विवादों में UP विधानसभा अध्यक्ष:गांधी की तुलना राखी सावंत से करने पर हृदय नारायण दीक्षित को सपा-कांग्रेस ने घेरा, सफाई में बोले- मेरे भाषण का मतलब गलत निकाला गया

लखनऊ3 महीने पहले
यूपी विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने अपने बयान पर बढ़ते विवाद पर सफाई दी है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित विवादों में हैं। उन्होंने बीते शनिवार को उन्नाव में आयोजित भाजपा के प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में महात्मा गांधी की तुलना राखी सावंत से कर दी। मीडिया में उनका बयान सामने आने के बाद बापू बनाम राखी सावंत की चर्चा शुरू हो गई। सोमवार को हृदय नारायण दीक्षित ने अपने बयान पर सफाई दी। कहा, मंच संचालक ने मेरा परिचय प्रबुद्ध कहकर किया था। इसी को आगे बढ़ाते हुए मैंने गांधीजी और राखी सावंत का जिक्र किया, लेकिन गलत मतलब निकाला गया।

अब कांग्रेस के साथ ही समाजवादी पार्टी ने उन पर हमला किया है। कांग्रेस ने हृदय नारायण दीक्षित के बहाने भाजपा और आरएसएस को घेरा है। वहीं, सपा का कहना है कि विधानसभा अध्यक्ष का बयान इस बात को दर्शाता है कि उनकी पार्टी आज भी बापू के विचारों के खिलाफ है।

विधानसभा अध्यक्ष ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दी सफाई

विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर सफाई दी है। उन्होंने लिखा, "सोशल मीडिया पर कुछ मित्र मेरे भाषण के एक वीडियो अंश को अन्यथा अर्थों के संकेत के साथ प्रसारित कर रहे हैं। वास्तव में यह उन्नाव के प्रबुद्ध सम्मेलन में मेरे भाषण का अंश है। इसमें सम्मेलन संचालक ने मेरा परिचय देते हुए मुझे प्रबुद्ध लेखक बताया था। मैंने इसी बिंदु से बात आगे बढ़ाते हुए कहा कि कुछ पुस्तकों और लेखों के लिखने से ही कोई प्रबुद्ध नहीं हो जाता। महात्मा गांधी कम कपड़े पहनते थे। देश ने उन्हें 'बापू' कहा। लेकिन इसका अर्थ यह नहीं राखी सावंत भी गांधी जी हो जाएंगी। मेरे भाषण को वास्तविक संदर्भ में ही ग्रहण करें"।

कांग्रेस प्रवक्ता बोले- BJP और RSS की जहरीली सोच
कांग्रेस के प्रवक्ता अंशू अवस्थी ने विधानसभा अध्यक्ष पर हमला बोला है। उन्होंने कहा, 'एक बार फिर भाजपा ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को अपमानित करने का काम किया है। हृदय नारायण दीक्षित का महात्मा गांधी और राखी सावंत की तुलना करना और उसके बाद भारतीय जनता पार्टी की तरफ से कोई भी पश्चाताप की टिप्पणी ना यह दर्शाता है कि भाजपा और RSS गांधी जी के प्रति किस हद तक घृणा करते हैं। कभी प्रधानमंत्री के द्वारा मोहनलाल करमचंद गांधी बताना कभी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष द्वारा चतुर बनिया बनिया बताया जाना, उनकी भावना को दिखाता है।

गांधी इस देश की आत्मा हैं, RSS चाहे जितना जहर फैलाने की कोशिश कर ले वह कभी इस देश में शांति प्रेम और अहिंसा समाप्त नहीं कर सकते चाहे। चाहे वे जितनी भी सावरकर की पूजा कर लें लेकिन सावरकर इस देश के लिए कभी वीर नहीं हो सकते वह सिर्फ और सिर्फ माफी वीर ही रहेंगे'।

सपा ने कहा- भाजपा बापू के विचारों के खिलाफ

सपा प्रवक्ता सुनील सिंह साजन।
सपा प्रवक्ता सुनील सिंह साजन।

समाजवादी पार्टी प्रवक्ता और एमएलसी सुनील सिंह साजन ने कहा, 'उत्तर प्रदेश के विधानसभा अध्यक्ष का बयान बहुत निंदनीय है। एक तरफ वह महात्मा गांधीजी की बात कर रहे हैं, दूसरी तरफ भाजपा का जो असली चेहरा है वह सामने आ गया है। आप बेटियों को कपड़ों से परिभाषित कर अपमानित कर रहे हैं। विधानसभा अध्यक्ष का बयान इस बात को दर्शाता है कि उनकी पार्टी आज भी बापू के विचारों के खिलाफ है।

जिस तरह से विधानसभा अध्यक्ष ने अपने बयान में राखी सावंत का नाम लिया है, इससे साफ है कि वह देश की बेटियों का चरित्र कपड़ों से तय कर रहे हैं। यह सिर्फ राखी सावंत का अपमान नहीं है, बल्कि उन बेटियों का भी अपमान है जो देश के लिए ओलंपिक में पदक लेकर आई हैं और देश को गर्व की अनुभूति कराई है। जिस तरह की ओछी टिप्पणी विधानसभा अध्यक्ष ने की है, उसके लिए उन्हें पूरे देश की बेटियों से माफी मांगनी चाहिए'।

खबरें और भी हैं...