पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रजिस्ट्री पर पीसीएस का हस्ताक्षर:पारदर्शी प्रक्रिया के लिए सख्त हुआ नियम, अब रजिस्ट्री पर पीसीएस और ओएसडी के हस्ताक्षर होंगे, 2004 की नियमावली हुई लागू

लखनऊ13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एलडीए में  होने वाली रजिस्ट्री पर अब पीसीएसएस के होंगे हस्ताक्षर। - Dainik Bhaskar
एलडीए में होने वाली रजिस्ट्री पर अब पीसीएसएस के होंगे हस्ताक्षर।

आवंटियों को किसी तरह की कोई परेशानी न हो और जिम्मेदारों की जवाबदेही तय हो सके इसके लिए अब रजिस्ट्री और लीज डीड पर नजूल अधिकारी के साइन होंगे। ऐसे में यह भी कहा जा सकता है कि अब पीसीएस स्तर के अधिकारी ही रजिस्ट्री , सम्पत्ति के विक्रय और लीज डीड पर हस्ताक्षर कर सकेंगे।

इससे रजिस्ट्री की प्रक्रिया और अधिक पारदर्शी होगी बल्कि विक्रय विलेख के निस्तारण में होने वाली गलतियों को रोका जाएगा। लखनऊ विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष अभिषेक प्रकाश ने फैसला लिया है। उन्होंने ने रजिस्ट्री लीज डीड पर हस्ताक्षर के लिए सक्षम स्तर के अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की है। इन पदों पर ज्यादातर पीसीएस स्तर के अधिकारी तैनात रहते है।

लखनऊ विकास प्राधिकरण के सचिव पवन कुमार गंगवार ने बताया कि अभी तक लखनऊ विकास प्राधिकरण की संपत्तियों के विक्रय विलेखों (रजिस्ट्री दस्तावेजों) पर निचले स्तर के अधिकारियों द्वारा हस्ताक्षर किए जाते रहे हैं। पीसीएस हस्ताक्षर के संबंध में एक शासनादेश एक जुलाई 2004 जारी किया गया था। जिसमें यह प्राविधान है कि उत्तर प्रदेश आवास एवं विकास परिषद तथा समस्त विकास प्राधिकरणों की सम्पत्तियों के विक्रय विलेखों पर संयुक्त सचिव अथवा समकक्ष उच्च स्तर के अधिकारी ही हस्ताक्षर करेंगे।

जहां पीसीएस नहीं वहां ओएसडी करेंगे साइन

जिन विकास प्राधिकरणों में संयुक्त सचिव तैनात नहीं है। वहां पर प्रांतीय सिविल सेवा के विशेष कार्याधिकारी (ओएसडी) अथवा उनके समकक्ष वेतनमान के अधिकारियों द्वारा विक्रय विलेखों पर हस्ताक्षर किया जाएगा। अपर सचिव ज्ञानेन्द्र वर्मा ने बताया कि इस शासनादेश के क्रम में अब प्राधिकरण द्वारा निष्पादित की जाने वाले रजिस्ट्री डीड पर सम्बंधित योजना के विशेष कार्याधिकारी ही हस्ताक्षर करेंगे।

खबरें और भी हैं...