लखनऊ बिल्डिंग हादसे में सास-बहू की मौत:मलबे में दबे लोगों ने फोन करके बचाने की गुहार लगाई, आसपास की बिल्डिंग कराई जाएंगी खाली

लखनऊ3 दिन पहले
बुधवार सुबह रेस्क्यू के दौरान टीम ने महिला को बाहर निकाला। सिविल अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

लखनऊ में मंगलवार शाम हुए बिल्डिंग हादसे में सास-बहू की मौत हो गई। 19 घंटे से जारी रेस्क्यू ऑपरेशन में अब तक 14 लोगों को निकालकर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस 5 मंजिला बिल्डिंग के मलबे में 15 से ज्यादा लोग दबे थे। उन्होंने खुद अपने परिवार को फोन लगाकर बचा लेने की गुहार लगाई।

तस्वीर बुधवार सुबह की है। मलबे में दबे लोगों को बचाने के लिए SDRF टीम रेस्क्यू में लगी हुई है।
तस्वीर बुधवार सुबह की है। मलबे में दबे लोगों को बचाने के लिए SDRF टीम रेस्क्यू में लगी हुई है।

हादसा मंगलवार शाम करीब 6:30 बजे हुआ। DGP डीएस चौहान के अनुसार जो लोग बिल्डिंग के बेसमेंट में फंसे हैं। उनको लगातार ऑक्सीजन देने का प्रयास हो रहा है। इनसे फोन पर भी बात की गई है। मरने वाली महिलाओं में पूर्व कांग्रेस नेता जीशान हैदर की मां और भाई की पत्नी शामिल हैं।

यह तस्वीर पूर्व कांग्रेसी नेता जीशान हैदर की है। हादसे में मां और भाई की पत्नी की मौत हो गई।
यह तस्वीर पूर्व कांग्रेसी नेता जीशान हैदर की है। हादसे में मां और भाई की पत्नी की मौत हो गई।

बिना नक्शा पास कराए खुदाई की वजह से इमारत गिरी, पूर्व मंत्री का बेटा हिरासत में
अलाया अपार्टमेंट के बेसमेंट में मंगलवार को खुदाई चल रही थी, तभी यह इमारत ढह गई। पुलिस ने पूर्व मंत्री शाहिद मंजूर के बेटे नवाजिश को हिरासत में लिया है। बिल्डिंग उन्हीं की है। अलाया अपार्टमेंट करीब 15 साल पहले बना था। इसमें 30-35 परिवार रह रहे थे। इस इमारत को बनाने के समय न सेटबैक छोड़ा गया और न जरूरी संपर्क मार्ग। LDA के सूत्रों की मानें तो अभी तक बिल्डिंग का कोई नक्शा सामने नहीं आया है।

अलाया अपार्टमेंट के मालिक नवाजिश मंजूर को पुलिस ने मेरठ से हिरासत में लिया है। पुलिस टीम उन्हें लखनऊ लाई है।
अलाया अपार्टमेंट के मालिक नवाजिश मंजूर को पुलिस ने मेरठ से हिरासत में लिया है। पुलिस टीम उन्हें लखनऊ लाई है।

रेस्क्यू ऑपरेशन के अपडेट्स

  • एलियंस इंद्रमणि त्रिपाठी ने बताया कि बिल्डिंग का नक्शा बिल्कुल भी पास नहीं था। 2 अगस्त 2010 को इसे गिराने का आदेश भी जारी हो चुका था।
  • 12 साल, 5 महीने से इस आदेश को दबाए बैठे थे एलडीए के अधिकारी।
  • एक आदमी के फंसे होने की आशंका जताई जा रही है। ड्रिल का काम रोक दिया गया है। अब मलबा हटाने का काम चल रहा है।
  • तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है। इस कमेटी में लखनऊ के आयुक्त रोशन जैकब, संयुक्त पुलिस आयुक्त लखनऊ पीयूष मोर्डिया और चीफ इंजीनियर PWD लखनऊ को शामिल किया गया है। यह कमेटी एक सप्ताह में रिपोर्ट सरकार को देगी।
  • अगल-बगल के भवनों की जांच कराई जा रही है। उनको अगर कोई नुकसान हुआ होगा तो एहतियात के तौर पर उसको खाली कराया जाएगा।
  • अलाया अपार्टमेंट के आसपास की बिल्डिंग खाली कराई जाएगी। इसको लेकर अभियान तेज कर दिया गया है। LDA और नगर निगम इसको लेकर संयुक्त अभियान चलाएगा।
  • सपा विधायक शाहिद मंजूर के बेटे नवाजिश, भतीजा और यजदान बिल्डर्स के खिलाफ FIR दर्ज कराई गई है।
  • सिविल और बलरामपुर अस्पताल में रेस्क्यू कर लाए गए लोगों का इलाज चल रहा है। उन्हें ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया है।
मंगलवार रात से चल रहे रेस्क्यू ऑपरेशन के बुधवार दोपहर तक खत्म होने की उम्मीद है।
मंगलवार रात से चल रहे रेस्क्यू ऑपरेशन के बुधवार दोपहर तक खत्म होने की उम्मीद है।
मंगलवार देर रात की यह तस्वीर बता रही है कि हादसा कितना भयावह है।
मंगलवार देर रात की यह तस्वीर बता रही है कि हादसा कितना भयावह है।
तस्वीर मंगलवार रात की है। बचाव कार्य में 12 से ज्यादा JCB की मदद ली जा रही है।
तस्वीर मंगलवार रात की है। बचाव कार्य में 12 से ज्यादा JCB की मदद ली जा रही है।
इमारत के मलबे में दबे एक बुजुर्ग को रेस्क्यू करती टीम।
इमारत के मलबे में दबे एक बुजुर्ग को रेस्क्यू करती टीम।
देर रात तक मलबे में से लोगों को निकाला गया। अब तक 15 लोगों का रेस्क्यू हुआ।
देर रात तक मलबे में से लोगों को निकाला गया। अब तक 15 लोगों का रेस्क्यू हुआ।
हादसे के बाद मलबे में दबे अपनों के लिए लोग परेशान होने लगे। चीख-पुकार मच गई।
हादसे के बाद मलबे में दबे अपनों के लिए लोग परेशान होने लगे। चीख-पुकार मच गई।
बुरी तरह रो रही इस महिला के परिवार के कुछ लोग मलबे में ही दबे रह गए थे।
बुरी तरह रो रही इस महिला के परिवार के कुछ लोग मलबे में ही दबे रह गए थे।
हादसे के बाद अपने छोटे बच्चे को संभालता पिता। साथ में रेस्क्यू किए गए लोग।
हादसे के बाद अपने छोटे बच्चे को संभालता पिता। साथ में रेस्क्यू किए गए लोग।
बिल्डिंग के अंदर रह रहे लोगों के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है।
बिल्डिंग के अंदर रह रहे लोगों के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है।

रेस्क्यू किए गए लोग बोले- बेसमेंट में पाइप डलवा रहे थे, इसी वजह से हुआ हादसा
फ्लैट 404 में हनी हैदर के यहां काम करने वाली शाहजहां बानो को 12 घंटे बाद रेस्क्यू किया गया। शाहजहां ने बताया कि हम लोग चाय बनाकर पी रहे थे। गैस जल रही थी। अचानक बिल्डिंग से चट-चट की आवाज आने लगी। 10 मिनट के अंदर ही बिल्डिंग गिरने लगी। हम लोग उसी में फंसे रह गए।

अलाया अपार्टमेंट के फ्लैट नंबर 301 में रहने वाली रंजना अवस्थी और उनकी बेटी आलोका अवस्थी को रेस्क्यू किया गया है। आलोका ने बताया, "मेरठ के शाहिद मंजूर ने ही पेंटहाउस बनवाया था। शाहिद मंजूर इमारत के बेसमेंट में पाइप डलवाने का काम करा रहे थे। पिछले तीन दिनों से ये काम चल रहा था। मैंने इस बात का विरोध भी किया था। विरोध करने पर एक दिन पहले हंगामा भी हुआ था।"

ये शाहजहां बानो हैं। 12 घंटे तक मलबे में फंसी रहीं। बुधवार सुबह रेस्क्यू कर इन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।
ये शाहजहां बानो हैं। 12 घंटे तक मलबे में फंसी रहीं। बुधवार सुबह रेस्क्यू कर इन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया।

सिविल अस्पताल में भर्ती मरीज

  • मोहम्मद खान - 59 साल पुरुष
  • आफरीन फातिमा - 32 साल महिला
  • नसरीन - 52 साल महिला
  • शाहजहां - 50 साल महिला
  • आलोका अवस्थी - 30 साल महिला
  • रंजना अवस्थी - 58 साल महिला
  • मुस्तफा हैदर - 6 साल पुरुष
  • अमीन हैदर - 86 साल पुरुष
  • अशलय बर्न - 70 साल पुरुष - यह डिस्चार्ज हो गए

खबर से जुड़ी ये लिंक भी पढ़ें-

लखनऊ अलाया अपार्टमेंट हादसा हिरासत में पूर्व मंत्री का बेटा

मेरठ में देर रात पुलिस सपा विधायक शाहिद मंजूर के जलीकोठी घर पर पहुंची, सफेद कुर्ते में विधायक शाहिद मंजूर से बात करती पुलिस।
मेरठ में देर रात पुलिस सपा विधायक शाहिद मंजूर के जलीकोठी घर पर पहुंची, सफेद कुर्ते में विधायक शाहिद मंजूर से बात करती पुलिस।

लखनऊ में मंगलवार को हुए अलाया अपार्टमेंट हादसे में अखिलेश यादव की सरकार में श्रम राज्य मंत्री रहे शाहिद मंजूर का परिवार फंस गया है। शाहिद मंजूर के बेटे नवाजिश और भतीजे को हादसे का जिम्मेदार बताया जा रहा है। हादसे का शिकार हुई महिला ने शाहिद मंजूर और उनके बेटे का नाम लिया। वहीं लखनऊ से इनपुट के बाद मेरठ में देर रात पुलिस शाहिद मंजूर के जलीकोठी स्थित घर पर पहुंची। वहां शाहिद और नवाजिश से काफी देर पूछताछ की गई। पूछताछ के बाद पुलिस नवाजिश को देर रात ही लखनऊ ले गई है। जहां आज उससे पूछताछ होगी। वहीं पुलिस ने विधायक के परिवार को शहर न छोड़ने का नोटिस भी दिया है। पूरी खबर पढ़ें--

NDRF के साथ आर्मी टीम रेस्क्यू में जुटी

लखनऊ के हजरतगंज स्थित 5 मंजिला अलाया बिल्डिंग मंगलवार शाम गिर गई। मलबे में 3 लोग दबे हैं। इनमें 2 महिलाएं हैं। 12 घंटे से इन्हें रेस्क्यू करने के लिए ऑपरेशन जारी है। NDRF के साथ आर्मी टीम रेस्क्यू में जुटी हैं।

हादसा मंगलवार शाम करीब 6:30 बजे हुआ। DGP डीएस चौहान के अनुसार अभी तक कि 12 लोगों को रेस्क्यू करके निकाला गया है। करीब 5 लोग अभी भी बिल्डिंग के बेसमेंट में फंसे होने की आशंका है। उनको लगातार ऑक्सीजन देने का प्रयास हो रहा है। इनसे फोन पर भी बात की गई है। पूरी खबर पढ़ें..