आधी आबादी के लिए वूमेन पोलिंग सेंटर:​​​​​​​पर्दानशी के लिए भी बनाए गए अलग से 189 पोलिंग बूथ, लखनऊ की पांच सीट पर निर्णायक दखल

लखनऊएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

यूपी चुनाव आयोग ने आधी आबादी को खुलकर और सुरक्षित मतदान करने के लिए वूमेन सेंटर व बूथ बनाने के लिए जिला प्रशासन को निर्देश दिए हैं। इस क्रम में लखनऊ जिला प्रशासन ने जिले में 27 वूमेन पोलिंग सेंटर और 42 बूथ बनाए है। यह व्यवस्था महिला वोटर बाहुल्य क्षेत्रों में की गई है। ऐसे ही मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र में पर्दानशी 58 सेंटर बनाए जा रहे हैं। जिसके 189 बूथ पर पर्दानशी बूथ पर पर्दा करने वाली या फिर बुर्के में आने वाली महिलाएं ही मतदान कर सकेंगी। महिला वोट लखनऊ की नौ में पांच सीटों पर निर्णांयक साबित होंगे। जहां दो लाख से अधिक महिला वोटर हैं। इन बूथ पर मतदान कर्मी से लेकर सुरक्षा कर्मी भी महिलाएं ही होगी। चुनाव आयोग ने विधानसभा चुनाव के सातों चरणों में महिला बूथ स्थापित किये जाने का निर्देश दिए थे। इस क्रम में पुलिस ने मतदान के लिए महिला बूथ की स्थापना की तैयारियां पूरी कर ली हैं।

लखनऊ में 17 लाख महिला वोटर करेंगी अपने मतदान का प्रयोग
यूपी में करीब 6.98 करोड़ महिला मतदाता है। जिसमें से लखनऊ में 17.77 लाख महिला मतदाता है। जो लखनऊ की नौ सीटों पर महिला बूथ में अपने मतदान का प्रयोग करेंगी। इनती सहूलियत के लिए ही वूमेन बूथ की व्यवस्था की गई है। इनके वोट लखनऊ की नौ में पांच सीटों पर निर्णायक साबित होंगे। जहां दो लाख से अधिक महिला वोटर हैं।

इन विधान सभा पर महिला वोट रहेगा निर्णायक

  • मलिहाबाद- 1,65,831
  • मोहनलालगंज- 1,73,121
  • लखनऊ कैंट- 1,69,828
  • लखनऊ मध्‍य- 1,73,347
  • लखनऊ पूर्व- 2,13,788
  • लखनऊ उत्‍तर- 2,12,138
  • लखनऊ पश्चिम- 2,00,179
  • सरोजनी नगर- 2,57,541
  • बख्‍शी का तालाब- 2,11,537

प्रदेश में 6.98 करोड़ है महिला मतदाता, पुलिस मुस्तैद
एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि महिला बूथ पर सिर्फ महिला ही वोट डालेंगी और ड्यूटी भी महिलाएं ही करेंगी। इसके पीछे महिलाएं बिना किसी हिचक व डर के मतदान कराने की शासन की मंशा है। विधानसभा चुनाव में 15.02 करोड़ मतदाता में 6.98 करोड़ के करीब महिला मतदाता हैं। उनकी सुरक्षा व निजिता को देखते हुए सुरक्षा के भी पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं। निष्पक्ष व शांतिपूर्ण मतदान के लिए सभी मतदान केंद्रों के बाहर केंद्रीय पुलिस बल व पीएसी के जवानों को लगाया जा रहा है।