BJP नेता भाषणों से नफरत फैलाते हैं:प्रियंका बोलीं-यूपी के 60 विधानसभाओं में कुपोषण के हालात हैं भयावह

लखनऊएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रियंका ने कहा कि भाजपा के नेता 
विकास के मुद्दों पर बात नहीं करेंगे - Dainik Bhaskar
प्रियंका ने कहा कि भाजपा के नेता विकास के मुद्दों पर बात नहीं करेंगे

कांग्रेस महासचिव यूपी प्रभारी ने BJP ने सवाल उठाया है। सोशल मीडिया पर पोस्ट कर कहा 'भाजपा के नेता विकास के मुद्दों पर बात नहीं करते। वो अपने भाषणों से नफरत फैलाते हैं ' उन्होंने कहा कि देश में सबसे ज्यादा यूपी के हालात खराब हैं। 60 विधान सभाओं में कुपोषण के हालात भयावह हैं। इस पर कोई बात नहीं करता। भाषणों से बच्चों के लिए न्यूट्रिशन की बात गायब है।

30 जुलाई को केंद्रीय मंत्री ईरानी ने जारी किए थे आंकड़े
मानसून सत्र के दौरान राज्यसभा में कुपोषित बच्चों को लेकर अहम जानकारी दी गई है। महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की ओर से बताया गया कि देश में 9.3 लाख ( 6 महीने से 6 साल के बीच) से अधिक 'गंभीर कुपोषित' बच्चों की पहचान की गई है।

इसमें यूपी से करीब 4 लाख बच्चे हैं। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने जानकारी दी थी कि, ICSD-RRS पोर्टल (30 नवंबर, 2020 तक) के अनुसार, देश में 9,27,606 गंभीर रूप से कुपोषित (SAM) बच्चों (6 महीने से 6 वर्ष) की पहचान की गई है, जिनमें से 3, 98,359 उत्तर प्रदेश से हैं।

एक दिन पहले कानून व्यवस्था पर उठाए थे सवाल
मंगलवार को प्रियंका ने गोरखपुर में 7 दिन में 7 मर्डर पर लिखा था कि BJP की दूरबीन के ढोल सुहावने है। लेकिन, असलियत में यूपी में अपराध के आंकड़े डरावने हैं। CM के क्षेत्र में कानून व्यवस्था अपराधियों के सामने सरेंडर है, बाकी प्रदेश का हाल आप समझ सकते हैं।

प्रियंका गांधी ने यूपी टीईटी परीक्षा पेपर लीक मामले में यूपी सरकार को आड़े हाथों लिया था। प्रियंका ने एक ट्वीट में लिखा था, भर्तियों में भ्रष्टाचार पेपर आउट ही भाजपा सरकार की पहचान बन चुका है। आज यूपी टेट का पेपर आउट होने की वजह से लाखों युवाओं की मेहनत पर पानी फिर गया।