यूपी-पुलिस लोगों बता रही मतदान का महत्व:अराजक तत्वों पर मित्र पुलिस की पैनी नजर, लाइसेंसी बंदूक जमा करने की अपील की

लखनऊ10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लखनऊ में संवेदनशील इलाकों में पुलिस व अर्ध सैनिक बलों के साथ रूट मार्च करते डीसीपी पश्चिम सोमेन वर्मा। - Dainik Bhaskar
लखनऊ में संवेदनशील इलाकों में पुलिस व अर्ध सैनिक बलों के साथ रूट मार्च करते डीसीपी पश्चिम सोमेन वर्मा।

यूपी पुलिस ने निष्पक्ष और शांति पूर्वक मतदान कराने के लिए सभी पोलिंग बूथ के भौतिक निरीक्षण करने के साथ संवेदनशील स्थानों पर फ्लैग मार्च करना शुरू कर दिया है। पुलिस की टीम लोगों को मतदान के लिए जागरुक करने के साथ थाना पुलिस से लेकर अधिकारी तक संवेदनशील स्थानों पर जाकर लोगों से चुनाव को लेकर फीडबैक ले रहे हैं। वहीं, चुनाव में गड़बड़ी करने वालों पर नजर रखने के लिए मित्र पुलिस (एस-10) को सक्रिय कर दिया है। चुनाव को सकुशल संपन्न कराने के लिए डीजीपी मुकुल गोयल ने सभी पुलिस कमिश्नर से लेकर एसएसपी तक को दिशा निर्देश दिए हैं। साथ ही सबको अराजकतत्वों को पाबंद करने और लाइसेंसी शस्त्र भी जमा कराने को कहा है।

संवेदनशील स्थानों पर पुलिस अर्ध सैनिक बल के साथ कर रही फ्लैग मार्च

लखनऊ ग्रामीण क्षेत्र में पुलिस के साथ रूट मार्च करते अर्ध सैनिक बल।
लखनऊ ग्रामीण क्षेत्र में पुलिस के साथ रूट मार्च करते अर्ध सैनिक बल।

एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि सभी जिलों में संवेदनशील व घनी आबादी में फ्लैग मार्च करने के आदेश दिए गए हैं। सभी कप्तान क्षेत्र के पोलिंग स्टेशन और बूथ की सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने के निर्देश दिए गए हैं। जिसका खुद जाकर भौतिक परीक्षण करने को कहा गया है। दूसरी तरफ सभी जिलों में 175 कंपनी अर्ध सैनिक बल आवश्यकता के हिसाब से भेज दिया गया है। जो लोगों के बीच जाकर निष्पक्ष चुनाव कराए जाने का भरोसा जगा रहा है।

जनता को मतदान का बताना है महत्व, संदिग्ध लोगों पर रखनी है नजर

एक दुकानदार को चुनाव व मतदान के विषय में जानकारी देते एसपी गोंडा संतोष कुमार मिश्र।
एक दुकानदार को चुनाव व मतदान के विषय में जानकारी देते एसपी गोंडा संतोष कुमार मिश्र।

पुलिस मुख्यालय से यूपी के सभी जिला प्रभारियों को जनता के बीच जाकर मतदान करने के लिए प्रेरित करने के लिए भी आदेश जारी हुए है। इसके लिए जागरुक अभियान चलाने से लेकर लोगों के बीच चुनावी चौपाल तक लगाने के निर्देश हैं। जिससे लोग मतदान करने के लिए जागरुक हों। वहीं, संदिग्ध लोगों पर नजर रखने के लिए एस-10 को सक्रिय करने को कहा गया है। जो अराजकतत्वों पर नजर रखें। चुनाव में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी या नोट के बदले वोट की आशंका होने पर पुलिस को सूचना दे सकें।

यूपी में 3.63 लाख लाइसेंसी शस्त्र जमा, 10 लोग पाबंद
यूपी पुलिस ने पिछले एक सप्ताह में 3,63,900 लाइसेंसी शस्त्र जमा कराए हैं। इसी प्रकार चुनाव में गड़बड़ी कर सकने वाले 10,26,297 लोगों पर निरोधात्मक कार्रवाई करते हुए पाबंद किया है। जबकि आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन में 38 के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है।

खबरें और भी हैं...