मुनव्वर राणा की तबीयत बिगड़ी, PGI में भर्ती:डॉक्टरों ने कहा- ऑपरेशन करना होगा, डायलिसिस पर हैं; हालत गंभीर

लखनऊ6 महीने पहले
मशहूर शायर की बुधवार को तबीयत बिगड़ गई। इसके बाद उनको SGPGI में भर्ती कराया गया।- फाइल

मशहूर शायर मुनव्वर राणा की तबीयत अचानक खराब होने पर उन्हें पीजीआई में भर्ती कराया गया है। लंबे समय से डायलिसिस करा रहे हैं मुनव्वर राणा की तबीयत अचानक बिगड़ गई। इसके बाद उन्हें संजय गांधी पोस्टग्रेजुएट हॉस्पिटल (PGI) लखनऊ के इमरजेंसी में भर्ती कराया गया। फिलहाल, डॉक्टरों ने मुनव्वर राणा की हालत गंभीर बताई है।

शायर मुनव्वर राणा का होगा ऑपरेशन
एसजीपीजीआई के डॉक्टरों का कहना है कि मुनव्वर राणा की तबीयत ज्यादा खराब है। उनका बीते 2 साल से डायलिसिस किया जा रहा है। जिसकी वजह से अब उनका ऑपरेशन करना पड़ेगा। फिलहाल, उनके चेकअप किया जा रहा है। अगले 24 घंटे में स्थिति को देखते हुए उनका ऑपरेशन किया जाएगा।

गले में इन्फेक्शन हुआ था
मुनव्वर राणा को 2017 में भी सीने में दर्द की शिकायत हुई थी। लंग्स और गले में भी इंफेक्‍शन था। इसके बाद इन्हें लखनऊ में भर्ती कराया गया था। उनके दोनों घुटने का भी ऑपरेशन हुआ है। मुन्नव्वर राणा को साल 2014 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से नवाजा गया था। साल 2015 में उन्होंने असहिष्णुता बढ़ने के नाम पर अवॉर्ड वापस कर दिया था।

बता दें कि मुनव्वर राना पिछले दिनों से लगातार किडनी की बीमारी से जूझ रहे हैं। दिल्ली में उनका इलाज चल रहा था। स्थिति ठीक होने के बाद से वे लखनऊ में अपने घर पर स्वास्थ्य लाभ ले रहे थे। इसी बीच मंगलवार को अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई। उन्हें आनन-फानन में एसजीपीआई में भर्ती कराया गया है।

विवादों से रहा है मुनव्वर का पुराना नाता

मुनव्वर राणा अक्सर विवादों में रहते हैं। राम मंदिर पर फैसला आने के बाद उन्होंने पूर्व चीफ जस्टिस रंजन गोगोई पर सवाल उठा दिया था। वहीं, किसानों के आंदोलन के दौरान उन्होंने कहा था कि संसद भवन को गिराकर वहां खेत बना देना चाहिए।

योगी फिर CM बने तो करूंगा पलायन

यूपी चुनाव में पाकिस्तान-पलायन और जिन्ना जैसे शब्द चर्चा में था। उसी बीच शायर मुनव्वर राणा ने एक चैनल से इंटरव्यू में कहा था कि , 'वर्तमान सरकार पलायन-पलायन रट रही है, लेकिन भाजपा सरकार में मुसलमानों में इतना खौफ है कि कोई बोल नहीं सकता है। अगर फिर भी ओवैसी की मदद से भाजपा की सरकार आ जाती है तो हमें यहां रहने की जरूरत नहीं है, मैं यहां से पलायन कर लूंगा'।

हम पर FIR कराई गई, बेटे को पकड़ा गया

मुनव्वर राणा ने कहा था कि जनता असल मुद्दों पर गौर करके वोट डालेगी। जिन्ना और पाकिस्तान से चुनाव का क्या लेना देना? ये करके किसी पार्टी को कुछ हासिल नहीं होने वाला है। करीब 6 महीने पहले हमने कहा था कि अगर ओवैसी की वजह से यूपी में बीजेपी सरकार फिर से आती है तो हम पलायन कर जाएंगे, जिसके बाद हमें परेशान किया गया। हमारे ऊपर कई FIR दर्ज कराई गई। हमारे बेटे को पकड़ा गया।

हजारों मुसलमानों ने किया पलायन

कैराना का जिक्र करते हुए मुनव्वर ने कहा था, 'पलायन की बात होती है, लेकिन हजारों मुसलमानों ने पलायन किया उसकी कोई बात नहीं होती, कहीं चर्चा नहीं होती। मुसलमानों ने अपने घरों में छुरी रखना भी बंद कर दिया है, क्योंकि पता नहीं कब योगी जेल में बंद करवा दें।

चुवाव के दौरान वोटर लिस्ट से गायब हो गया था मुनव्वर का नाम

विधानसभा चुनाव में मुनव्वर राना का नाम वोटर लिस्ट से गायब हो गया था। इसके चलते वह वोट नहीं डाल पाए थे। दैनिक भास्कर से बातचीत में उन्होंने यह पुष्टि की। राना ने कहा था कि मेरा वोटर लिस्ट में नाम नहीं है। इसलिए मैं वोट डालने नहीं जा पाऊंगा। राना लखनऊ के कैंट विधानसभा के वोटर थे।