लखीमपुर में अरदास:प्रियंका गांधी पहुंचीं, मंच पर नेताओं को नहीं मिली जगह; 26 अक्टूबर को किसान लखनऊ में महापंचायत करेंगे, 18 को ट्रेन रोकेंगे

लखीमपुर2 महीने पहले
अंतिम अरदास में प्रियंका गांधी वाड्रा पहुंच गई हैं।

लखीमपुर हिंसा में मारे गए किसानों की आत्मा की शांति के लिए मंगलवार को तिकुनिया में अंतिम अरदास (श्रद्धांजलि सभा) पूरी हो गई। घटनास्थल से करीब एक किमी की दूरी पर 30 एकड़ भूमि पर यह कार्यक्रम चल रहा है। कार्यक्रम में UP के अलावा पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान और छत्तीसगढ़ से करीब 50 हजार किसान पहुंचे हैं।

अरदास में किसान नेताओं ने कई बड़े ऐलान किए हैं। 24 अक्टूबर को देश की सभी प्रमुख नदियों में मृतक किसानों की अस्थि का विसर्जन होगा। इसी दिन 10 से 4 बजे तक चक्काजाम होगा। यूपी के हर जिले और देश के हर राज्य में अस्थि कलश यात्रा निकाली जाएगी। तिकुनिया में घटनास्थल पर 5 किसानों की शहीदी स्मारक बनाया जाएगा।

राकेश टिकैत का कहना है कि अभी तक रेड कार्पेट गिरफ्तारी हुई है। आरोपियों को गुलदस्ता देकर बुलाया गया। मंत्री के रहमो-करम वाले पुलिस कैसे पूछताछ करेंगे? जब तक बाप-बेटा जेल में बंद नहीं होंगे, जब तक मंत्री का इस्तीफा नहीं होगा। शांति पूर्व आंदोलन जारी रहेगा।

अरदास में किसानों के 5 बड़े फैसले-

  1. 15 अक्टूबर प्रधानमंत्री का पूरे देश में पुतला फूंका जाएगा।
  2. 18 अक्टूबर में ट्रेनें रोकी जाएंगी।
  3. 24 अक्टूबर को अस्थि विसर्जन होगा।
  4. 5 मृतक किसानों का शहीदी स्मारक बनाया जाएगा।
  5. 26 को लखनऊ में महापंचायत होगी।

प्रियंका भी पहुंची

अरदास में शामिल होने के लिए कई सियासी नेता भी पहुंचने वाले हैं। प्रियंका गांधी वाड्रा लखीमपुर पहुंचीं। हालांकि, उन्हें मंच पर जगह नहीं मिली। इससे पहले उन्हें सीतापुर में रोक दिया गया था। रालोद नेता जयंत चौधरी भी पहुंचे हैं। उन्हें भी मंच पर जगह नहीं मिली। संयुक्त मोर्चा ने ऐलान किया है कि अरदास कार्यक्रम के मंच पर कोई सियासी नेता नहीं बैठेगा। जो भी नेता इस कार्यक्रम में आएगा वह पब्लिक के साथ बैठेगा।

सबसे पहले पलिया से आए रागी जत्थे ने गुरुवाणी का बखान कर संगत को निहाल किया। कार्यक्रम में मृतक किसानों के परिवार वालों और घायल किसानों को भी बुलाया गया है।

राकेश टिकैत के साथ मंच से नीचे बैठे जयंत चौधरी।
राकेश टिकैत के साथ मंच से नीचे बैठे जयंत चौधरी।
अरदास के मंच पर मृतक किसानों के परिवार के लोग भी बैठे हैं।
अरदास के मंच पर मृतक किसानों के परिवार के लोग भी बैठे हैं।
अरदास में आई भीड़।
अरदास में आई भीड़।

LIVE अपडेट्स

  • भारतीय किसान यूनियन (टिकैत) के प्रवक्ता राकेश टिकैत सोमवार की रात में ही कार्यक्रम स्थल पहुंच चुके हैं। श्रद्धांजलि सभा में किसान जुटने लगे हैं। यहां कौड़ियाला घाट गुरुद्वारा में रविवार से ही अखंड पाठ चल रहा है।
  • कार्यक्रम की सुरक्षा व्यवस्था को परखने के लिए विशेष पुलिस जांच कमेटी के DIG उपेंद्र अग्रवाल, DM अरविंद चौरसिया और SP विजय ढुल ने कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण किया।
  • किसाना नेता सुरेशपाल बोले- कुछ लोग राष्ट्रवाद के नाम पर धार्मिक उन्माद बढ़ाते हैं। इस देश का किसान मजदूर भाई था, भाई है, भाई रहेगा। यह देश किसी एक विचारधारा का देश नहीं है। यह देश सभी जाति, धर्म, ग्रंथों को मिलाकर एक फूल है।
  • कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के काफिले को सीतापुर में पुलिस ने रोका। उन्हें तीन गाड़ियों के साथ लखीमपुर जाने की परमिशन मिली है। उनके साथ हरियाणा के कांग्रेस सांसद दीपेंद्र हुड्‌डा भी हैं।
  • RLD अध्यक्ष जयंत चौधरी को बरेली एयरपोर्ट पर करीब एक घंटे नजरबंद कर रखा गया। बाद में जाने की परमिशन मिली है। इस दौरान रालोद कार्यकर्ताओं ने एयरपोर्ट के बाहर प्रदर्शन भी किया।
  • दिल्ली सिख गुरद्वारा प्रबंधन कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा को पीलीभीत के बॉर्डर पर पुलिस ने रोका है। मनजिंदर सिंह अकाली दल के राष्ट्रीय प्रवक्ता भी हैं।
अरदास कार्यक्रम में पहुंचे किसान नेता योगेंद्र यादव।
अरदास कार्यक्रम में पहुंचे किसान नेता योगेंद्र यादव।
लखनऊ से प्रियंका गांधी वाड्रा लखीमपुर के लिए निकल चुकी हैं। उनके साथ हरियाणा के नेता दीपेंद्र हुड्‌डा भी हैं।
लखनऊ से प्रियंका गांधी वाड्रा लखीमपुर के लिए निकल चुकी हैं। उनके साथ हरियाणा के नेता दीपेंद्र हुड्‌डा भी हैं।

पहले शबद कीर्तन फिर लोग देंगे श्रद्धांजलि
राष्ट्रीय अध्यक्ष भारतीय सिख संगठन जसवीर सिंह ने बताया कि अरदास कार्यक्रम जारी है। लोग मृत किसानों को श्रद्धांजलि दे रहे हैं। सबसे पहले शबद कीर्तन हो रहा है। इसके बाद किसान नेता शहीद किसानों को श्रद्धा सुमन अर्पित कर अपनी-अपनी बात रखेंगे। अंतिम अरदास में शामिल होने के लिए सोमवार रात से ही राकेश टिकैत, जोगेंदर सिंह और सरिता समेत कई किसान नेताओं का यहां आना शुरू हो गया था।

लोगों की संख्या को देखते हुए घटनास्थल से 500 मीटर दूर कक्कड़ फार्म हाउस पर दूसरे प्रदेश से आ रहे किसानों के रुकने का इंतजाम किया गया है। इसके लिए यहां करीब 30 एकड़ धान की फसल को कटवाकर टेंट लगवा दिया गया है।

कार्यक्रम स्थल पर संयुक्त मोर्चा के नेता डॉक्टर दर्शनपाल सिंह (दाएं से पहले) व अन्य।
कार्यक्रम स्थल पर संयुक्त मोर्चा के नेता डॉक्टर दर्शनपाल सिंह (दाएं से पहले) व अन्य।

गुरुद्वारे के साथ-साथ कई जगह चलेगा लंगर
राम सिंह ढिल्लन ने बताया कि कक्कड़ फार्म हाउस पर किसानों के रुकने और लंगर की व्यवस्था की गई है। इसके साथ ही लखीमपुर आने-जाने वाले रास्तों पर भी लंगर की व्यवस्था की गई है। दूर से आने वाले किसानों के लिए लंगर के लिए गुरुद्वारे में व्यवस्था की गई है।

13 जिलों में पुलिस अलर्ट
शहीद किसानों की अंतिम अरदास में बड़ी संख्या में किसानों के जुटने की संभावना है। इसे देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने 13 जिलों में 20 वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की अगुआई में पुलिस बल को तैनात किया है। ये किसानों की पल-पल की गतिविधियों पर नजर रखेंगे। साथ ही कानून व्यवस्था को हाथ में लेने वालों पर सख्त कार्रवाई करेंगे। इसके लिए उन्हें अपने-अपने जिलों में कैंप करने के आदेश दिए गए हैं।

तिकुनिया में IG जोन लक्ष्मी सिंह और पुलिस के अन्य बड़े अधिकारी।
तिकुनिया में IG जोन लक्ष्मी सिंह और पुलिस के अन्य बड़े अधिकारी।
खबरें और भी हैं...