UP में हिल स्टेशन जैसी ठंडक:कानपुर में 4 और मेरठ में 5 डिग्री पहुंचा पारा, प्रयागराज में तेज बारिश; 10 जनवरी तक राहत के आसार नहीं

लखनऊ9 दिन पहले

यूपी के कई शहरों में पहाड़ों जैसी ठंड पड़ रही है। कानपुर में न्यूनतम तापमान 4 डिग्री और मेरठ में 5.8 डिग्री दर्ज हुआ है। जौनपुर, गाजीपुर, झांसी सहित कई शहरों में आज भी बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने 10 जनवरी तक ऑरेंज अलर्ट जारी कर रखा है। लखनऊ में गुरुवार रात भर हुई बारिश से ठिठुरन बढ़ गई है। हालांकि, सुबह राजधानी और आस पास के कुछ जिलों में आसमान साफ होने से लोगों को राहत मिली। कानपुर में गुरुवार से शुक्रवार सुबह तक हुई बारिश करीब 16 MM दर्ज की गई। कुछ इलाकों में ओले भी गिरे।

मौसम विभाग ने बारिश के साथ ही पूर्वी यूपी में सुबह के समय घना कोहरा होने की भी चेतावनी जारी की है। वहीं, पूर्वी UP में ओले भी पड़ सकते हैं। मौसम विभाग ने आज प्रदेश भर में बूंदाबांदी के साथ हल्की बारिश की चेतावनी जारी की थी। पश्चिमी विक्षोभ के चलते अफगानिस्तान-पाकिस्तान से होकर जम्मू- कश्मीर से होते हुए हवाएं अब प्रदेश भर में बारिश का कारण बन रही हैं।

झांसी में लगातार दूसरे दिन भी बारिश हो रही है।
झांसी में लगातार दूसरे दिन भी बारिश हो रही है।

प्रयागराज में भी दो दिन से लगातार बारिश हो रही है। तेज बारिश के कारण संगम जाने वाले प्रमुख मार्गों पर सड़कें धंस गईं हैं। संगम किनारे घाट बनाने के लिए जो बोरियों में भरने के लिए बालू लाई गई थी वह भी बह गई है। बिजली के तार लगाने और पोल गाड़ने का काम भी रुक गया है। चकर्ड प्लेट्स बिछाने का काम भी प्रभावित हो गया है। 14 जनवरी को माघ मेले का पहला स्नान पर्व है ऐसे में तैयारियां समय से पूरी हो पाना संभव नहीं है। खराब मौसम और कोरोना के कहर से माघ मेले का रंग फीका रहने वाला है।

बारिश ने माघ मेले की तैयारियों पर पानी फेरा:पांटून पुल 2 में आई दिक्कत, प्रमुख मार्गों पर सड़कें धंसीं

बारिश के बाद गोमती नगर की सड़कों पर सन्नाटा।
बारिश के बाद गोमती नगर की सड़कों पर सन्नाटा।

16 एमएम बारिश रिकॉर्ड
कानपुर और आसपास के जिलों में बारिश के चलते जनजीवन पूरी तरह अस्त-व्यस्त हो गया है। गुरुवार तड़के शुरू हुई बारिश शुक्रवार सुबह भी जारी है। ग्रामीण क्षेत्र के कई इलाकों में ओलावृष्टि भी देर रात हुई। वहीं जनवरी में हुई बारिश ने बीते 20 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। अगले 2 दिनों तक बारिश होने के पूरे आसार बने हुए हैं।

लखनऊ की हवा में सुधार
बारिश के कारण लखनऊ के वायु गुणवत्ता सूचकांक में भी गिरावट हुई है। गुरुवार की सुबह राजधानी का एक्यूआइ 261 पर दर्ज किया गया है। बुधवार को यह एक्यूआइ 290 पर दर्ज किया गया था।

पूर्वी यूपी में पड़ सकते हैं ओले
आंचलिक मौसम विज्ञान विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण शुक्रवार को भी प्रदेश भर के अलग-अलग हिस्सों में गरज चमक के साथ बूंदाबांदी, बौछार और हल्की फुल्की बारिश दिन भर होगी। पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में ओले भी पड़ सकते हैं। मौसम में बारिश का सिलसिला लगभग एक हफ्ते तक यूं ही बना रहेगा।

दिन में भी ठिठुरन

सिटीअधिकतम तापमान
मेरठ10 डिग्री
गोरखपुर13 डिग्री
प्रयागराज13 डिग्री
लखनऊ14 डिग्री
वाराणसी15 डिग्री
कानपुर15 डिग्री

लखनऊ में 12 डिग्री तक गिर सकता है तापमान
लखनऊ में सात जनवरी को तापमान 12.0 डिग्री से 20.0 डिग्री सेल्सियस के बीच, आठ जनवरी को 12.0 डिग्री से 18.0 डिग्री सेल्सियस के बीच, नौ जनवरी को 11.0 डिग्री से 19.0 डिग्री सेल्सियस, 10 जनवरी को 11.0 डिग्री से 20.0 डिग्री सेल्सियस और 11 जनवरी को 11.0 डिग्री सेल्सियस से 20.0 डिग्री सेल्सियस के बीच रह सकता है। आगामी 10 और 11 जनवरी को मौसम का मिजाज अधिक बिगड़ सकता है। इस दौरान गरज-चमक के साथ तेज हवाएं और बारिश होने की आशंका जताई गई है।

मेरठ में हुआ पहाड़ों जैसा मौसम
5 जनवरी को मेरठ का न्यूनतम तापमान घटकर 5.8 डिग्री तक पहुंच गया। इस दिन जम्मू में न्यूनतम तापमान 7. 7 डिग्री सेल्सियस रहा। श्रीनगर में दिन का अधिकतम तापमान 6.8 डिग्री और न्यूनतम 3. 0 डिग्री, पहलगाम में दिन का अधिकतम तापमान 3. 3 डिग्री और न्यूनतम तापमान माइनस 3. 0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। मनाली में तापमान 3 डिग्री, मसूरी में 6 डिग्री और शिमला में तापमान 5 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। 7 जनवरी को मेरठ में सुबह 11 बजे तक न्यूनतम तापमान 10.4 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया है। जबकि जम्मू में 10.3, मसूरी में 1.8 तापमान रहा।

नेपाल से सटे जिलों में ठिठुरन बढ़ी

बारिश और तेज हवाओं से गोरखपुर में दिन के साथ ही रात का पारा अपडाउन हो रहा है। इससे अब ठंड का एहसास काफी अधिक होने लगा है। नेपाल सीमा के सटे जिलों में सुबह 9 बजे तक दृश्यता 150 से 200 मीटर तक दर्ज की गई। इस दौरान सुबह 6 बजे तक तापमान 7 डिग्री रिकार्ड गया।मौसम विभाग के मुताबिक गोरखपुर और आसपास के क्षेत्रों में 10 जनवरी तक सूर्य के दर्शन नहीं होंगे। आसमान में बादल और 12 से 17 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से पश्चिम और उत्तर की तरफ से चलने वाली हवाओं की वजह से तापमान में गिरावट होने का अनुमान है। इससे मौसम सर्द रहेगा। मौसम सर्द होने की वजह पहाड़ों पर होने वाली बर्फबारी है।

10 जनवरी तक नहीं होंगे सूर्य देव के दर्शन, तापमान में होगी गिरावट

हिल्स सा ठंडा हुआ पश्चिमी यूपीबारिश से गिरा तापमान, तीन दिनों में पहाड़ों सा हुआ मौसम

वेस्ट यूपी में बूंदाबांदी से ठिठुरन:आज भी NCR में बारिश की संभावना, सर्दी की चपेट में यूपी

खबरें और भी हैं...