एंबुलेंस के लिए खोला रास्ता:बाराबंकी से आए श्याम को इमरजेंसी में लोहिया अस्पताल पहुंचना था, पुलिस वालों ने तुरंत बैरियर हटाया, पीएम के लिए बंद था रास्ता

लखनऊ7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का काफिला कार्यक्रम स्थल से एयरपोर्ट के लिए रवाना हो रहा था और इसी दौरान लखनऊ के पिकअप चौराहे से एक सुखद तस्वीर सामने आई। बाराबंकी से आए मरीज श्याम को इमरजेंसी में लोहिया अस्पताल पहुंचाना था। पुलिस ने आपस में समन्वय बनाकर बैरिकेडिंग हटाई और एंबुलेंस के लिए जगह दी।

मरीज के परिजनों ने पुलिसकर्मियों को धन्यवाद दिया। वह समय पर अस्पताल पहुंच गया है। पिकअप चौराहे से महज एक किलोमीटर दूरी पर ही राम मनोहर लोहिया अस्पताल है।

पुलिस ने अगले चौराहे पर खड़े साथियों से बात करके एंबुलेंस के लिए रास्ता क्लियर कराया।
पुलिस ने अगले चौराहे पर खड़े साथियों से बात करके एंबुलेंस के लिए रास्ता क्लियर कराया।
पिकअप चौराहे पर पुलिस ने खुद जगह बनाकर एंबुलेंस को जगह दी।
पिकअप चौराहे पर पुलिस ने खुद जगह बनाकर एंबुलेंस को जगह दी।

सितंबर में लखनऊ यात्रा पर आए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ये सुझाव दिया था कि वीआईपी के लिए ज्यादा देर तक रास्ता बंद न किया जाए। अधिकतम 15 मिनट से ज्यादा कोई सड़क बंद न की जाए। इस दौरान भी इमरजेंसी वाहनों को जाने की छूट मिलनी चाहिए।

कानपुर में राष्ट्रपति की मौजूदगी के दौरान हुई थी महिला की मौत

इससे पहले 28 जून में राष्ट्रपति की कानपुर यात्रा के दौरान एक महिला उघोगपति वंदना मिश्रा की ट्रैफिक जाम में फंसे होने के कारण मौत हो गई थी। उस समय राष्ट्रपति ने महिला की मौत पर दुख जताते हुए स्थानीय अफसरों को निर्देश दिए थे कि इमरजेंसी वाहनों की एंट्री नहीं रोकनी चाहिए। अफसरों ने इस मामले में मृतकों के परिजनों के घर पहुंचकर उनसे माफी मांगी थी।

खबरें और भी हैं...