पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लखनऊ वासियों को मिला तोहफा:PM नरेंद्र मोदी ने किया लाइट हाउस योजना का शिलान्यास; कहा- नए वर्ष में नई ऊर्जा व नए संकल्पों के साथ आगे बढ़ें

लखनऊ5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीएम ने कहा कि आज नई ऊर्जा के साथ और नए संकल्‍पों को सिद्ध करने के लिए तेज गति से आगे बढ़ने का आज शुभारंभ है। आवास से जड़ी योजनाएं सरकार की प्राथमिकता में शामिल हैं। - Dainik Bhaskar
पीएम ने कहा कि आज नई ऊर्जा के साथ और नए संकल्‍पों को सिद्ध करने के लिए तेज गति से आगे बढ़ने का आज शुभारंभ है। आवास से जड़ी योजनाएं सरकार की प्राथमिकता में शामिल हैं।
  • प्रधानमंत्री आवास योजना व शहरी मिशन का उद्देश्य 2022 तक सभी को आवास देने का है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को लाईट हाउस प्रोजेक्ट (LHP) का शिलान्यास किया। आयोजन में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत अन्य मंत्री अवध विहार के कार्यक्रम स्थल पर मौजूद हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सबसे पहले नव वर्ष की शुभकामनाएं दी।

पीएम ने कहा कि आज नई ऊर्जा के साथ और नए संकल्‍पों को सिद्ध करने के लिए तेज गति से आगे बढ़ने का आज शुभारंभ है। आज देश को गरीब व मध्‍यम वर्ग के लिए घर बनाने के लिए नई टेक्नोलॉजी मिल रही है। तकनीकी भाषा में इसे लाइट हाउस प्रोजेक्‍ट कहते हैं। वास्‍तव में यह छह प्रोजेक्‍ट प्रकाश स्‍तंभ की तरह है।

आवास योजनाएं केंद्र सरकार की प्राथमिकता में शामिल हैं

पीएम मोदी ने कहा कि यह प्रोजेक्‍ट अब देश के काम करने के तौर तरीकों का एक उत्तम उदाहरण है। हमें इसके पीछे के बड़े विजन को भी समझना होगा। एक समय में आवास योजनाएं केंद्र सरकारों की प्राथमिकताएं में नहीं थी, जितनी होनी चाहिए। सरकार घर निमार्ण की बारीकियों और क्‍वालीटी पर नहीं जाती थी। लेकिन हमें पता है कि बिना काम के विस्‍तारमय। यह जो बदलाव किए गए हैं, यदि यह बदलाव न होते तो कितना कठिन होता। आज देश ने अलग एप्रोच चुनी है। एक अलग मार्ग अपनाया है।

पीएम मोदी ने कहा कि, ग्लोबल हाउसिंग टेक्नोलॉजी चैलेंज - इंडिया के तहत लाईट हाउस प्रोजेक्ट के तहत राजकोट में टनल के जरिए मोनोलिथिक कंक्रीट कंस्ट्रक्शन टेक्नोलॉजी का उपयोग होगा। फ्रांस की इस टेक्नोलॉजी से हमे गति भी मिलेगी और घर आपदाओं को झेलने में ज्यादा सक्षम भी बनेगा।

क्या है लाइट हाउस प्रोजेक्ट, एक फ्लैट की कीमत 12.59 लाख होंगी

केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय ने 2017 में GHTC-इंडिया के तहत लाइट हाउस प्रोजेक्ट के लिए छह स्थानों को चुनने के लिए राज्यों व केन्द्रशासित प्रदेशों को कहा गया था। नई तकनीक के प्रयोग के कारण निर्माण कार्य करीब एक साल में पूरा हो सकेगा।

प्री फैब्रिकेटेड चीजों के प्रयोग से निर्माण ज्यादा टिकाऊ और पर्यावरण के अनुकूल होगा। लखनऊ में प्रोजेक्ट को लेकर यूपी के नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने बताया कि प्रॉजेक्ट का क्रियान्वयन शहीद पथ स्थित अवध विहार योजना में किया जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक, घरों की कीमत 12.59 लाख रुपये है, जिसमें केंद्र और प्रदेश सरकार की तरफ से 7.83 लाख रुपये अनुदान के तौर पर दिए जाएंगे। बाकी 4.76 लाख रुपये लाभार्थियों को देने होंगे। फ्लैट का आवंटन प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के अनुसार होगा। इस प्रोजेक्ट के तहत पूरा कारपेट एरिया 34.50 वर्ग मीटर में होगा। इसके तहत 14 मंजिला टावर बनाए जाएंगे. कुल 1,040 फ्लैट तैयार होंगे, हर फ्लैट 415 वर्ग फुट का होगा।