यूपी एसटीएफ की चुनाव में गड़बड़ी करने वालों पर नजर:राजनैतिक दलों से संपर्क रखने वालों की विशेष निगरानी

लखनऊ10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

यूपी में चुनावी रण तैयार होते ही माफिया भी अपनी बिसात बिछाने लगे हैं। माफिया चुनाव में कोई अराजकता न फैला सके, इसके लिए एसटीएफ ने पूरे प्रदेश में अपना खुफिया तंत्र सक्रिय कर दिया है। एसटीएफ ने संगठित होकर अपराध को अंजाम देने वालों के साथ ही राजनैतिक दलों से जुड़े लोगों की विशेष निगरानी शुरू कर दी है। वहीं उनके गैंग के सदस्यों पर पहरा बैठा दिया है। जो चुनाव में किसी प्रकार की गडबड़ी न कर सकें। पिछले दिनों एसटीएफ ने 151 ईनामी बदमाशों को जेल भेजा। वहीं टॉप 10 गैंग के दस बदमाशों को एनकाउंटर में मार गिराया है।

7 इंटरस्टेट गैंग एसटीएफ की रडार पर
एसटीएफ सूत्रों के मुताबिक एसटीएफ की टीम सात इंटरस्टेट गैंग पर नजर बनाए हुए, जो शराब, असलहा और हवाला से जुड़े हुए हैं। इसमें मुख्य रूप से वह भी माफिया निशाने पर हैं जो किसी न किसी राजनैतिक दल से जुड़े हैं या राजनीति में सक्रिय भूमिका निभा रहें है। इसमें प्रमुख रूप से गाजीपुर के मुख्तार अंसारी, प्रयागराज के अतीक अहमद, वाराणसी के बृजेश कुमार सिंह उर्फ अरुण कुमार सिंह, लखनऊ के ओमप्रकाश उर्फ बबलू श्रीवास्तव, बिजनौर का मुनीर, अंबेडकरनगर का खान मुबारक, गाजियाबाद के अमित कसाना, शामली के आकाश जाट, मेरठ के उधम सिंह व योगेश भदौड़ा, बागपत के अजीत उर्फ हप्पू , मुजफ्फरनगर का सुशील उर्फ मूंछ व संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा, गौतमबुद्धनगर का सुन्दर भाटी व अनिल भाटी के गैंग गैंग है। वहीं दूसरी तरफ राजनीति में सक्रिय अपराधिक घटनाओं में संलिप्त ब्रजेश सिंह, अभय सिंह, विजय मिश्रा, धनंजय सिंह व पवन सिंह पर भी नजर बनाए हुए है। इसके साथ ही राजनीति में दखल रखने वाले राजा भइया को भी अपनी लिस्ट में शामिल किया है।

राजनैतिक पार्टी में शामिल नेताओं का खंगाला जा रहा आपराधिक इतिहास
एसटीएफ राजनैतिक पार्टी में शामिल और उनको सपोर्ट करने वाले आपराधिक इतिहास रखने वालों का इतिहास खंगाल रही है। इसके साथ अपने ही क्षेत्र में दबदबा रखने वालों पर विशेष टीम लगा रखी है। जो चुनाव को प्रभावित कर सकते है। इसके साथ ही जिला पंचायत अध्यक्ष से लेकर ग्राम प्रधान तक के चुनाव में गड़बड़ी करने वालों का ब्यौरा स्थानीय पुलिस से तलब किया है।
जनवरी से अब तक एसटीएफ की कार्रवाई

  • 151 इनामिया गिरफ्तार ।
  • 129 नशे के सौदागरों को पकड़ करीब 80 करोड़ का ड्रग्स किया बरामद ।
  • 22 असलाह तस्करों को गिरफ्तार कर 328 असलहे और 555 गोली की बरामद।
  • 72 शराब माफिया को पकड़ 1 करोड़ 66 लाख की अवैध शराब की बरामद।
  • इनामी बदमाश वकील पांडेय, राजीव पांडेय, राजू, भानचंद्र यादव, परवेज, अजय उर्फ कालिया, हरीश पासवान,दीपक वर्मा,अली शेर, गौरी यादव को मार गिराया।