लखनऊ पुलिस का अमानवीय चेहरा:चौकी में महिला को गाली देने वाला दरोगा अब पुलिस कमिश्नर ऑफिस से हुआ अटैच, लीपापोती में लगा पुलिस विभाग

लखनऊ6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अंबरगंज पुलिस चौकी। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
अंबरगंज पुलिस चौकी। (फाइल फोटो)

राजधानी लखनऊ के सआदतगंज की अम्बरगंज चौकी में महिला के साथ अभद्रता और उसे गाली देने वाला चौकी इंचार्ज अब पुलिस कमिश्नर कार्यालय का कामकाज संभलेगा। मामले का वीडियो सामने आने के बाद पुलिस कमिश्नर ने लीपापोती करते हुए यह कार्रवाई की है। हालांकि, मामले की जांच करने की जिम्मेदारी ACP बाजारखाला को सौंपी गई है।

महिला को गाली देकर कमरे में बंद कर दिया था
प्रेमी के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में रहने वाली महिला को 18 जुलाई की रात अम्बरगंज चौकी बुलाया गया था। उसपर आरोप था कि, प्रेमी को बंधक बनाकर रखे है। उसे हर रोज प्रताड़ित करती है। प्रेमी और बेटे के साथ महिला चौकी पहुंची। पुलिसवाले उसपर तमाम आरोप लगाकर पूछताछ करने लगे। झल्लाहट में महिला ने भी हंगामा शुरू कर दिया। करीब 3 घंटे तक बवाल चलता रहा। मगर कोई अफसर मौके पर नहीं गया। आरोप है कि इस दौरान चौकी प्रभारी राजेश कुमार चौरसिया ने बेहद आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग करते हुए महिला को गाली दी। पूछताछ के नाम पर उसे कमरे में बंद कर लिया गया। महिला का बेटा मां को छोड़ने के लिए पुलिसवालों के सामने गिड़गिड़ाता रहा। उसे भी गाली देकर भगा दिया गया।

फजीहत होती देख अफसरों ने की लीपा-पोती
घटना की जानकारी होने के बावजूद अफसर दरोगा और बाकी पुलिसवालों की करतूत को दबाने में लगे रहे। मगर सोमवार (19 जुलाई) दोपहर तक पुलिसवालों के गाली-गलौच की वीडियो सामने आने के बाद मामले तूल पकड़ने लगा। इसके बाद शासन से भी लखनऊ पुलिस से जवाब मांगा जाने लगा। मामला बिगड़ता देख पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने दरोगा राजेश कुमार चौरसिया को पुलिस कमिश्नर ऑफिस से संबद्ध कर दिया, लेकिन बाकी पुलिसकर्मियों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। ACP बाजारखाला विजय राज सिंह का कहना है कि मामले की विभागीय जांच की जा रही है। जो भी सच्चाई सामने आएगी, उसके आधार पर आगे कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...