• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Police Rescued The Young Man Hanging On The Noose And Took Him To The Hospital For Treatement, Accused Husband Killed His Wife In Lucknow As Dispute Was Going On Since Marriage

पत्नी के मर्डर के बाद नौटंकी, मैं मर रहा हूं:लखनऊ में रॉड से पत्नी का सिर फोड़ डाला, पुलिस को फोन कर कहा- मैं सुसाइड कर रहा हूं

लखनऊ5 महीने पहले
राधिका की 12 साल पहले शादी हुई थी। उसके कोई संतान नहीं थी- फाइल - Dainik Bhaskar
राधिका की 12 साल पहले शादी हुई थी। उसके कोई संतान नहीं थी- फाइल

लखनऊ में मंगलवार को एक युवक ने अपनी पत्नी की लोहे का रॉड मारकर हत्या कर दी। इसके बाद पुलिस को फोन करके बोला कि मैं भी मरने जा रहा हूं। सूचना मिलते ही पुलिस युवक के घर पहुंच गई, जहां वो फंदे से लटका मिला। पुलिस ने उसे नीचे उतारकर अस्पताल पहुंचाया। लोकबंधु अस्पताल में जांच में युवक कोविड पॉजिटिव निकला। फिलहाल, उसकी हालत ठीक है।

आलमबाग के बड़ा बरहा निवासी सुशील की साल 2009 में खदरा की रहने वाली राधिका उर्फ मीरा से शादी हुई थी। इंस्पेक्टर आलमबाग अनिल कुमार सिंह ने बताया कि मंगलवार सुबह करीब आठ बजे सुशील ने पुलिस कंट्रोल रूम में फोन किया। उसने बताया कि उसने अपनी पत्नी की हत्या कर दी है। अब वह खुद भी फांसी लगाकर जान देने जा रहा है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची।

पुलिस जब घर पहुंची, तो फंदे में लटका हुआ मिला था सुशील।
पुलिस जब घर पहुंची, तो फंदे में लटका हुआ मिला था सुशील।

पुलिस जब उसके घर पहुंची, तो सुशील फंदे पर लटका हुआ मिला। पुलिस ने उसको फंदे से उसे नीचे उतारा और लोकबंधु अस्पताल भेजा, जहां उसका इलाज चल रहा है। वहां जांच में वह कोविड पॉजिटिव पाया गया। कमरे में खून से लथपथ पड़े राधिका के शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

मृत पड़ी महिला के पास ही लोहे की रॉड पड़ी था। इंस्पेक्टर ने बताया कि राधिका के मायके पक्ष के लोगों को तुरंत घटना की सूचना दे दी गई। राधिका की कोई संतान नहीं थी। शादी के बाद से ही दोनों में अकसर झगड़ा होता रहता था।

छह साल पहले दोनों के बीच कोर्ट में हुआ था समझौता
इंस्पेक्टर ने बताया कि सुशील और राधिका में अकसर किसी न किसी बात को लेकर विवाद होता रहता था। उनके बीच कई साल तक मुकदमा भी चला। छह साल पहले ही न्यायालय में दोनों का समझौता हुआ था। उसके बाद से दोनों साथ में रह रहे थे। मगर, थोड़े दिनों बाद फिर दोनों में अनबन होनी शुरू हो गई।

महिला के परिजनों का आरोप- दूसरी महिला से सुशील का चक्कर भी था।
महिला के परिजनों का आरोप- दूसरी महिला से सुशील का चक्कर भी था।

महिला के परिजनों ने बताया कि कुछ काम नहीं करता था। दादा को बहला-फुसलाकर पांच-10 लाख रुपये लिए थे, जिससे घर बनवाया और एक गाड़ी खरीदी थी। कहा था कि गाड़ी चलाने से जो पैसे मिलेंगे, उससे 10 हजार रुपए महीना दूंगा। मगर, बाद में वह भी नहीं दिए। घर का राशन का सामान भी नहीं लाता था।

परिजनों ने आरोप लगाया कि एक भाभी हैं, जिनके पति की मौत हो चुकी है। उससे सुशील का चक्कर चलता था। वह आए दिन अपनी पत्नी से लड़ता था। तीन चार दिन पहले भी झगड़ा हुआ था और आज पता चला कि उसकी हत्या कर दी गई है।

खबरें और भी हैं...