• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • The Family Had Come To Lucknow From Ayodhya To Demand Punishment For The Murder Of The Daughter And The Accused Of Rape, The Police Returned It From The Station.

किसान आंदोलन के शोर में दब गई पीड़ितों की आवाज:बेटी की हत्या और रेप के आरोपी को सजा दिलाने की मांग करने अयोध्या से लखनऊ आया था परिवार, पुलिस ने स्टेशन से लौटाया

लखनऊएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सूबे के मुख्यमंत्री से न्याय की मांग करने अयोध्या से लखनऊ आये एक पीड़ित परिवार की आवाज सोमवार को किसान आंदोलन के शोर में दबकर रह गयी। पुलिस ने उन्हें चारबाग स्टेशन पर ही रोक लिया और कानून व्यवस्था का हवाला देकर बैरंग लौटा दिया।

अयोध्या के महराजगंज क्षेत्र में 4 अक्टूबर को दबंगो ने 11 साल की बच्ची को अगवा करके रेप किया था। इसके बाद तेजाब डालकर उसे जलाया और फिर चाकू से गोदकर हत्या कर दी। पीड़ित परिजनों का आरोप है घटना के इतने दिन बाद भी आरोपियों को पुलिस पकड़ नहीं रही है। परिवार के साथ आये पवन सिंह चौहान का कहना है कि चार अक्टूबर को बच्चे घर से खेत के लिए निकली थी। वहीं पर कुछ लोगों ने उसका अपहरण कर लिया। सात अक्टूबर को उसकी लाश बरामद हुई। हत्या से पहले उस 11 वर्षीय नाबालिग बच्ची पर तेजाब डाला गया और बाद में चाकू से गोदा गया था। पुलिस ने कार्रवाई करते हुए कई आरोपियों को पकड़ा था, लेकिन बाद में सिर्फ एक को छोड़कर सभी को रिहा कर दिया। हमारी मांग है कि पीड़ित परिवार को न्याय मिलना चाहिए जो भी दोषी हो उनकी गिरफ्तारी होनी चाहिए। मामले की सीबीआई जांच हो और दोषियों को फांसी की सजा मिले। इतना ही नहीं पीड़ित परिवार को सरकार से मुआवजे की भी मांग की है। न्याय की आस में लखनऊ पहुंची मृतक की मां के आंसू थम नहीं रहे हैं। पुलिस से हाथ जोड़कर मां ने न्याय की गुहार लगाई। पूरा वाकया सुनाया कि किस तरह से बेटी के साथ दरिंदों ने दरिंदगी की।

ACP ने दिया न्याय दिलाने का आश्वासन

परिवार को रोकने वाले एसीपी राघवेंद्र मिश्रा का कहना है कि यह घटना अयोध्या के महाराजगंज थाना क्षेत्र में हुई थी। इसे लेकर न्याय की उम्मीद में परिवार के लोग लखनऊ आए थे। उनसे रेलवे स्टेशन पर ज्ञापन लिया गया है और उन्हें भरोसा दिया गया है कि उच्चाधिकारियों तक उनकी मांग पहुंचाई जाएगी उन्हें न्याय जरूर दिलाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...