इस दिवाली भगवान राम भी खुश होंगे:लखनऊ में PM मोदी बोले- जिन 9 लाख परिवारों को घर मिले वे इस बार अयोध्या से ज्यादा दिये जलाएं

लखनऊ2 महीने पहले

आज उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में देश की आजादी के 75वें वर्ष का 'अमृत महोत्सव' मनाया जा रहा है। इस कार्यक्रम में शामिल होने आए प्रधानमंत्री मोदी ने एक होम-वर्क दिया। कहा, अयोध्या में इस बार दिवाली पर साढ़े सात लाख दिये जलाए जाएंगे। जिन 9 लाख परिवारों को अपने घर मिले हैं, वे अपने-अपने घर के बाहर सिर्फ दो दिये जलाएं। मेरे गरीब भाई अपने घर को 18 लाख दिये से रोशन करेंगे तो भगवान राम को भी खुशी होगी।

मोदी ने कहा, कुछ महानुभाव हमारे विरोध में ही ऊर्जा खपाते हैं। वे सुन लें कि हमने तीन करोड़ परिवारों को लखपति बना दिया है। यह वे परिवार हैं जिनके घर बन चुके हैं। मुझे इस बात की भी खुशी होती है कि देश में PM आवास योजना के तहत जो घर दिए जा रहे हैं, उनमें 80 प्रतिशत से ज्यादा घरों पर मालिकाना हक महिलाओं का है या फिर वो जॉइंट ओनर हैं।

PM मोदी ने आगरा, ललितपुर और कानपुर की तीन लाभार्थियों से संवाद किया।
PM मोदी ने आगरा, ललितपुर और कानपुर की तीन लाभार्थियों से संवाद किया।

PM मोदी की बड़ी बातें

  • 2014 से पहले जो सरकार थी, उसने देश में शहरी आवास योजनाओं के तहत सिर्फ 13 लाख मकान मंजूर किए थे। इसमें भी 8 लाख मकान बनाए गए थे। 2014 के बाद से हमारी सरकार ने PM आवास योजना के तहत शहरों में एक करोड़ 13 लाख मकानों को बनाने की मंजूरी दी। कहां 13 लाख और एक करोड़ लाख?
  • इसमें से 50 लाख से ज्यादा घरों को बनवाकर सौंपा जा चुका है। ईंट-पत्थर से जोड़कर घर बना सकते हैं, लेकिन उसे घर नहीं कह सकते। जब सपने जुड़ जाएं तो इमारत घर बन जाती है।
  • अब दिल्ली में एसी में बैठना वाला यह तय नहीं करता कि खिड़की किधर लगेगी। इतनी छोटी जगह पर निर्माण होता था कि उसमें रहना मुश्किल था। 2014 के बाद घरों की साइज को लेकर स्पष्ट नीति बनाई। शहरी योजना के तहत 1 लाख करोड़ रुपए गरीबों के बैंक खाते में ट्रांसफर किए हैं।
  • आज पहली बार मैं ऐसी बात बताना चाहता हूं, जिसके बाद बड़े-बड़े विरोधी, जो दिन रात हमारा विरोध करने में ही अपनी ऊर्जा खपाते हैं, वो मेरा ये भाषण सुनने के बाद टूट पड़ेंगे। जिनके पास पक्की छत नहीं थी, ऐसे तीन करोड़ परिवारों को इस कार्यकाल में एक ही योजना से लखपति बनने का अवसर मिल गया है। इस देश में 25-30 करोड़ परिवार हैं, उसमें से तीन करोड़ परिवार लखपति बने, यह बहुत बड़ी बात है।
  • 2017 से पहले जो सरकार थी वह गरीबों के लिए घर बनवाना चाहती थी। इसके लिए हमें पहले की सरकार से मिन्नतें करनी पड़ती थीं। 18 लाख घरों की स्वीकृति दी गई थी, लेकिन उस समय की सरकार ने 18 घर भी बनाकर नहीं दिए। अब 9 लाख बनाकर दिए गए हैं। 14 लाख घर निर्माण के अलग अलग चरणों में हैं।
  • शहरी मिडिल क्लास की परेशानियों और चुनौतियों को भी दूर करने का हमारी सरकार ने बहुत गंभीर प्रयास किया है। रियल इस्टेट रेगुलेटरी अथॉरिटी यानी रेरा कानून ऐसा एक बड़ा कदम रहा है।
  • उजाला योजना के चलते करीब 37 करोड़ LED बल्ब दिए गए है। LED स्ट्रीट लाइट लगने से शहरी निकायों के भी हर साल करीब 1 हजार करोड़ रुपए बच रहे हैं। अब ये राशि विकास के दूसरे कार्यों में उपयोग में लाई जा रही है।
  • भारत में पिछले 6-7 वर्षों में शहरी क्षेत्र में बहुत बड़ा परिवर्तन टेक्नोलॉजी से आया है। देश के 70 से ज्यादा शहरों में आज जो इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर चल रहे हैं, उसका आधार टेक्नोलॉजी ही है।
  • PM स्वनिधि योजना के तहत 25 लाख से ज्यादा स्ट्रीट वेंडर्स को 2500 करोड़ रुपए से अधिक की मदद दी गई है। इसमें भी UP के 7 लाख से ज्यादा साथियों ने लाभ लिया है।
  • 2017 से पहले UP में बिजली सियासत का टूल थी। केवल वहां आती थी, जहां नेता चाहते थे। 2017 से UP की सड़कें सिफारिश से बनती थीं, लेकिन अब UP में सड़क किसी सिफारिश की मोहताज नहीं है।
  • मेट्रो का विस्तार हो रहा है। 2014 में जहां 250 किलोमीटर से कम रूट पर मेट्रो चलती थी, वहीं आज लगभग 750 किलोमीटर में मेट्रो दौड़ रही है। देश में आज एक हजार किमी से अधिक मेट्रो ट्रैक पर काम चल रहा है।

मलिहाबादी आम और अवध के इतिहास का किया जिक्र

अवध के इतिहास की बात की तो मलिहाबादी दशहरी आम, मीठी बोली, खान-पान और आर्ट का भी जिक्र किया। कहा, लखनऊ आता हूं तो यह सबकुछ सामने दिखने लगता है। अच्छा लगा कि तीन दिन लखनऊ में न्यू अर्बन इंडिया यानी शहरों के नए स्वरूप पर देशभर के एक्सपर्ट मंथन करने वाले हैं। यहां जो प्रदर्शनी लगी है वो आजादी के अमृत महोत्सव में 75 साल की उपलब्धियां और देश के संकल्पों को भलिभांति प्रदर्शित करती है।

कहा, लखनऊ ने अटल जी के रूप में एक विजनरी, मां भारती के लिए समर्पित राष्ट्र नायक देश को दिया है। आज उनकी स्मृति में, बाबा साहब भीमराव आंबेडकर यूनिवर्सिटी में अटल बिहारी वाजपेयी चेयर स्थापित की जा रही है।

योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करते PM मोदी।
योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण करते PM मोदी।

PM मोदी ने 75 हजार लोगों को 'अपने आवास' की चाबी दी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज न्यू अर्बन इंडिया कॉन्क्लेव का शुभारंभ किया। इसके बाद 75 हजार लाभार्थियों को वर्चुअली 'अपने आवास' की चाबी सौंपी। उन्होंने बाबा भीम राम आंबेडकर यूनिवर्सिटी में पूर्व PM अटल बिहारी वाजपेयी चेयर की स्थापना की। साथ ही 10 स्मार्ट शहरों के 75 बेहतरीन कामों की टेबल बुक जारी की। सात शहरों के लिए 75 इलेक्ट्रिक बसों को हरी झंडी दिखाई। PM मोदी ने कुल 4737 करोड़ की 75 परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया।

कार्यक्रम में उपस्थित लोग।
कार्यक्रम में उपस्थित लोग।

अपडेट्स..

  • PM ने आवास योजना की तीन लाभार्थियों से संवाद किया। आगरा की विमलेश से पूछा, अब तो पक्के घर में दिवाली मिलेगी। विमलेश ने हां में जवाब दिया। इसके बाद कानपुर की राम जानकी पाल और ललितपुर की बबिता से भी बात की।
  • इससे पहले CM योगी ने कहा, आजादी के बाद आवास का सपना था। यह सपना 2014 के बाद साकार होता दिख रहा है। UP में 42 लाख परिवारों को आवास मिला है। शहरीकरण UP के लिए बहुत जरूरी है और शहरी विकास तेजी से बढ़ रहा है।
  • केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा, योगी के मुख्यमंत्री बनने से पहले जून 2015 के बाद 20 महीनों के अंदर UP में केवल 20 हजार आवास बन पाए थे। योगी के मुख्यमंत्री बनने के बाद 20 महीनों के भीतर यह आंकड़ा 20 लाख में बदल में बदल गया है।
  • रक्षा मंत्री और लखनऊ सांसद राजनाथ सिंह ने कहा, अर्बन फ्यूचर का रोड मैप यह कॉन्क्लेव है। PM ने न्यू इंडिया का सपना देखा है। वे दिन रात इस सपने को साकार करने में जुटे हुए हैं। प्रधानमंत्री जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब उन्होंने अर्बन प्लानिंग पर फोकस किया था। भूकंप से तबाह, प्लेग से पीड़ित सूरत शहर की सूरत बदलने में उनकी भूमिका बहुत महत्वपूर्ण रही, जो आज भी सराहनीय है।
हाउसिंग सोसायटी का मॉडल देखते PM मोदी।
हाउसिंग सोसायटी का मॉडल देखते PM मोदी।

PM मोदी ने प्रदर्शनी का जायजा लिया

सबसे पहले PM ने इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित 110 तरह की आवासीय और व्यवसायिक निर्माण से जुड़ी प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस प्रदर्शनी में अयोध्या के विकास, राम मंदिर का मॉडल और प्रधानमंत्री ग्रामीण व शहरी आवास योजना, स्मार्ट सिटी से जुड़ी नई बिल्डिंग तकनीक को शामिल किया गया है।

प्रधानमंत्री मोदी का योगी मंत्रिमंडल में शामिल नए मंत्रियों ने स्वागत किया।
प्रधानमंत्री मोदी का योगी मंत्रिमंडल में शामिल नए मंत्रियों ने स्वागत किया।

समारोह में दिखी "नए भारत के नए उत्तर प्रदेश" की झलक
इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में तीन दिन तक चलने वाले कार्यक्रम में 'नए भारत का नया उत्तर प्रदेश-बदला नगरीय परिवेश' राज्य पवेलियन की थीम तय की गई है। इसके अंतर्गत विभिन्न मिशनों का प्रस्तुतीकरण किया गया। अगले तीन दिन तक देशभर के एक्सपर्ट शहरीकरण पर मंथन करेंगे।

खबरें और भी हैं...