हासिल की है। इसके बाद नदवा से आलिम और फालिज की पढ़ाई की है।

2022 में लड़ा था विधानसभा का चुनाव
अहमद बेग हाल ही में हुए 2022 के विधानसभा चुनाव में बहराइच के कैसरगंज सीट से SDPI (सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया) के टिकट से चुनाव भी लड़ चुका है। उसके साथ युवाओं की लंबी फौज थी, लेकिन चुनाव हार गया था। यूपी STF का दावा है कि अहमद बेग ने CAA और NRC प्रदर्शन में बड़ी भूमिका थी। यह लोगों को इस प्रदर्शन से जुड़ने की अपील करता था। साथ ही प्रदर्शन के दौरा लोगों को भड़काता भी था। अहमद बेग पर लव जिहाद को बढ़ावा देने का भी आरोप है।

6 अक्टूबर तक के लिए JC पर भेजा गया बेग
​​​​​​ एडीजे अनुरोध मिश्र ने बताया कि गिरफ्तार PFI सदस्य मो. अहमद बेग, मो. नदीम अंसारी उर्फ मुन्ना और मोहम्मद कमरुद्दीन उर्फ बबलू को 6 अक्टूबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। शुक्रवार को नदीम व कमरुद्दीन को बाराबंकी के थाना कुर्सी इलाके से गिरफ्तार किया था।