राष्ट्रपति चुनाव को लेकर सपा ने बुलाई बैठक:लखनऊ में सभी विधायक-सांसद की मौजूदगी में अखिलेश यादव करेंगे मंथन, आगे की रणनीति पर होगा फैसला

लखनऊ5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने राष्ट्रपति चुनाव को लेकर एक अहम बैठक बुलाई है। लखनऊ के प्रदेश कार्यालय में अखिलेश यादव ने सभी सपा के विधायक और सांसदों को बैठक में बुलाया है। उत्तर प्रदेश से अखिलेश यादव विपक्षी के राष्ट्रपति उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को लेकर आगे की रणनीति पर मंथन करेंगे।

ममता का साथ देने का कर चुके हैं ऐलान

बीते दिनों अखिलेश यादव ने अयोध्या में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान ऐलान किया था कि ममता बनर्जी जिस उम्मीदवार को राष्ट्रपति के लिए उतारे नहीं हम उसका पूरा समर्थन करेंगे। ममता बनर्जी की अगुवाई में दिल्ली में आयोजित हुई बैठक में अखिलेश यादव स्वयं पहुंचे थे। यूपी विधानसभा के हालिया नतीजों में सपा गठबंधन को 125 सीटें मिली हैं। उसका वोट शेयर बढ़कर 36% पहुंच गया है। इसमें 32% से अधिक वोट सपा को मिले हैं। वहीं, भाजपा का वोट शेयर बढ़कर 41.29% हो गया जो कि 2017 के मुकाबले करीब दो फीसदी अधिक है। गठबंधन को 45% के करीब वोट मिले हैं। मुस्लिम बहुल सीटों पर सपा के पक्ष में हुई गोलबंदी और जाटों के बढ़े समर्थन ने वेस्ट यूपी में गठबंधन के लिए संभावनाएं और बेहतर की हैं। लोकसभा के मौजूदा विधान सभावार आंकड़े इसकी पुष्टि करते हैं।

सपा और उनके सहयोगी दल के मौजूदा सांसद विधायकों की संख्या

वर्तमान 17वीं लोक सभा में समाजवादी पार्टी के 5 लोकसभा सदस्य निर्वाचित हुए थे, जिनमें अखिलेश यादव और आज़म खान के विधानसभा सदस्य हो के पश्चात 2 सीटों पर मतदान हो रहा है। मैनपुरी से मुलायम सिंह यादव,मुरादाबाद से एस. टी. हसन और संभल से शफीकुर्रहमान बर्क सांसद हैं। समाजवादी पार्टी के मौजूदा समय में 110 विधायक हैं। समाजवादी पार्टी की सहयोगी राष्ट्रीय लोक दल के 8 विधायक और सुहलदेव भारतीय समाज पार्टी के 6 विधायक हैं।