• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Lucknow
  • Ajai Kumar Lallu Coronavirus Latest Update । UP Congress President Ajai Kumar Lallu On CM Yogi Adityanath Over Condition Of Corona In Uttar Pradesh

कांग्रेस का योगी सरकार पर हमला:प्रदेश अध्यक्ष लल्लू ने कहा- CM योगी जारी करें अपना मोबाइल नंबर; पता चल जाएगा कोरोना से कितने भयावह हालात

लखनऊ7 महीने पहले
प्रेसवार्ता करते कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू।

कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश में कोरोना महामारी से बिगड़े हालात पर लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर योगी सरकार पर निशाना साधा। कहा कि न अस्पताल न बेड, न ऑक्सीजन न दवाई न वेंटिलेटर। लोग सड़कों पर मर रहे हैं। IAS अधिकारी की भी मौत इलाज के अभाव में हो गई। इसका कौन जिम्मेदार है? मुख्यमंत्री को मैं खुली चुनौती देता हूं कि वो अपना व्यक्तिगत नंबर जारी करें। स्थिति पूरी तरह स्पष्ट हो जाएगी कि यूपी के हालात कितने भयावह हैं। मुख्यमंत्री जी झूठ बोलना बंद करें। विपक्ष के साथ ही लोगों को धोखा देना बंद करें।

गांव-गांव फैल रही है महामारी किसी को नहीं मिल पा रहा इलाज
प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि गांव-गांव महामारी तेजी के साथ फैल चुकी है। कहीं भी RT-PCR जांच की कोई व्यवस्था नहीं है। एक-एक दिन की जांच रिपोर्ट 5-5 और 6-6 दिन में आ रही है। ऑक्सीजन पैदा करने वाला भारत पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन नहीं दे पा रहा है। रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाने वाले भारत के इंजेक्शन की दूसरे देशों में सप्लाई की जा रही है। RT-PCR की टेस्टिंग घटा दी गई है। क्यों घटाया है? कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग नहीं हो रही है ऐसा क्यों? अजय लल्लू ने कहा कि STF ने खुलासा किया है कि रेमडेसिविर इंजेक्शन दस गुने से अधिक दाम पर बिक रहे हैं। झांसी, कानपुर, मेरठ, गाजियाबाद, लखनऊ और गोरखपुर में एक-एक लाख में इंजेक्शन बिकने की खबर मीडिया ने प्रकाशित किया। मुख्यमंत्री जी आप किस कुम्भकर्णी नींद में सो रहे हैं?

भाजपा विधायकों ने पत्र लिखकर अव्यवस्था की खोली पोल

लल्लू ने कहा कि BJP के तीन विधायकों की मौत हो चुकी है। विधायकों ने डॉ. हर्षवर्धन और मुख्यमंत्री को खुद पत्र लिखकर यह कहा कि हमारे इलाज की व्यवस्था हो। उनके परिवार का आरोप है कि 5 कालीदास मार्ग पर अधिकारियों को फोन करते रहे, किसी ने जवाब नहीं दिया। मोहनलालगंज के सांसद के भाई की मौत हो गयी। सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट लगातार सरकार के तानाशाही रवैये पर तल्ख टिप्पणी कर चुकी है। फिर भी सरकार- मेरा कायदा, वरना कोई कायदा नहीं, पर अड़ी हुई है। आप कहते हैं कि विपक्ष राजनीति कर रहा है। पहली बार जब यह कोरोना आया था उस समय तो आपदा थी। इस आपदा में विशेषज्ञों के कहने के बाद भी आप द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की गई।

कोई भी अधिकारी फोन नहीं उठा रहा, लोग कहां मदद मांगे

प्रेसवार्ता में कांग्रेस विधान परिषद दल के नेता दीपक सिंह ने इस भयावह महामारी में योगी सरकार के झूठ की कलई खोलते हुए सीएमओ लखनऊ के सीयूजी फोन नंबर पर अपने फोन से मिलाया, जिसका कोई जवाब नहीं मिला। उन्होंने कहा कि सरकार में दो मंत्री, चार विधायक, सैंकड़ों की संख्या में पत्रकार, डॉक्टर, साहित्यकार, आईएएस, स्वास्थ्यकर्मी एवं पुलिसकर्मी सहित हजारों प्रदेशवासियों की कोरोना से दुखद मौत हो चुकी है। लाखों की संख्या में लोग आक्सीजन, बेड और दवाई के लिए तड़प रहे हैं।

खबरें और भी हैं...