टिकट के दावेदारों ने लखनऊ में डाला डेरा:नेताओं की भागदौड़ से होटल व्यवसायी खुश; कमरा नहीं मिलने पर लेनी पड़ रही रिश्तेदारों के घर शरण

लखनऊ5 महीने पहले
प्रत्याशियों के आने से होटल इंडस्ट्री का बढ़ा कारोबार।

विधानसभा चुनाव को लेकर आचार संहिता लागू होते ही टिकट के दावेदारों की दौड़ शुरू हो गई है। दावेदारों ने समर्थकों के साथ लखनऊ में डेरा डाल दिया है। बड़े नेताओं की परिक्रमा शुरू कर दी है और हर हाल में टिकट पाने के लिए जुगत लगा रहे हैं। वहीं नेताओं की भाग-दौड़ से होटल व्यवसायी खुश नजर आ रहे हैं। सबसे ज्यादा फायदा पार्टी कार्यालय के आस-पास बने होटल मालिकों का हो रहा है। आलम यह है कि बड़े से लेकर छोटे होटल में कमरा नहीं मिल रहा है।

सपा नेता को रिश्तेदार के यहां लेनी पड़ी शरण
बांदा से लखनऊ आए सपा नेता राजीव यादव ने बताया कि रविवार रात उनको लालबाग और हजरतगंज के इलाके में होटल नहीं मिला। ऐसे में ठहरने के लिए आलमबाग इलाके में रहने वाले एक रिश्तेदार के यहां जाना पड़ा। उन्होंने बताया कि ऐसी समस्या कई लोगों के साथ हो रही है। स्थिति यह है कि होटल के साथ- साथ सभी सरकारी गेस्ट हाउस तक बुक हो चुके हैं। गेस्ट हाउस की बुकिंग वर्तमान और पूर्व विधायकों ने पहले से ही करा ली है।

नेताओं की भाग-दौड़ से बढ़ा व्यवसाय
लखनऊ होटल एसोसिएशन के उपाध्यक्ष राकेश छाबड़ा पम्मी बताते हैं कि बुकिंग बढ़ी है। हालांकि, इसका फायदा कुछ तबके को मिल पाएगा। उन्होंने बताया कि प्रत्याशी अपने साथ कई समर्थक लेकर आते हैं। ऐसे में उनको ऐसा होटल चाहिए होता है, जहां वह अपने कार्यकर्ताओं के साथ रुक सकें। इसके लिए बहुत महंगे होटल की जगह वह लोग मध्यम वर्ग के होटल में ठहरना पंसद करते हैं। राकेश छाबड़ा ने बताया कि लालबाग, हजरतगंज, चारबाग, हलवासिया, गोमती नगर, विश्वास खंड, हुसैनगंज, नाका क्षेत्र के होटलों को फायदा होगा।

20 हजार से ज्यादा प्रत्याशी और समर्थकों ने लखनऊ में डाला डेरा

बता दें कि यूपी में 403 विधानसभा सीट हैं। वहीं मौजूदा समय में 4 बड़ी पार्टी हैं। इस हिसाब से देखा जाए तो उम्मीदवारों की संख्या 1612 पहुंच रही है। एक-एक सीट पर पांच से 10 लोग दावा पेश कर रहे हैं। ऐसे में यह संख्या 16 हजार से ज्यादा हो रही है। सपा और भाजपा में यह संख्या और बढ़ रही है। सबसे ज्यादा भीड़ भी इन्हीं दो पार्टी के कार्यालय पर पहुंच रही है। सोमवार को अकेले सपा कार्यालय पर सुबह से लेकर दोपहर दो बजे तक करीब 5000 से ज्यादा लोगों का जमावड़ा लगा हुआ था। जानकारों का कहना है कि पूरे दिन में 20 हजार से ज्यादा नेता और उनके समर्थक लखनऊ पहुंच चुके ह

खबरें और भी हैं...