पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

टेरर फंडिंग-रोहिंग्या से लिंक की तलाश:UP के 3 जिलों और मुंबई-हैदराबाद में ATS की छापेमारी; संत कबीरनगर से एक रोहिंग्या गिरफ्तार, 6 संदिग्धों से पूछताछ

लखनऊ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ATS ने संत कबीरनगर से अजीजुल हक नाम के एक रोहिंग्या को गिरफ्तार किया है। - Dainik Bhaskar
ATS ने संत कबीरनगर से अजीजुल हक नाम के एक रोहिंग्या को गिरफ्तार किया है।

उत्तर प्रदेश की एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड (ATS) ने टेरर फंडिंग की आशंका चलते बुधवार को 3 जिलों में छापेमारी की। वहीं रोहिंग्याओं से जुड़े मामले में भी ATS ने मुंबई और हैदराबाद में छापे मारे। उत्तर प्रदेश में खलीलाबाद (संत कबीरनगर), बस्ती और अलीगढ़ में पांच ठिकानों पर छापेमारी चल रही है। इस दौरान खलीलाबाद से एक रोहिंग्या को गिरफ्तार किया गया है। वह बीते 20 सालों से अवैध तरीके से यहां रह रहा था। जांच में उसके पास से फर्जी दस्तावेज बरामद हुए हैं।

इसके अलावा ATS छह संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। संत कबीरनगर के खलीलाबाद ब्लॉक में तैनात जूनियर इंजीनियर (JE) को यूपी ATS टीम ने हिरासत में लिया है। खुफिया एजेंसी के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, सभी संदिग्धों से फर्जी दस्तावेज और फंडिंग करने की बात पाई गई है।

उत्तर प्रदेश के ADG लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार।
उत्तर प्रदेश के ADG लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार।

जांच में फंडिंग की बात उजागर
अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि ATS ने संत कबीरनगर से अजीजुल हक नाम के एक रोहिंग्या को गिरफ्तार किया है। वह अवैध रूप से साल 2001 में भारत में प्रवेश करके संत कबीरनगर के खलीलाबाद क्षेत्र में रह रहा था। ATS की पूछताछ में उसने यह बताया है कि उसके कुछ साथी देश के अलग-अलग राज्यों में रह रहे हैं। ATS इसकी जांच में लगी है। अजीजुल हक के खाते में अलग-अलग जगह से रुपए आए हैं, इसकी भी जानकारी ATS को मिली है।

खुद को बताया अनाथ, बाद में परिवार को लेकर आया

ADG प्रशांत कुमार ने बताया कि अजीजुल हक संतकबीर नगर में बदरे आलम के घर रह रहा था। बदरे आलम के अनुसार, अजीजुल हक उसका सगा बेटा नहीं है और ना ही उसका कोई रिश्तेदार है। उसने बताया कि वह मेरे बेटे इनायतुल्लाह को मुंबई में मिला था। अजीजुल हक से उसने खुद को अनाथ बताया। जिस पर उसे दया आ गई और मेरा बेटा उसे घर लेकर आ गया। अजीजुल हक साल 2017 में अपनी मां आबिद खातून, बहन फातिमा खातून, दो भाई जिया उल हक और मोहम्मद नूर को भी भारत लाया है। उसने परिवार के भी फर्जी दस्तावेज तैयार करा लिया है।

दो पासपोर्ट, 5 बैंकों की पासबुक मिली

एडीजी ने बताया कि अजीजुल हक के पास से दो भारतीय पासपोर्ट, 3 आधार कार्ड, एक पैन कार्ड, 3 डेबिट कार्ड, राशन कार्ड और 5 बैंकों की पासबुक मिली है। वह म्यांमार में नयाफारा, थाना बुलिडंग, जिला आक्याब रखाइन का रहने वाला है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें