लखनऊ में कुत्ता और गाय पालना हुआ महंगा:विदेशी नस्ल के कुत्ते के लिए 1 हजार और देशी के लिए देने होंगे 500 रुपए, करीब 17 गुना बढ़ा गाय का शुल्क

लखनऊ12 दिन पहले

लखनऊ में गाय और कुत्ता पालना महंगा हो गया है। नगर निगम कार्यकारिणी ने रविवार को इसको लेकर प्रस्ताव पास कर दिया है। अब देशी नस्ल के कुत्तों के लिए 500 और विदेशी के लिए 1000 रुपए देने होंगे। अभी तक 500 रुपए अधिकतम शुल्क था। इसके अलावा गाय का शुल्क भी 30 रुपए साल से बढ़ाकर 500 रुपए कर दिया गया है। कार्यकारिणी की नोटिफिकेशन तैयार होने के साथ ही इसको लागू कर दिया जाएगा।

अभी तक नगर निगम में कुत्ता पालने का लाइसेंस नस्ल के हिसाब से है। इसमें 200 रुपए, 300 रुपए और 500 रुपए लगते हैं। प्रस्ताव में 1000 रुपए किया गया था लेकिन बैठक में इसको लेकर विरोध भी हुआ। इसके बाद ,तय हुआ कि 1000 रुपए का प्रस्ताव रखा जा रहा है। इसके अलावा एक घर में दो से ज्यादा कुत्ते और गाय नहीं पाले जा सकते हैं।

पड़ोसी की NOC जरूरी

निगम ने इसके साथ ही पड़ोसी की एनओसी भी जरूरी कर दिया है। अगर कोई कुत्ता पालता है तो पड़ोसी की आपत्ति के बाद उसके कुत्ते को जब्त कर लिया जाएगा। यह प्रस्ताव भी पास कर दिया गया है। उम्मीद है कि अगले महीने से इसको शहर में लागू कर दिया जाएगा। इससे शहर में 6300 कुत्ता पालने वालों के लिए परेशानी बढ़ सकती है। पिटबुल और कई कुत्तों के काटने के बाद यह प्रस्ताव लाया गया है।

यह फोटो निगम की बैठक में कार्यकारिणी के सभी सदस्य शामिल है।
यह फोटो निगम की बैठक में कार्यकारिणी के सभी सदस्य शामिल है।

माइक्रो चिप वाला होगा लाइसेंस
प्रस्ताव की मंजूरी के बाद नगर निगम भी विदेशों की तरह यहां भी कुत्तों को माइक्रो चिप वाला डिजिटल लाइसेंस बनाएगा। इसमें चावल के दाने के बराबर चिप कुत्ते के शरीर में लगाई जाएगी। इसमें कुत्ते के साथ मालिक का पूरा डाटा रहेगा। इसमें चिप रीडर मशीन से कुत्ते के लाइसेंस के बारे में आसानी से पूरी जानकारी मिल जाएगी।

विज्ञापन का पैसा नहीं देने पर होगा 20 हजार का जुर्माना

अगर समय से नगर निगम विज्ञापन शुल्क नहीं जमा किया तो 20 हजार रुपए जुर्माना देना होगा। अभी तक 10 हजार रुपए का जुर्माना लगता था। इसके अलावा प्रतिदिन के हिसाब से जो 500 रुपए का जुर्माना लगता था। उसको भी बढ़ाकर 1000 रुपए प्रतिदिन कर दिया गया है।

यह फोटो कार्यकारिणी शुरू होने से पहले की है। लोगों ने कल्याण सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया था।
यह फोटो कार्यकारिणी शुरू होने से पहले की है। लोगों ने कल्याण सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया था।

यह शुल्क भी लगाने की तैयारी

  • पेट्स क्लीनिक (सलाना शुल्क) केवल पालतू पशु उपचार के लिए 5 हजार रुपए
  • पेट्स ब्रीडिंग सेंटर (अधिकतम तीन बेड) दस हजार रुपए,
  • पांच बेड तक 15 हजार रुपए
  • पेट शाप दस हजार रुपए
  • पेट स्टोर दस हजार रुपए
  • वेटरीनरी डाग्योनेस्टिक लैब दस हजार रुपए
  • पेट क्लीनिक और पेट स्टोर दस हजार रुपए
  • पेट क्लीनिक, पेट स्टोर और वेटरीनरी डाग्योनेस्टिक लैब बीस हजार रुपए
  • पेट के्रच दस हजार रुपए

ट्रांसपोर्ट नगर पार्किंग की दर बढ़ाने का प्रस्ताव
नगर निगम ट्रांसपोर्ट नगर पार्किंग में दर बढ़ाने का प्रस्ताव भी कार्यकारिणी में रखेगा। वर्तमान में प्रतिदिन के आधार पर कार एवं 6 चक्के तक के वाहन के लिए 40 रुपए, 6 चक्के से अधिक व 10 चक्के तक के वाहन के लिए 60 रुपए, 10 चक्के से ऊपर के वाहन के लिए 100 रुपए व बस के लिए 300 रुपए पार्किंग शुल्क है। इसको बढ़ाकर 40 की जगह 100 रुपए, 60 के स्थान पर 200 रुपए, 100 को 300 और बस के लिए पार्किंग की दरें 300 रुपए प्रस्तावित की गई हैं।

कार्यकारिणी के मुख्य प्रस्ताव हुए पास-

  • बर्लिंगटन चौराहे का नाम अब स्वर्गीय अशोक सिंघल के नाम से होगा।
  • नगर निगम अपनी जमीन कब्जे से रोकने के लिए समाज सेवी संस्थाओं को देगा।
  • देसी कुत्ते का 500 और विदेशी का 1000 रुपए शुल्क के रूप में देना होगा।
  • वेंडिंग जोन में खड़े होने वाले ठेले सब रंग और डिज़ाइन के होंगे।
  • महिला बाजार का 2 अक्टूबर को होगा शिलान्यास।
  • नगर निगम की प्रॉपर्टी का किराया बाजार रेट से बढ़ाया जाएगा।
  • निगम की प्रॉपर्टी पर कंस्ट्रक्शन करवाने वालों पर होगी कार्रवाई।
  • नगर निगम के कई वकीलों को अभियोजन में कमजोर पैरवी करने पर होगी कार्रवाई। 6 से अधिक वकीलों को हटाया जाएगा।
  • पार्षदों के काम की होगी थर्ड पार्टी निगरानी।
  • इसके अलावा 30 से अधिक प्रस्ताव पर कार्यकारिणी की लगी मोहर।