• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Samajwadi And Congress Party Started Registration Before The Up Assembly Elections, They Claims Fill The Form Now And Get The Benefits Of The Scheme As Soon As The Government Is Formed

सबूत चाहिए तो लीजिए...नेता घर-घर देंगे वादों की रसीद:सपा 300 यूनिट बिजली के लिए फार्म भरवा रही तो अब कांग्रेस रोजगार के लिए देगी लिखित गारंटी

लखनऊ4 महीने पहलेलेखक: अविनाश रावत

हम यूपी वालों की आदत है...हर बात के लिए कहते हैं सबूत है क्या? शायद, नेताओं ने हमारी इस दुखती रग को समझ लिया है। इसलिए अब वह अपने वादों की भी रसीद देने लगे हैं। वह भी घर-घर घूमकर। इसकी शुरुआत पिछले चुनाव में कांग्रेस के रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने की थी। इसका असर भी दिखा। पंजाब में कांग्रेस सरकार बनी। अब यूपी में सबसे पहले इसकी शुरुआत सपा ने की। 300 यूनिट बिजली फ्री देने के फार्म के साथ।

फिर कांग्रेस को पंजाब की कहानी याद आई और वह यूपी में भी रोजगार गारंटी का पूरा फार्म लेकर आ गई है। इसके लिए कांग्रेस भर्ती विधान जारी करने के बाद सरकार बनने से पहले ही बेरोजगारों का पंजीयन कर रही है। दोनों पार्टियों की योजनाओं में लाभार्थियों को बाकायदा पंजीयन नंबर भी दिया जाएगा। दावा है कि सरकार बनते ही सबसे पहले इन्हीं योजनाओं पर काम होगा।

15 करोड़ वोटरों को साधने की कोशिश

प्रदेश के 15 करोड़ 2 लाख 84 हजार वोटरों को लुभाने के लिए सभी राजनैतिक पार्टियां तरह-तरह की घोषणाएं कर रही हैं। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 1 जनवरी को ऐलान किया था कि घरेलू उपभोक्ताओं को 300 यूनिट प्रतिमाह मुफ्त बिजली दी जाएगी। वहीं कांग्रेस ने 21 जनवरी को भर्ती विधान जारी कर प्रदेश के बेरोजगारों को 20 लाख नौकरियां देने का वादा किया है। सरकार बनाने के लिए अभी पहले चरण के नामांकन ही हुए हैं। लेकिन इन दोनों ही पार्टियों ने अभी से अपनी घोषणाओं को मूर्त रूप देने की तैयारियां शुरू कर दी हैं।

अखिलेश की घोषणा के बाद सपा कार्यकर्ताओं ने 19 जनवरी से प्रदेशभर में लोगों को घर-घर जाकर 300 यूनिट मुफ्त बिजली लेने के इच्छुक लोगों के फार्म भरना शुरू कर दिया है। मुफ्त बिजली की गारंटी वाले इस फार्म में आवेदक का नाम, विधानसभा क्षेत्र, शिक्षा, मोबाइल नंबर, परिवार में सदस्यों की संख्या और वर्तमान का लगभग विद्युत बिल जैसी जानकारियां भरवाई जा रही हैं। यह फार्म समाजवादी पार्टी की आधिकारिक वेबसाइट पर भी ऑनलाइन भरवाया जा रहा है।

शिकायतों का पहले दिन से ही समाधान करने का दावा

मुफ्त बिजली देने के साथ ही मीटर तेज चलने या खराब मीटर लगाए जाने की शिकायतों का भी पहले दिन से ही समाधान करने का दावा किया जा रहा है। अखिलेश यादव का कहना है कि इसके लिए भी हम अभी से तैयारी कर रहे हैं। जिनके बिजली के मीटर खराब हैं या तेज चल रहे हैं उन्हें तत्काल प्रभाव से बदलवाया जाएगा। साथ ही ऐसी व्यवस्था करेंगे कि भविष्य में इस तरह के मीटर लगाए ही न जाएं।

मुफ्त बिजली देने के लिए समाजवादी पार्टी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन भी कर रही है।
मुफ्त बिजली देने के लिए समाजवादी पार्टी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन भी कर रही है।

रोजगार पंजीयन नंबर देगी कांग्रेस

समाजवादी पार्टी की तरह कांग्रेस भी बेरोजगार वोटरों को लुभाने के लिए सरकार बनने से पहले ही 23 जनवरी से रोजगार पंजीयन करने का अभियान चलाने वाली है। दरअसल, प्रदेश के साढ़े सात करोड़ यानी लगभग 50 फीसदी मतदाता 39 वर्ष तक की उम्र के हैं। इनमें से 18 से 19 वर्ष तक के मतदाताओं की संख्या 19.89 लाख है। चुनाव जीतने के लिए यह आंकड़ा बहुत मायने रखता है। ऐसे में कांग्रेस ने युवा वोटरों को लुभाने के लिए यूपी में 20 लाख भर्तियां करने की घोषणा कर भर्ती विधान जारी किया है।

इसे आधार बनाकर कांग्रेस 23 जनवरी से स्पीक अप अभियान कर रही है। इसमें प्रदेश के बेरोजगारों से फेसबुक और ट्विटर के जरिए बात की जाएगी। साथ ही कांग्रेस और एनएसयूआई के पदाधिकारी व कार्यकर्ता प्रदेश में जगह-जगह स्टॉल लगाकर बेरोजगार युवाओं से पंजीयन फॉर्म भरवाएंगे। उन्हें बाकायदा रोजगार पंजीयन क्रमांक भी दिया जाएगा। इस फार्म में नाम, पता, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी, शिक्षा, नौकरी का अनुभव जैसी जानकारियां मांगी जा रही हैं। दावा किया जा रहा है कि जिनका पंजीयन होगा, उन्हें सरकार बनते ही पहले नौकरी दी जाएगी।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने 20 लाख नौकरियां देने के लिए भर्ती विधान जारी किया है।
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने 20 लाख नौकरियां देने के लिए भर्ती विधान जारी किया है।

आम आदमी पार्टी ने पहले दी थी ऐसी गारंटी

बता दें कि सरकार बनते ही मुफ्त बिजली देने की गारंटी सबसे पहले आम आदमी पार्टी (आप) ने दी थी। आप ने दिल्ली में चुनाव से पहले लोगों को 200 यूनिट बिजली फ्री और 400 यूनिट बिजली आधे दाम में देने का वादा किया था। चुनाव से पहले बाकायदा गारंटी देने वाले फार्म भी भरवाए गए थे। आप ने इसी योजना को यूपी में भी लागू करने का वादा किया है। इसके तहत लखनऊ और कानपुर सहित प्रदेश के कई शहरों में लोगों से फार्म भी भरवाए गए हैं।

मुफ्त बिजली की गारंटी देने की शुरुआत आम आदमी पार्टी ने की थी।
मुफ्त बिजली की गारंटी देने की शुरुआत आम आदमी पार्टी ने की थी।

21286 करोड़ रुपए का बोझ आएगा सरकार पर

घरेलू उपभोक्ताओं को मुफ्त बिजली देने के अलावा अखिलेश ने किसानों को मुफ्त बिजली देने की भी घोषणा की है। उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के मुफ्त बिजली देने के वित्तीय पैरामीटर के मुताबिक 300 यूनिट तक घरेलू उपभोक्ताओं को मुफ्त बिजली देने पर सरकार को अतिरिक्त 21286 करोड़ रुपये की सब्सिडी का बोझ आएगा। वहीं किसानों को मुफ्त बिजली देने पर सरकार को महज 2000 करोड़ रुपये की अतिरिक्त सब्सिडी का बोझ आएगा।