• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Priyanka Gandhi Will Observe Silence For Three Hours Today, After The Arrest Of Son Ashish Mishra, Will Insist On The Demand Of The Minister's Resignation

लखीमपुर हिंसा में कांग्रेस का 'मौन व्रत':प्रियंका गांधी का लखनऊ में प्रदर्शन, 3 घंटे रखा मौन व्रत; केंद्रीय गृह राज्य मंत्री की बर्खास्तगी की मांग

लखनऊ3 महीने पहले
लखनऊ के गांधी प्रतिमा धरना स्थल पर प्रियंका का मौन व्रत प्रदर्शन किया।

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा लगातार केंद्र और राज्य सरकार पर हमलावर हैं। इसी कड़ी में आज (सोमवार) GPO स्थित गांधी प्रतिमा धरना स्थल पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने मौन व्रत प्रदर्शन किया। जो तीन घंटे तक चला। इससे पहले उन्होंने कहा कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री की बर्खास्तगी तक चुप नहीं बैठूंगी। सरकार आरोपियों को बचाने में लगी रही। ऐसा कभी नहीं हुआ जैसा भाजपा राज में हो रहा है।

उन्होंने हिंसा के आरोपी अशीष मिश्र के पिता केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के इस्तीफे की मांग की है। प्रियंका गांधी वाड्रा के मौन व्रत प्रदर्शन में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, प्रमोद तिवारी, दीपक सिंह मौजूद हैं। इसके साथ ही बड़ी संख्या में पार्टी दफ्तर से कार्यकर्ता भी गांधी प्रतिमा पर पहुंचे हैं।

केंद्रीय गृह मंत्री अजय मिश्रा टेनी की बरखास्तगी की मांग
लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर प्रियंका गांधी वाड्रा लगातार सक्रिय हैं। वो यूपी सरकार और भाजपा पर हमला करने का एक भी मौका हाथ से नहीं जाने दे रही हैं। लगातार गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र टेनी के इस्तीफे की मांग को जारी रखते हुए उन्होंने मौन व्रत के माध्यम से विरोध करने की घोषणा की है।

हिंसा को लेकर प्रियंका सक्रिय
बता दें, लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा को लेकर प्रियंका गांधी काफी सक्रिय रही हैं। वह अन्य विपक्षी नेताओं से पहले लखीमपुर खीरी के लिए लखनऊ से रवाना हो गई थीं। हालांकि, सीतापुर में उन्हें हिरासत में ले लिया गया, लेकिन बाद में उन्हें और राहुल गांधी समेत अन्य नेताओं को पीड़ित के परिजनों से मुलाकात करने की अनुमति दे दी गई थी।

संयुक्त किसान मोर्चा ने भी दी चेतावनी
संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने रविवार को केंद्र और उत्तर प्रदेश सरकार को चेतावनी दी कि लखीमपुर हिंसा के मामले में 11 अक्टूबर तक केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा को पद से नहीं हटाया गया। गिरफ्तार नहीं किया गया तो वह चरणबद्ध प्रदर्शन शुरू करेगा। इससे पहले संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा था कि सरकार के पास मिश्रा के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए 11 अक्टूबर तक का समय है और ऐसा नहीं हुआ तो मोर्चा लखीमपुर खीरी हिंसा के खिलाफ चरणबद्ध प्रदर्शन शुरू करेगा।

खबरें और भी हैं...