केंद्रीय टीम पहुंची यूपी, स्वास्थ्य सेवाओं को परखा:दिल्ली से आई टीम ने लखनऊ में तैयारियों का लिया जायजा, 3rd राउंड सीरो सर्वे के लिए सैंपल कलेक्शन की हुई शुरुआत

लखनऊ8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दिल्ली से आएं केंद्रीय दल ने सोमवार को लोकबंधु अस्पताल में कोरोना के उपचार की तैयारियों को परखा - Dainik Bhaskar
दिल्ली से आएं केंद्रीय दल ने सोमवार को लोकबंधु अस्पताल में कोरोना के उपचार की तैयारियों को परखा

कोरोना की तीसरी लहर के संभावित खतरे को देखते हुए, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की टीम लखनऊ पहुंची। चार सदस्यीय टीम सोमवार को सुबह करीब 10 बजे लखनऊ पहुंची। टीम ने अस्पताल से लेकर एयरपोर्ट तक सुविधाओं का जायजा लिया। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग के अफसर टीम को लेकर लालबाग में बने इंटेग्रेटेड कोविड कमांड सेंटर ले गए। यहां कर्मचारियों के कामकाज के तरीके को देखा। इसके बाद टीम ने लोकबंधु कोविड अस्पताल का जायजा लिया।

लोकबंधु में PICU-NICU वार्ड का लिया जायजा

लोकबंधु का PICU-NICU वार्ड
लोकबंधु का PICU-NICU वार्ड

लोकबंधु में टीम ने सबसे पहले कोरोना टीकाकरण को परखा। फिर कोरोना संक्रमित बच्चों के भर्ती की व्यवस्था देखी। यहां के PICU-NICU वार्ड देखने के साथ ही यहां की व्यवस्थाओं के बाबत भी टीम ने जानकारी हासिल की। साथ ही जरूरी दवाओं की उपलब्धता को लेकर भी बातचीत की। लोकबंधु के चिकित्सा अधीक्षक डॉ.अजय शंकर त्रिपाठी ने बताया कि टीम ने अस्पताल परिसर में उपलब्ध सेवाओं व व्यवस्था का अवलोकन किया है। कुछ जरूरी सुझाव भी दिए है। वही, इस दौरान सेंट्रल टीम के साथ मौजूद रहे डिप्टी सीएमओ डॉ. मिलिंद वर्धन ने बताया कि लखनऊ में 28 ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा चुके हैं। सभी चालू हाल में हैं, इसके अलावा 34 अस्पताल में 4080 कोविड बेड आरक्षित किए गए हैं।

लखनऊ में सीरो सर्वे के लिए हुआ सैंपल कलेक्शन

राजधानी में सोमवार से 3rd सीरो सर्वे के तहत सैंपल कलेक्शन की शुरुआत हुई। स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने अलग-अलग इलाकों में जाकर पहले से चिन्हित लोगों के नमूने एकत्र किए। जिला स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी योगेश रघुवंशी के मुताबिक कुल 100 लोगों के नमूने लिए जाने हैं। इसके लिए पांच कैटेगरी तय की गई हैं। केंद्र सरकार की तरफ से उनके नाम भेजे गए हैं। प्रत्येक कैटेगरी में 20 लोगों को शामिल किया गया है। सोमवार को करीब 40 लोगों के नमूने एकत्र किए गए हैं। दो से तीन दिन में बाकी लोगों के खून के नमूने एकत्र किए जाने हैं। सैंपल कलेक्शन करके KGMU भेजे जाएंगे।