• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • UP CM Yogi Adityanath Action On Uttar Pradesh Mafia: UP 25 Notorious Mafia Properties Worth Rs 11 Billion 28 Crore Seized, Mafia Atiq Ahmad On First Rank And Mafia Mukhtar Ansari On Second

UP के माफियाओं पर एक्शन:एक साल में 25 माफियाओं की 11 अरब की संपत्तियां सरकार ने जब्त की, पहले नंबर पर अतीक तो दूसरे पर मुख्तार अंसारी

लखनऊ5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कुख्यात अपराधियों की सूची में शामिल अतीक अहमद और मुख्तार अंसारी और सुंदर भाटी (बाएं से) की सबसे अधिक संपत्तियां जब्त की गई हैं। - Dainik Bhaskar
कुख्यात अपराधियों की सूची में शामिल अतीक अहमद और मुख्तार अंसारी और सुंदर भाटी (बाएं से) की सबसे अधिक संपत्तियां जब्त की गई हैं।

उत्तर प्रदेश में प्रदेश के माफियाओं और उनके गुर्गों पर लगातार कार्रवाई की जा रही रही है। वहीं, बीते एक साल में अतीक अहमद और मुख्तार अंसारी समेत 25 माफियाओं की 11 अरब 28 करोड़ 23 लाख 97 हजार 846 रुपए की संपत्तियां जब्त की गई हैं। एडिशनल डीजीपी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने आंकड़ा जारी करते हुए बताया कि कुख्यात अपराधियों की सूची में शामिल अतीक अहमद और मुख्तार अंसारी की सबसे ज्यादा संपत्तियां जब्त की गई हैं।

ADG प्रशांत कुमार ने बताया कि जनवरी 2020 से अप्रैल 2021 के बीच 25 माफियाओं के 22,259 सहयोगियों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट के 5558 मुकदमें दर्ज हुए हैं। इसके साथ ही उनकी संपत्तियां जब्त करने की कार्रवाई की गई। अवैध तरीके से बनाई गई संपत्तियों को जब्त करके इन माफियाओं की कमर तोड़ दी गई है। आर्थिक चोट पहुंचने की वजह से अब यह माफिया भविष्य में अपराध करने के काबिल नही रहेंगे।

अतीक अहमद पहले पायदान पर
गुजरात की साबरमती जेल में बंद प्रयागराज के माफिया और विधायक राजू पाल के हत्यारोपी माफिया अतीक अहमद के गिरोह के 89 सदस्यों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। अतीक व उसके सहयोगियों की 3.25 अरब रुपए से ज्यादा की संपत्ति जब्त हुई है। कई अवैध कब्जे भी मुक्त कराए गए। अतीक गिरोह के 60 सदस्यों के शस्त्र लाइसेंस निरस्त कराने के साथ ही गैंग के खिलाफ 21 एफआईआर दर्ज कर 9 आरोपितों को जेल भेजा गया है।

दूसरे नंबर पर आता है मुख्तार का नाम
पंजाब की रोपड़ जेल से यूपी के बांदा जेल लाए गए गाजीपुर के माफिया और मऊ जिले से बसपा विधायक मुख्तार अंसारी सरकार के माफियाओं की सूची में दूसरे नंबर पर हैं। मुख्तार के खिलाफ कार्रवाई के लिए सरकार हर रोज नए फरमान जारी कर रही है। मगर अफसर उसकी प्रॉपर्टी जब्त करने में पीछे रह गए। सरकार जिसे टॉप माफिया मान रही है, उस मुख्तार अंसारी के गैंग के 244 सदस्यों के खिलाफ ही गैंगेस्टर की कार्रवाई कर सकी है। इसके अलावा, 1 अरब 94 करोड़ 82 लाख 67 हजार 859 रुपए की ही चल-अचल संपत्ति का जब्तीकरण हुआ है। यह रकम अतीक अहमद के मुकाबले करीब डेढ़ करोड़ कम है। इस गैंग के सदस्यों के खिलाफ 102 केस दर्ज करके 158 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही, इस गैंग के 122 शस्त्र लाइसेंस निरस्त करवाए गए हैं।

नोएडा के माफिया सुंदर भाटी गैंग के भी कसे पेंच
सोनभद्र जेल में बंद गौतमबुद्ध नगर के माफिया सुंदर भाटी गिरोह के 9 सदस्यों की 63.24 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की गई है। इसके अलावा आजमगढ़ के माफिया बलिया जेल में बंद कुख्यात ध्रुव कुमार उर्फ कुंटू सिंह गिरोह के 43 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया। इस गिरोह की करीब 18 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त हुई है।

25 अन्य माफियाओं को 625 करोड़ की संपत्तियां हुई जब्त
ADG प्रशांत कुमार ने बताया कि डीजीपी हेडक्वार्टर से चिन्हित 25 माफिया व आठ कुख्यात अपराधियों के गिरोह के सदस्यों की भी काली कमाई से जुटाई गई 625 करोड़ रुपए से ज्यादा की संपत्ति जब्त व ध्वस्त कराई गई है। ADG का कहना है कि विभिन्न अपराधों में लिप्त 515 गैंग के सदस्यों व सहयोगियों के खिलाफ 203 एफआईआर दर्ज कराई गई हैं। हालांकि, ADG कानून व्यवस्था ने प्रदेश के 25 माफियाओं में से सिर्फ चार कुख्यात माफियाओं और उनके गुर्गों की संपत्ति जब्त का ही ब्यौरा जारी किया है। अन्य के नाम नहीं दिए हैं।

खबरें और भी हैं...