• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Threatening To Nanak Shahi Math In Lucknow: Threat To Blow Up Nanak Shahi Math With A Bomb After Aliganj Hanuman Temple And Mankameshwar Temple In Lucknow

लखनऊ में अब... मठ को बम से उड़ाने की धमकी:हनुमान और मनकामेश्वर मंदिर के बाद नानक शाही मठ पहुंचा धमकी भरा पत्र, लिखा था- फौरन रिहा करें हमारे मुजाहिद, नहीं तो 15 अगस्त को बड़ी वारदात होगी

लखनऊ9 महीने पहले

लखनऊ में सोमवार को खदरा स्थित नानक शाही मठ को बम से उड़ाने की धमकी मिली है। मठ के नाम रजिस्टर्ड डाक से एक पत्र भेजा गया। इसमें धमकी के साथ हिंदू समुदाय को लेकर बेहद आपत्तिजनक शब्द लिखे गए हैं। पत्र हाथ लगते ही मठ के महंत धर्मेंद्र दास हसनगंज थाने पहुंचे। उन्होंने पुलिस को बताया कि यह मठ उदासीन संप्रदाय संगत से जुड़ा हुआ है। जेहादी धमकी भरे पत्र से मठ के लोग काफी डरे हुए हैं। बता दें, इससे पहले अलीगंज स्थित नया हनुमान मंदिर, मनकामेश्वर मंदिर व RSS (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) कार्यालय को भी धमकी मिली थी।

जांच के लिए फॉरेंसिक लैब भेजा गया लेटर
हसनगंज के इंस्पेक्टर यशकांत ने बताया कि महंत की तहरीर पर केस दर्ज कर लिया गया है। इसके पहले अलीगंज नया हनुमान मंदिर और मनकामेश्वर मंदिर को भेजे गए पत्र में जो बातें लिखी थी ठीक वही इस पत्र में भी है। लेटर की राइटिंग और इंक भी एक जैसा ही है। इसकी जांच के लिए लेटर को फॉरेंसिक लैब भेजा जा रहा है।

फौरन रिहा करें हमारे मुजाहिद, नहीं तो 15 अगस्त को देंगे बड़ी वारदात को अंजाम
महंत धर्मेंद्र दास ने बताया कि पत्र में लिखा गया है, 'जिन मुजाहिदों को आपकी हुकूमत की इन्तहाई फिरकापरस्त सोच की वजह से गिरफ्तार किया गया है। उन्हें फौरन रिहा कर दिया जाए। हमारी कौम से सब्र का इम्तिहान न लिया जाए'। इसके अलावा लिखा गया कि शहर के प्रमुख मंदिर और RSS कार्यालय निशाने पर है। 15 अगस्त से एक दिन पहले अगर पकड़े गए हमारे लोगों की रिहाई न हुई तो बड़ी वारदात को अंजाम दिया जाएगा। पत्र में महिलाओं के लिए बेहद आपत्तिजनक शब्द लिखे गए हैं। लिफाफे पर प्रेषक का नाम जोगिन्दर सिंह और पता खदरा दिया गया।

एक आरोपी को पुलिस कर चुकी है गिरफ्तार
इसके पहले अलीगंज स्थित नया हनुमान मंदिर और मनकामेश्वर मंदिर को मिले धमकी भरे पत्र के मामले में पुलिस ने दिल्ली निवासी शफीक को गिरफ्तार किया था। पुलिस को उसके पास से पत्र की फोटो कापी भी बरामद हुई थी। ATS और इंटेलिजेंस टीम ने भी शफीक से पूछताछ की थी। वह धार्मिक कट्टरपंथी, मदसरों में रहा था। कई महिलाएं और लड़िकयां उससे जुड़ी थीं। उसने बताया था कि धर्मांतरण के लिए लोगों से संपर्क बना रहा है। हालांकि, उसने अपना फोन फॉर्मेट कर दिया था। पुलिस उसके फोन का डेटा रिकवर करने का प्रयास कर रही है।

खबरें और भी हैं...