मुलायम सिंह यादव की हालत नाजुक:रविवार से CCU में एडमिट हैं, भाई अभय राम बोले- जल्द सैफई में घर आएंगे

लखनऊ4 महीने पहले

UP के पूर्व CM और सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की तबीयत स्थिर बनी हुई है। सोमवार दोपहर को मेदांता अस्पताल ने पहला हेल्थ बुलेटिन जारी किया। इसमें सिर्फ इतना बताया गया है कि वह सीसीयू यानी क्रिटिकल केयर यूनिट में एडमिट हैं। स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की टीम उनका ट्रीटमेंट कर रही है।

उनकी बीमारी, ब्लड प्रेशर या ऑक्सीजन लेवल से जुड़ी हुई कोई जानकारी नहीं दी गई है। मुलायम सिंह के स्वास्थ्य का हाल जानने मेदांता आए कार्यकर्ताओं से धर्मेंद्र यादव मिले। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि नेताजी के स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है, दुआओं की जरूरत है। वहीं मुलायम सिंह यादव के भाई अभय राम ने कहा कि नेताजी के स्वास्थ्य लाभ के लिए गांव में लोग प्रार्थना कर रहे हैं। जल्द ही उनकी तबीयत ठीक होगी और वह सैफई में घर आएंगे।"

रविवार शाम को मुलायम सिंह की तबीयत ज्यादा बिगड़ गई थी। इसके बाद उन्हें सीसीयू में वेंटिलेटर पर रखा गया। अखिलेश यादव और राम गोपाल यादव के अलावा परिवार के सभी लोग मेदांता हॉस्पिटल पहुंचे। वहां उन्होंने डॉक्टरों से बातचीत की। सोमवार को भी शिवपाल यादव अस्पताल पहुंचे।

इधर, लखनऊ में मुलायम सिंह और अखिलेश के आवास पर सन्नाटा है। सपा कार्यालय में भी आवाजाही नहीं है। पूरा परिवार इस वक्त दिल्ली और गुरुग्राम में है। रविवार को ही हालत नाजुक होने की सूचना पर अखिलेश, पत्नी डिंपल और बेटे अर्जुन के साथ दिल्ली निकल गए थे।

वहीं, वाराणसी के बीएचयू का छात्र आशुतोष सिंह गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल पहुंच गया। उसने सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के लिए किडनी डोनेट करने का प्रस्ताव रखा है।

केंद्रीय मंत्री बघेल भी अस्पताल पहुंचे

अपने राजनीतिक गुरु से मिलने केंद्रीय राज्यमंत्री एसपी सिंह बघेल भी मेदांता अस्पताल पहुंचे। उन्होंने अखिलेश से उनकी सेहत की जानकारी ली। बघेल ने कहा कि नेता जी की तबीयत के बारे में जैसे ही पता चला मैं तुरन्त आगरा से मेदांता आया हूं। ईश्वर से उनके अच्छे स्वास्थ्य की कामना करता हूं।"

बघेल को राजनीति में मुलायम लेकर आए
1989 में मुलायम सिंह यादव के यूपी सीएम बनने के बाद सत्यपाल सिंह बघेल उनकी सुरक्षा टीम में शामिल हुए। सपा ने 1998 में बघेल को जलेसर सीट से उम्मीदवार बनाया और वह जीते। उसके बाद 2 बार सांसद चुने गए। मगर 2009 के लोकसभा चुनाव के समय उन्‍होंने सपा छोड़कर बसपा ज्‍वाइन कर ली। 2017 विधानसभा चुनाव में वो भाजपा के टिकट पर टूंडला से जीतकर प्रदेश सरकार में मंत्री बने। उनके पॉलिटिकल करियर में पार्टी कोई भी रही हो, बघेल ने हमेशा मुलायम सिंह यादव को अपना राजनीतिक गुरु माना।

नेताजी के लिए सपा कार्यकर्ता मंदिरों में कर रहे प्रार्थना

ये तस्वीर आगरा की है। मंदिर में महामृत्युंजय का जाप चल रहा है।
ये तस्वीर आगरा की है। मंदिर में महामृत्युंजय का जाप चल रहा है।

मुलायम की तबीयत बिगड़ने के बाद आगरा, मुजफ्फरनगर, वाराणसी, कानपुर, लखनऊ समेत अलग-अलग शहरों में हवन-पूजन चल रहा है। सपा कार्यकर्ता अपने नेता के लिए महा मृत्युंजय जाप भी करवा रहे है। मंदिरों में होने वाले इन अनुष्ठान के फोटो और वीडियो ट्विटर और फेसबुक पर पोस्ट किए जा रहे हैं। मुलायम की सेहत के लिए दुआएं मांगी जा रही हैं।

वाराणसी में कार्यकर्ताओं ने किया हवन-पूजन

मुलायम सिंह यादव की तबीयत बिगड़ने के बाद सपा कार्यकर्ताओं ने वाराणसी में हवन-पूजन किया। सपा नेता और कार्यकर्ताओं ने उनके जल्दी ठीक होने के लिए अपने-अपने घरों में भी यज्ञ किया।

अब आपको बताते हैं कि मुलायम कब भर्ती हुए, उन्हें बीमारियां क्या हैं...

मुलायम 24 जून को भी भर्ती हुए थे

ये तस्वीर मुलायम सिंह यादव के सरकारी आवास की है।
ये तस्वीर मुलायम सिंह यादव के सरकारी आवास की है।

इससे पहले 24 जून 2022 को मुलायम सिंह यादव की तबीयत ज्यादा खराब होने पर गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहां पर रुटीन चेकअप और इलाज के बाद डिस्चॉर्ज कर दिया गया था। इससे पहले मुलायम को 15 जून की शाम को मेदांता में भर्ती कराया गया था। यहां पर स्वास्थ्य जांच के बाद उन्हें 2 दिन में डिस्चार्ज कर दिया गया था।

मुलायम 2 साल से बीमार चल रहे
दरअसल, मुलायम सिंह यादव बीते दो साल से बीमार चल रहे हैं। परेशानी अधिक बढ़ने पर उन्हें अक्सर अस्पताल में भर्ती कराया जाता है। पहले भी वह कई बार मेदांता अस्पताल में भर्ती कराए जा चुके हैं। मुलायम सिंह यादव को जुलाई 2021 में भी मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

इससे पहले अगस्त, 2020 में यूरिन इन्फेक्शन के बाद और पेट में दर्द के बाद भी मुलायम को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। तब टेस्ट रिपोर्ट में आंत में सूजन की समस्या सामने आई थी। इन्फेक्शन का असर किडनी तक जा पहुंचा था। अक्टूबर 2020 में मुलायम सिंह यादव कोरोना पॉजिटिव भी हो गए थे। हालांकि उन्होंने वैक्सीन की डोज लगवाई है।

सैफई में मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई अभय राम यादव अपने घर पर मौजूद हैं। वे लगातार फोन से भाई का हाल-चाल ले रहे हैं।
सैफई में मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई अभय राम यादव अपने घर पर मौजूद हैं। वे लगातार फोन से भाई का हाल-चाल ले रहे हैं।

अब आपको मुलायम सिंह यादव के हेल्थ अपडेट बताते हैं...

  1. 26 सितंबर 2022 : चेकअप के लिए मुलायम सिंह यादव मेदांता गुरुग्राम पहुंचे थे। जहां तब से वह अभी तक भर्ती हैं।
  2. 5 सितंबर 2022 : मेदांता के गुरुग्राम में मुलायम सिंह यादव को भर्ती कराया गया था। जहां से उन्हें इलाज के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया था।
  3. 13 अगस्त 2022 : मुलायम सिंह यादव को मेदांता में भर्ती कराया गया था।
  4. 24 जून 2022 : रूटीन चेकअप के लिए मुलायम सिंह यादव मेदांता गए थे। जहां पर तबीयत खराब होने के बाद उन्हें 2 दिन के लिए भर्ती किया गया था।
  5. 15 जून 2022 : गुरुग्राम के मेदांता मेडिसिटी में भर्ती कराया गया था। यहां पर स्वास्थ्य जांच के बाद उन्हें दिन में डिस्चार्ज भी कर दिया गया था।
  6. 1 जुलाई 2021 : उनकी तबीयत बिगड़ने के बाद मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
  7. अक्टूबर, 2020 : मुलायम सिंह यादव कोरोना पॉजिटिव भी हो गए थे। यह अलग बात है कि उन्होंने वैक्सीन की डोज लगवाई थी।
  8. अगस्त 2020 : पेट दर्द के चलते उन्हें मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जांच में यूरिनल इन्फेक्शन का पता चला था।
  • तस्वीरों में मुलायम सिंह यादव
यह फोटो मुलायम सिंह यादव की पोती अदिति यादव ने ट्वीट की है। अदिति ने लिखा- दादा जी के अच्छे स्वास्थ्य की ईश्वर से कामना करें।
यह फोटो मुलायम सिंह यादव की पोती अदिति यादव ने ट्वीट की है। अदिति ने लिखा- दादा जी के अच्छे स्वास्थ्य की ईश्वर से कामना करें।
विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद अखिलेश यादव मुलायम सिंह यादव से मिलने पहुंचे थे। तब मुलायम ने अखिलेश से कहा था, बहुत अच्छा लड़े तुम, बहुत-बहुत बधाई।
विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद अखिलेश यादव मुलायम सिंह यादव से मिलने पहुंचे थे। तब मुलायम ने अखिलेश से कहा था, बहुत अच्छा लड़े तुम, बहुत-बहुत बधाई।
यह फोटो 6 सितंबर की है। नीतीश कुमार और अखिलेश यादव मुलायम सिंह का हाल जानने मेदांता अस्पताल पहुंचे थे।
यह फोटो 6 सितंबर की है। नीतीश कुमार और अखिलेश यादव मुलायम सिंह का हाल जानने मेदांता अस्पताल पहुंचे थे।
यह फोटो सपा दफ्तर की है। विधानसभा चुनाव के दौरान अखिलेश ने अपने पिता के पैर छूकर आशीर्वाद लिया था।
यह फोटो सपा दफ्तर की है। विधानसभा चुनाव के दौरान अखिलेश ने अपने पिता के पैर छूकर आशीर्वाद लिया था।
यह फोटो बीते 13 अगस्त 2022 की है। रामगोपाल यादव ने मेदांता के हॉस्पिटल में मुलायम सिंह से की थी मुलाकात
यह फोटो बीते 13 अगस्त 2022 की है। रामगोपाल यादव ने मेदांता के हॉस्पिटल में मुलायम सिंह से की थी मुलाकात

मुलायम सिंह यादव का राजनीतिक सफर

  • साल 1989 में मुलायम सिंह यादव पहली बार यूपी के मुख्यमंत्री बने।
  • मुलायम सिंह यादव अपने दूसरे कार्यकाल के दौरान साल 1993 में यूपी के मुख्यमंत्री बने
  • मुलायम सिंह यादव अपने तीसरे कार्यकाल के दौरान साल 2003 में यूपी के मुख्यमंत्री बने।
  • साल 2014 में आजमगढ़ से सांसद बने।

9 जुलाई को हुआ था पत्नी साधना का निधन

यह फोटो मुलायम सिंह यादव की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता की है। 9 जुलाई को साधना का निधन हो गया था।
यह फोटो मुलायम सिंह यादव की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता की है। 9 जुलाई को साधना का निधन हो गया था।

मुलायम सिंह यादव की दूसरी पत्नी साधना गुप्ता का 9 जुलाई को निधन हो गया था। उन्होंने गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में अंतिम सांस ली थी। साधना गुप्ता काफी समय से बीमार चल रही थीं। उन्हें फेफड़े में संक्रमण की शिकायत के बाद मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

सीएम योगी ने फोन पर की अखिलेश से बात

डिप्टी सीएम केशव मौर्य ने किया ट्वीट

ब्रजेश पाठक ने कहा- जल्द स्वस्थ होने की कामना है

प्रियंका गांधी ने किया ट्वीट

समाजवादी पार्टी ने कहा- हालत स्थिर है

राहुल गांधी ने किया ट्वीट

बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने किया ट्वीट

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने किया ट्वीट

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने फोन पर की अखिलेश से बात

झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन अखिलेश से की फोन पर बात