कांशीराम के परिनिर्वाण दिवस पर मायावती का शक्ति प्रदर्शन:चुनाव से 6 महीने पहले इलेक्शन सर्वे पर रोक लगे; भाजपा सरकार कोई भी घटना करवा सकती है, ताजा उदाहरण लखीमपुर खीरी का है

लखनऊ7 महीने पहले

बहुजन समाज पार्टी के संस्थापक कांशीराम के 15वें परिनिर्वाण दिवस पर शनिवार को मायावती ने कहा कि चुनाव शुरू होने से छह महीने पहले किसी भी तरह के चुनाव सर्वे पर रोक लगाई जानी चाहिए। हम इसके लिए चुनाव आयोग को पत्र लिखेंगे। सत्ता में बैठी पार्टियां सर्वे के बहाने अपना प्रचार करवाती हैं।

हम सभी ने देखा है कि बंगाल में ममता बनर्जी को सर्वे में पीछे दिखाया गया था लेकिन जब चुनाव रिजल्ट आया तो वह सबसे आगे रहीं। इसलिए हम सब को भी चुनावी सर्वे से सावधान रहना होगा। बड़े बड़े पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए केंद्र की भाजपा सरकार कोई भी घटना करवा सकती है, ताजा उदाहरण लखीमपुर खीरी का भी हैं।

कार्यक्रम में उमड़ी भीड़।
कार्यक्रम में उमड़ी भीड़।

सरकार बनी तो सबसे ज्यादा फोकस रोजगार पर होगा

मायावती ने कहा कि जनता को विरोधियों के बहकावे में नहीं आना है। BJP, SP, कांग्रेस, AAP वोट के लिए जनता से वादे कर रही हैं, उनमें रत्तीभर भी दम नहीं है। हमारी सरकार बनने पर इस बार सबसे ज़्यादा जोर यहां के गरीब और बेरोज़गार नौजवानों को रोटी रोजी के साधन उपलब्ध कराने पर होगा। इस बार यही हमारी पार्टी का मुख्य चुनावी मुद्दा भी होगा। केंद्र और राज्य की जो भी योजनाएं चल रही हैं उन्हें बदले की भावना से रोका नहीं जाएगा।

बसपा सुप्रीमो ने आम आदमी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि आम आदमी पार्टी हवा हवाई दावे कर रही है। प्रदेश में सपा-भाजपा के सभी कामों की समीक्षा की जाएगी। जनहित के कामों को रोका नहीं जाएगा। भाजपा की तरह कानून व्यवस्था का सुधार कागजों या मीडिया में नहीं बल्कि धरातल पर होगा। नए मेडिकल कॉलेज बनाए जाएंगे। पुराने मेडिकल कॉलेज का कायाकल्प होगा। गरीबों को रोजगार उपलब्ध कराना हमारा मुख्य उद्देश्य होगा।

मायावती ने बसपा संस्थापक को पुष्प अर्पित किया।
मायावती ने बसपा संस्थापक को पुष्प अर्पित किया।

यूपी, पंजाब और उत्तराखंड में दमदारी से चुनाव लड़ेगी बसपा

मायावती ने कहा यूपी पंजाब उत्तराखंड राज्यों में होने वाले चुनाव का आपका ध्यान दिलाना चाहता हूं जिन तीन राज्यों में दमदारी के साथ चुनाव लड़ेगी। हमारी सरकारों में सर्व समाज के लोगों का पूरा पूरा ध्यान रखा गया। हमारी सरकारों में दलितों का विशेष ध्यान रखा गया लेकिन अन्य की सरकारों नहीं रखा गया। हमारी सरकार ने गरीबों मजदूरों वंचितों, दलितों के लिए बहुत से कार्य किए हैं। हमारी सरकार का सत्ता परिवर्तन होने पर बहुत सी सरकार हमारे कार्यो की नकल कर रही हैं।

खबरें और भी हैं...