• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Sudden Health Had Deteriorated In The House Located In Lucknow Gomtinagar Extension, Posted Under The Protection Of Former Chief Minister Akhilesh Yadav

पूर्व मुख्यमंत्री के सुरक्षा कर्मी की संदिग्ध हालात में मौत:लखनऊ गोमतीनगर विस्तार स्थित घर में बिगड़ी थी अचानक तबियत, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सुरक्षा में रह चुके हैं तैनात

लखनऊएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो।

लखनऊ में सोमवार पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सुरक्षा में तैनात रहे दरोगा धर्मेंद्र यादव (30) की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। अप्रैल में धर्मेंद्र की सर्विस रिवाल्वर से चली गोली से एक युवती घायल हो गई थी। जिसके चलते वह निलंबित चल रहे थे। थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। एसीपी गोमतीनगर श्वेता श्रीवास्तव ने बताया कि मूलरूप से जौनपुर सराय ख्वाजा निवासी धर्मेंद्र यादव की 2018 में दरोगा पद पर पुलिस में भर्ती हुई थी। गोमतीनगर विस्तार खरगापुर में धर्मेंद्र अपनी पत्नी प्रियंका व दो बच्चों के साथ रहते थे। वह पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की सुरक्षा में तैनात थे। एसीपी के मुताबिक परिवारिजनों ने बताया कि सोमवार सुबह करीब 11 बजे तक अपने कमरे में सो रहे थे। दोपहर बाद भी न जागने पर पत्नी उन्हें उठाने पहुंची। धर्मेंद्र के कोई जवाब न देने पर परिजन लोहिया अस्पताल में ले गए। जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। परिवारीजनों का कहना है कि वह काफी दिनों से डिप्रेशन में चल रहे थे। उन्होंने अनहोनी की आशंका जताई है। पोस्टमाटर्म रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

पत्नी से विवाद के बाद चला दी थी सर्विस रिवाल्वर से गोली, किरायेदार युवती हुई थी घायल
एसीपी गोमतीनगर श्वेता श्रीवास्तव ने बताया कि धर्मेंद्र यादव ने 20 अप्रैल को पत्नी से विवाद के बाद अपनी सर्विस रिवाल्वर से फायर कर दिया। गोली उनके घर पर किराए पर रहने वाली अंशिका गुप्ता को लग गई। जिसका गोमतीनगर विस्तार थाने में मुकदमा दर्ज हुआ था और धर्मेंद्र को जेल जाना पड़ा था। तभी से दरोगा धर्मेंद्र निलंबित चल रहा था। परिजनों का कहना था उस घटना के बाद से परेशान रहने लगे और डिप्रेशन में चले गए।

खबरें और भी हैं...