अखिलेश मैनपुरी के करहल से ही लड़ेंगे चुनाव:22 लाख युवाओं को IT सेक्टर में रोजगार देने का वादा, 8 दिन में 7वीं बार प्रेस कांफ्रेंस की

लखनऊ5 महीने पहले

सपा प्रमुख अखिलेश यादव का मैनपुरी की करहल सीट से विधानसभा चुनाव लड़ना तय हो गया है। लखनऊ में सपा की प्रेस कांफ्रेंस में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव ने इसकी आधिकारिक घोषणा की। दो दिनों से अखिलेश के इस सीट से चुनाव लड़ने की बात कही जा रही थी। आज इसकी आधिकारिक घोषणा हो चुकी है। अखिलेश ने सवाल उठाया कि भाजपा को पहले से कैसे पता था कि उन्हें चुनाव प्रचार के लिए एलईडी की जरूरत होगी? भाजपा को पहले ही सारी बातें कैसे पता चल जाती हैं? हमारा ये आरोप है। हम शिकायत करेंगे कि पक्षपात हो रहा है।

बता दें कि आज ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चुनाव प्रचार के लिए एलईडी रथों को रवाना किया है।

अखिलेश ने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि नौकरी और रोजगार संकल्प श्रृंखला में 22 लाख युवाओं को रोजगार देने के लिए समाजवादी सरकार काम करेगी। उन्होंने कहा कि छात्रों को लैपटॉप देने की स्कीम क्रांतिकारी थी। एक-एक लैपटॉप की एक कहानी है। उन्होंने 22 लाख युवाओं को रोजगार देने का वादा किया और कहा कि ये रोजगार आइटी सेक्टर से मिलेंगे।

अखिलेश ने कहा कि यूपी में जनता समाजवादी पार्टी की तरफ देख रही है। अभी मैं सिर्फ आईटी सेक्टर के बारे में बात कर रहा हूं। मैनिफेस्टो में हम विस्तार से तमाम बातें करेेंगे।
अखिलेश ने कहा कि यूपी में जनता समाजवादी पार्टी की तरफ देख रही है। अभी मैं सिर्फ आईटी सेक्टर के बारे में बात कर रहा हूं। मैनिफेस्टो में हम विस्तार से तमाम बातें करेेंगे।

योगी सरकार ने झूठे विज्ञापन किए

अखिलेश ने कहा कि योगी सरकार ने झूठ के विज्ञापन किए- 'फ्लाईओवर बंगाल का था। इन्हें बताना चाहिए कि बरेली के झुमके के लिए क्या किया? फिरोजाबाद में क्या किया? रामपुर में क्या नया किया? गाजियाबाद के कारखाने बेच दिए, बंद हो गए। वन डिस्ट्रिक्ट-वन प्रोडक्ट में क्या कर रहे हैं'।

शनिवार को बरेली से पूर्व सांसद प्रवीण सिंह ऐरन सहित अन्य नेताओं ने समाजवादी पार्टी में शामिल हुए।

एक दिन पहले अखिलेश ने 12 लाख कर्मचारियों के लिए 2005 से पहले की पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल करने का वादा किया था। उससे पहले जरूरमंद गरीबों के लिए 18 हजार रुपए पेंशन की घोषणा की थी।