सुल्तानपुर में टूटी मिली रेलवे पटरी:लखनऊ-वाराणसी रेलवे ट्रैक पर टूटी हुई पटरी से गुजर गई मालगाड़ी; स्थानीय लोगों ने दी सूचना तो शुरू हुआ ट्रैक का काम

सुल्तानपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुबह गांव के लोग शौच के लिए निकले तो उन्हें टूटी हुई पटरी दिखाई दी। जिसकी सूचना पुलिस को दी गयी। - Dainik Bhaskar
सुबह गांव के लोग शौच के लिए निकले तो उन्हें टूटी हुई पटरी दिखाई दी। जिसकी सूचना पुलिस को दी गयी।

उत्तर प्रदेश के सुलतानपुर में आज उस समय हड़कंप मच गया जब यहां लखनऊ-वाराणसी रेल ट्रैक पर सुलतानपुर जंक्शन और बंधुआकलां रेलवे स्टेशन के मध्य रेल पटरी टूट गई। हैरत की बात ये है़ कि टूटी हुई पटरी से मालगाड़ी पास हो गई और किसी को कानो-कान खबर तक नही हुई। बाद में स्थानीय लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी, जिसके बाद रेल अधिकारियों को इसकी खबर की गई। सूचना पाकर रेल अधिकारी मौके पर पहुंचे हैं।

जानकारी के अनुसार ये घटना सुलतानपुर जंक्शन और बंधुआकलां रेलवे स्टेशन के मध्य भुआपुर गांव के पास की गई है़। यहां रेल ट्रैक पर पटरी टूट गई थी और इसकी खबर किसी को नही थी। रेलवे अधिकारियों के अनुसार ब्लाक नंबर 919 के 19-20 पत्थर के बीच की है़। दरअसल, जब सुबह गांव के लोग शौच के लिए निकले तो उन्हें टूटी हुई पटरी दिखाई दी। जिसकी सूचना पुलिस को दी गयी।

पुलिस से मिली सूचना के बाद रेलवे कर्मी टूटी हुई रेलवे पटरी पर पहुंचे। जहां फिर उसे जोड़ने का काम शुरू किया गया। फिलहाल ट्रैक को दुरुस्त कर दिया गया है। हालांकि टूटे ट्रैक की जानकारी पहले मिलने से बड़ा हादसा होने से बच गया है।

स्टेशन मास्टर बीएएस मीणा ने बताया कि ये हादसा सुबह के बाद का है़। हमारे पास 12:35 पर सूचना आई थी। तत्काल वहां मरम्मत का कार्य शुरू कराया गया है, जो अभी जारी है़। ये मामला डाउन लाइन पर हुआ है। अप लाइन हमारी क्लियर है़। हादसे के पहले और बाद में अभी कोई सवारी गाड़ी डाउन लाइन पर नही है़। रात में लोकमान्य तिलक और श्रमजीवी एक्सप्रेस को आना है़, तब तक मरम्मत कार्य पूरा हो सकता है़। वैसे काशन पर गाड़ियां ले जाई जा सकती है़। अगर इमरजेंसी होगी तो अप लाइन से भी ट्रेन को गुजारा जा सकता है़।

टूटे ट्रैक की जानकारी पहले मिलने से बड़ा हादसा होने से बच गया है।
टूटे ट्रैक की जानकारी पहले मिलने से बड़ा हादसा होने से बच गया है।
खबरें और भी हैं...