पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

UP कोविड-19 कंट्रोल:कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए आज से लखनऊ समेत UP के 75 जिलों में शुरू सीरो अभियान, 16 मलिन बस्तीयों के भी लिए जाएंगे नमूने

लखनऊ3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चार से सात जून तक सीरो अभियान चलाया जाएगा। तीन दिनों तक 1434 लोगों के नमूने लिए जाएंगे। - Dainik Bhaskar
चार से सात जून तक सीरो अभियान चलाया जाएगा। तीन दिनों तक 1434 लोगों के नमूने लिए जाएंगे।

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से दो-दो हाथ करने में उत्तर प्रदेश की सरकार प्रयासरत है। कोरोना से निपटने के लिए अब सीरो (प्राईमरी सैपलिंग यूनिट) अभियान का सहारा लिया जाएगा। शुक्रवार यानी आज से लखनऊ समेत सभी 75 जिलों में यह अभियान शुरू होने जा रहा है। जो चार से सात जून तक चलाया जाएगा। इस सर्वे के माध्यम से यह पता लगाया जाएगा कि किस जिले के किस क्षेत्र में कितना संक्रमण फैला है। साथ ही आबादी का कितना हिस्सा संक्रमण की चपेट में है।

31 प्राईमरी सैपलिंग यूनिट्स का चयन किया गया है। लखनऊ में कोरोना की दूसरी लहर से सभी लोगों में खौफ है। वहीं, अब तीसरी लहर आने की आशंका है। माना जा रहा है कि ऐसे में सीरो अभियान मददगार साबित होगा। यह तीन दिन तक सर्वे चलेगा। ताकि कोरोना वायरस से निपटने के लिए उचित प्लान बनाए जा सके। स्वास्थ्य विभाग ने सीरो सर्वे से जुड़ी सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं। जांच के लिए हर टीम का क्षेत्र चिह्नित किया गया है। कुल मिलाकर शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में चलने वाले इस अभियान के तहत 1434 लोगों के नमूने लिए जाएंगे।

तीन दिनों तक सीरो सर्वे के तहत 1434 लोगों के नमूने लिए जाएंगे
चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉ. संजय भटनागर ने बताया कि तीन दिनों तक सीरो सर्वे के तहत 1434 लोगों के नमूने लिए जाएंगे। सीरो सर्वे के तहत खून के नमूने लिए जाएंगे। सभी नमूनों को जांच के लिए किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय (केजीएमयू) में भेजा जाएगा। जहां जांच कर रिपोर्ट तैयार की जाएगी। जिसे स्वास्थ्य विभाग से उच्च अधिकारियों को भेजा जाएगा। ताकि कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिए रणनीति बनाई जा सके।

16 मलिन बस्तीयों के लोगों के भी लिए जाएंगे नमूने
एडिशनल चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉ. मिलिंद वर्धन ने बताया कि सर्वे के तीनों दिन अलग-अलग स्थानों के लोगों के खून का नमूने लिए जाएंगे। प्रत्येक दिन स्वास्थ्य विभाग की टीम 31 सामान्य व्यक्तियों के नमूने लेगी। 16 मलिन बस्तीयों के लोगों के नमूने लिए जाएंगे। वहीं, 60 ऐसे लोगों के नमूने लिए जाएंगे, जो दूसरी लहर में पॉजिटिव हुए हैं। इसके अलावा कोरोना के लक्षण वालों लोगों की जांच भी की जाएगी। जिन लोगों में कोरोना के लक्षण प्रतीक होंगे। टीम के पास एंजीटन और आरटी-पीसीआर जांच करने की सुविधा होगी।

खबरें और भी हैं...