मुख्तार का वफादार गिरफ्तार:मुख्तार अंसारी के एंबुलेंस चालक को STF ने किया गिरफ्तार, VHP नेता अपहरण-हत्याकांड के आरोपी की भी चलता था कार

लखनऊ5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश स्पेशल स्टार्ट फोर्स (STF) ने पूर्वांचल के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के एंबुलेंस चालक 25 हजार के इनामी सलीम को मंगलवार रात जानकीपुरम इलाके से गिरफ्तार कर लिया। सलीम विधायक मुख्तार अंसारी के चचेरे ससुर और RSS के नेता नंद किशोर रूंगटा अपहरण कांड के आरोपी दो लाख के इनामी अताउर्रहमान उर्फ बाबू की भी स्टीम कार एक वर्ष चलाया था। आरोपी सलीम ने मुख्तार गैंग से जुड़े कई राज उगले हैं।

ADG STF अमिताभ यश के मुताबिक, सलीम के खिलाफ मुख्तार के चर्चित एंबुलेंस के मामले में बाराबंकी में धोखाधड़ी, 120बी., 7 सीएलए एक्ट समेत संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज है। जबकि, मऊ के दक्षिण टोला थाने में गैंगस्टर एक्ट के मुक़दमे वह फरार चल रहा था। आरोपी सलीम को बाराबंकी अदालत में पेश किया गया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया। बहुत जल्द मऊ पुलिस गैंगस्टर के मुकदमें में फरार चल रहे सलीम को पुलिस कस्टडी रिमांड पर पूछताछ के लिए ले जाएगी।

सलीम है मुख्तार अंसारी का पुराना वफादार

सलीम मुख्तार का पुराना वफादार है। इसी के चलते पुलिस ने जनपद मऊ में दक्षिण टोला थाना क्षेत्र में गैंगस्टर एक्ट की कार्रवाई की गई थी। इसके ऊपर कई और मुकदमे भी दर्ज हैं। सलीम इनाम घोषित अपराधी की श्रेणी में था। ADG STF ने बताया कि पूछताछ पर सलीम ने बताया कि लगभग 20 वर्षों से मुख्तार अंसारी से वह जुड़ा हुआ है।

वर्ष 2000 में मुख्तार अंसारी के चचेरे ससुर व विहिप नेता नंदकिशोर रुंगटा अपहरण के आरोपी दो लाख के इनामी अताउल रहमान उर्फ बाबू की मारुति स्टीम कार चलाता था। उनकी कार लगभग 1 वर्ष तक चलाई थी। जिस पर चंडीगढ़ का नंबर पड़ा हुआ था। अताउल रहमान उर्फ बाबू के फरार होने के बाद इसने मुख्तार अंसारी व उनके परिवार के अन्य सदस्यों की गाड़ी चलाने लगा।

फर्जी पते पर सलीम को मिला था लाइसेंसी असलहा

पूछताछ में सलीम ने बताया कि इसके अलावा फिरोज, सुरेंद्र शर्मा व रमेश भी मुख्तार अंसारी की गाड़ियां व एंबुलेंस चलाते रहे हैं। इतना नहीं पूछताछ में सलीम ने एक बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि मुख्तार अंसारी ने फर्जी पते पर सलीम को लाइसेंसी असलहा दिलाया। इसका मुकदमा मऊ के दक्षिण टोला थाना क्षेत्र में चल रहा है और यह जमानत पर बाहर है। STF ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद जनपद बाराबंकी में दर्ज हुए मुकदमे व दक्षिण टोला मऊ जनपद में दर्ज मुकदमे के द्वारा सलीम को दाखिल करते हुए कार्यवाही की जा रही है।

खबरें और भी हैं...