फरमानी का हरियाणवी SONG सबसे पहले भास्कर में:हरे कृष्णा गाने के बाद बोलीं- मेरे गानों पर हिंदू लोगों के कमेंट ज्यादा आते हैं

लखनऊ2 महीने पहले

हिंदू भक्ति गानों के बीच बहुत जल्द फरमानी नाज का हरियाणवी अंदाज सामने आने वाला है। फरमानी नाज का यह गाना पूरा हो चुका है। जल्द ही वो इस गाने को अपने चैनल पर अपलोड कर देंगी। गाने के बोल “पियाजी फॉर्च्यूनर लादे रे” हैं। फरमानी के 1 महीने के अंदर दो हिंदू देवी-देवताओं के गाने रिलीज हो चुके हैं। जिसमें “हर-हर शंभू” गाने पर विवाद खड़ा हो गया था।

"दर्शकों के लिए लाती रहूंगी ऐसे गाने"

फरमानी ने दैनिक भास्कर के साथ अपने गाने को शेयर किया है। फरमानी ने कहा, मेरे गानों को लोग बहुत पसंद कर रहे हैं। मैं अब कोशिश करूंगी की अपने दर्शकों के लिए जल्दी-जल्दी नए-नए गाने लाती रहूं। उन्होंने बताया उनका गाना “हर-हर शंभू” 8 करोड़ से ज्यादा लोगों ने सुना है। वहीं “हरे-हरे कृष्णा” गाने को अभी तक 17 लाख लोग देख चुके हैं। मेरे गाने पर सबसे ज्यादा हिंदू लोगों के कमेंट आते हैं। वो मुझसे और ऐसे ही गाने गाने के लिए बोलते हैं।

फरमानी ने शुक्रवार को हरे-हरे कृष्णा गाना अपलोड किया था।
फरमानी ने शुक्रवार को हरे-हरे कृष्णा गाना अपलोड किया था।

बस में जाकर गाना गाती थीं नाज

फरमानी ने मूसेवाला को अंतिम विदाई देते हुए एक गाना गाया था। जिसे 375,867 views मिले थे। वहीं चुनाव से पहले उन्होंने मोदी-योगी पर भी गाना गाया था। जिसे 7,13,104 views मिले थे। उनकी नजम “छुप गए सारे नजारे” को लोगों ने काफी पसंद किया है। फरमानी बताती हैं, लोगों के बीच अपनी पहचान बनाने के लिए उन्होंने शुरूआती दौर में बसों में जाकर गाना गाया है। तब वो ढोलक की ताल पर गाना गाती थीं। उन्होंने कई सारे जागरण में भी गाना गाया है।

यू-ट्यूब, फेसबुक पर बढ़े फॉलोवर्स

फरमानी 2 साल से गाने गा रही हैं लेकिन उनको पहचान “हर-हर शंभू” गाने से मिली है। फरमानी बताती हैं, इस गाने पर विवाद के बाद उनके यू-ट्यूब, फेसबुक पर फॉलोवर्स बढ़ गए हैं। लोगों ने उनके कई सारे गाने भी सुने हैं। उनके “हरे-हरे कृष्णा” गाने को भी लोगों ने खूब सुना है। उन्होंने बताया, दो साल बाद मेरी पहचान इसी गाने से बनी है।

अपने बेटे के साथ फरमानी नाज।
अपने बेटे के साथ फरमानी नाज।

"सबसे पहले मिले थे 25 हजार रुपए"

फरमानी बताती हैं कि उनके पति के छोड़ने के बाद वो काफी परेशान रहती थीं। उनके ऊपर उनके बच्चे की जिम्मेदारी थी। शादी भी कर्ज लेकर की गई थी। अब्बा पूरा कर्ज चुका भी नहीं पाए थे और मुझे मेरे ससुराल से निकाल दिया। ऐसे में घरवालों की दिक्कतें और बढ़ गई थी। एक यू-ट्यूूबर के साथ मैंने म्यूजिक की इंडस्ट्री में कदम रखा। जब मेरा पहला गाना आया तो मुझे 25 हजार रुपए मिले थे। धीरे-धीरे मेरे गाने लोगों को खूब पसंद आने लगे। इसके बाद मुझे 35 हजार रुपए मिलने लगे। मैंने सबसे पहले 8 लाख रुपए अपने शादी के कर्ज के चुकाए थे।

स्टूडियो में गाना गाती फरमानी नाज।
स्टूडियो में गाना गाती फरमानी नाज।

नाज के स्टूडियो में रखा है शिव मंदिर

फरमानी कहती हैं, शंभू के गाने ने मुझे पहचान दिलाई है। मैं आगे भी उनके गाने गाती रहूंगी। मेरे स्टूडियो में भी शिव जी का मंदिर है। मैं वहीं पर खड़े होकर गाना गाती हूं। मुझे लोगों का प्यार मिल रहा है…उसके लिए धन्यवाद। बता दें, हिंदू देवी-देवताओं का गाना गाने के बाद फरमानी को उलेमाओं ने यह काम छोड़ने के लिए कहा था। उन्होंने इसे इस्लाम के खिलाफ बताया था। जिस पर फरमानी ने उनसे अपना काम न छोड़ने की बात कही थी।

खबरें और भी हैं...